×

गणतंत्र दिवस 2020: लखनऊ स्थित सरकारी पर सीएम योगी ने किया झंडारोहण

देश की सरहदों पर सुरक्षा के लिए तैनात टैंक डी-90 भीष्मा संग 105/37 एमएम लाईट फील्ड गन ने दर्शकों का जोश बढ़ा दिया। वहीं, नेटवर्क ऑपरेशन सेंटर, इंटिग्रेटेड कमांड एवं कंट्रोल मल्टी-परपज प्लेट फार्म, एकीकृत संचार वाहन ने सेना व इंटीलिजेंस की खूफिया ताकत का एहसास कराया।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 26 Jan 2020 4:48 AM GMT

गणतंत्र दिवस 2020: लखनऊ स्थित सरकारी पर सीएम योगी ने किया झंडारोहण
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: आज पूरा देश 26 जनवरी को 71वां गणतंत्र दिवस मना रहा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज अपने लखनऊ स्थित सरकारी आवास पर गणतंत्र दिवस के अवसर पर झंडारोहण कर अपने विचार व्यक्त किए। देश की सरहदों पर सुरक्षा के लिए तैनात टैंक डी-90 भीष्मा संग 105/37 एमएम लाईट फील्ड गन ने दर्शकों का जोश बढ़ा दिया। वहीं, नेटवर्क ऑपरेशन सेंटर, इंटिग्रेटेड कमांड एवं कंट्रोल मल्टी-परपज प्लेट फार्म, एकीकृत संचार वाहन ने सेना व इंटीलिजेंस की खूफिया ताकत का एहसास कराया।

परेड में नौ राजपूत रेजीमेंट, चार डोगरा रेजीमेंट, 16 जाट रेजीमेंट, केंद्रीय रिर्जव पुलिस बल व सशस्त्र सीमा बल सहित कुल 33 टुकडिय़ां शामिल रहीं। वहीं, विधानसभा के सामने बच्चों ने विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम कर प्रदेश की मिट्टी की सुगंध बिखेरी।

चारबाग स्थित बाल विद्या मंदिर से परेड शुरू हुई। सबसे आगे डी-90 भीष्मा टैंक चल रहा था, जिसकी अगुवाई चीन-पाकिस्तान युद्ध के मेजर वात्सल्य तिवारी कर रहे थे। टैंक के पीछे आईसीबी-बीएमपी-टू को लेकर सूबेदार बलिराम सिंह चल रहे थे। इसके बाद एमएम लाईट मशीन, लाईट मशीन गन व नेटवर्क ऑपरेशन सिस्टम साथ-साथ था।

ये भी देखें: साल 2020 में PM मोदी आज पहली बार करेंगे ‘मन की बात’

फिर, यूपी पुलिस, 35 पीएसी बटालियन, एटीएस कमांडो दस्ता, राजस्थान आम्र्स कांटेविलरी, यूपी होमगार्ड, एनसीसी, नागरिक सुरक्षा संगठन, सैनिक स्कूल व होमगार्ड सहित शहर के कई स्कूली बैंड देशभक्ति गीतों की धुन पर कदमताल करते आगे बढ़ रहे थे। सेना के जवान हो या स्कूली बच्चे। परेड में शामिल हर किसी का जज्बा देखते ही बन रहा था। परेड अपने निर्धारित मार्ग, चारबाग से हुसैनगंज, विधानसभा, हजरतगंज चौराहा होते हुए करीब दोपहर 12 बजे केडी सिंह स्टेडियम पहुंची।

देशभक्ति गीतों की धुन पर कदमताल करते सैन्य व स्कूली बच्चों की टुकड़ियां...। रोमांचित करती टैंकों की गड़गड़ाहट...। शौर्य और पराक्रम का आभास कराते सैन्य साजो सामान...। यह नजारा था शुक्रवार को गणतंत्र दिवस पर निकलने वाली परेड के फुलड्रेस पूर्वाभ्यास का, जो सुबह साढ़े नौ बजे चारबाग रेलवे आरक्षण केंद्र के सामने से शुरू होकर अपने तय मार्ग से होते हुए केडी सिंह बाबू स्टेडियम के छह नंबर गेट पर समाप्त हुई।

परेड में दुश्मन के छक्के छुड़ाने वाले 48 आर्मड रेजीमेंट के टी-90 भीष्मा टैंक, 67 फील्ड रेजीमेंट की आर्टिलरी-122 एमएम होवित्जर तोप, 38 फील्ड रेजीमेंट व 831 लाइट रेजीमेंट की 105 एमएम लाइट फील्डगन और 120 एमएम मोर्टार के साथ सैन्य उपयोग के संचार वाहन देश की सुरक्षा पूरी तरह महफूज होने का संदेश दे रही थी।

परेड की कमान संभाले मेजर वात्सल्य तिवारी की अगुवाई में सेना, अर्धसैन्य बल, पुलिस, पीएसी की टुकड़ियों संग स्कूली बच्चे बैंड की धुन पर कदमताल करती चल रही थी। परेड चारबाग से विकास द्वीप, हुसैनगंज चौराहा से बर्लिंग्नटन चौराहा होते हुए ठीक दस बजे विधान भवन के समक्ष बने मुख्य मंच के सामने से सलामी देकर जीपीओ चौराहा से साहू सिनेमा, मेफेयर तिराहा होकर हिंदी संस्थान के बगल से होकर एसबीआई मुख्यालय के समीप केडी सिंह बाबू स्टेडियम के छह नंबर गेट पर पहुंच कर समाप्त हुई।

ये भी देखें: गणतंत्र दिवसः ऋषिकेश के चंद्रेश्वर महादेव मंदिर में फूलों से बनाया तिरंगा, किया श्रृंगार

नृत्य संग आकर्षक ड्रिल ने मोहा

परेड में 16 जाट रेजीमेंट, आठ कुमांयू, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल, सशस्त्र सीमा बल, यूपी पुलिस, पीएसी बटालियन, यूपी होमगार्ड्स, एनसीसी व नागरिक सुरक्षा संगठन के स्वयं सेवियों की टोलियों के बाद यूपी सैनिक स्कूल, सेंट जोजफ इंटर कॉलेज राजाजीपुरम, सीएमएस कानपुर रोड, राजाजीपुरम, महानगर व गोमती नगर ब्वॉयज एंग्लो बंगाली इंटर कॉलेज व लखनऊ पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों के दलों ने आकर्षक ड्रिल प्रस्तुत की। परेड में शामिल स्कूली बच्चों की टोलियों ने मां तुझे सलाम, देश एक राग, स्वच्छ गंगा निर्मल गंगा के साथ ही पर्यावरण व महिला सशक्तीकरण विषय पर आकर्षक ड्रिल की प्रस्तुति कर सभी की तालियां बटोरी।

सलामी मंच पर हेलीकॉप्टर ने नहीं बरसे फूल

गणतंत्र दिवस परेड के फुलड्रेस पूर्वाभ्यास में पहली बार सलामी मंच पर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा न होने से दर्शकों को खासी हैरानी हुई। परेड संचालन की व्यवस्था से जुटे प्रभारी अधिकारी व सिटी मजिस्ट्रेट एसके सिंह ने बताया कि अपरिहार्य कारण से सेना के पूर्वाभ्यास में शामिल होने वाले हेलीकॉप्टर की उपलब्धता न होने के कारण अब 26 जनवरी को मुख्य आयोजन के दौरान सलामी मंच पर झंडा रोहण के समय हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा की जाएगी। पूर्वाभ्यास के दौरान सलामी मंच पर राज्यपाल की जगह राजस्व सेवा से जुड़ी एक वरिष्ठ महिला अधिकारी ने मौजूद रहकर परेड की सलामी ली।

ये भी देखें: गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर तिरंगी रोशनी से सजी राजधानी लखनऊ

परेड रूट पर नहीं दिखा ट्रैफिक पुलिस से तालमेल

राजधानी में पुलिस कमिश्नरी व्यवस्था लागू होने के बाद पहली बार आयोजित हो रहे गणतंत्र दिवस समारोह के अंतिम पूर्वाभ्यास के दौरान परेड मार्ग में ट्रैफिक पुलिस और प्रशासन के बीच तालमेल का अभाव दिखा। प्रतिबंध के बाद भी परेड मार्ग पर वाहनों का आवागमन जारी रहा। मौके पर मौजूद प्रशासनिक अधिकारियों ने जब इस पर एतराज जताया तो पुलिस अफसरों ने ट्रैफिक पुलिस के कार्य में हस्तक्षेप न करने तक की नसीहत दे डाली।

इसकी जानकारी के बाद जिलाधिकारी की तरफ से पुलिस आयुक्त को एक पत्र भेजकर पूरे मामले की जानकारी देने के साथ ही परेड दिवस पर ट्रैफिक पुलिस के इंतजाम चुस्त दुरुस्त कराने को कहा है। साथ ही नगर आयुक्त को भी पत्र भेजकर परेड रूट के कुछ हिस्से में रोड डिवाइडरों की साफ-सफाई न होने व परेड की टोलियों के बीच आवारा जानवरों के घुस आने के मामले को गंभीर मानते हुए प्राथमिकता पर सभी खामियां दूर कराने को कहा गया।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story