Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

अजीत हत्या कांड: बाहुबली धनंजय सिंह पर 25 हजार का इनाम, संपत्तियां होंगी जब्त

पूर्व सांसद बीते 6 जनवरी 21 की रात में लखनऊ के थाना विभूति खण्ड स्थित कठौता चौराहे पर हुए गैंगवार में मऊ मुहम्मदाबाद गोहाना के पूर्व उप ज्येष्ठ प्रमुख अजीत सिंह की हत्या में वांक्षित बताये जा रहे हैं।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumarBy Dharmendra kumar

Published on 4 March 2021 1:26 PM GMT

अजीत हत्या कांड: बाहुबली धनंजय सिंह पर 25 हजार का इनाम, संपत्तियां होंगी जब्त
X
बाहुबली नेता एवं पूर्व सांसद धनंजय सिंह की गिरफ्तारी के लिए उनके उपर लखनऊ पुलिस ने 25 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

जौनपुर: बाहुबली नेता एवं पूर्व सांसद धनंजय सिंह की गिरफ्तारी के लिए उनके उपर लखनऊ पुलिस ने 25 हजार रुपए का इनाम घोषित कर दिया है। धनंजय अजीत सिंह हत्‍याकांड में वांटेड हैं। पुलिस उनकी तलाश कर रही है, लेकिन वह लगातार फरार चल रहे हैं। पूर्व सांसद धनन्जय सिंह के उपर लखनऊ पुलिस द्वारा इनाम घोषित होने की खबर वायरल होते ही जनपद जौनपुर में भी गली चट्टी चौराहे पर चर्चा शुरू हो गयी है। हलांकि उनके पिता ने लखनऊ पुलिस पर आरोप लगाया है किपूर्व सांसद धनन्जय सिंह को गलत तरीके से फंसाया जा रहा है।

बीते 3 मार्च 21को पुलिस ने धनन्जय सिंह के चार ठिकानों पर छापा मारा, लेकिन उनका कोई सुराग हाथ नहीं लगा। पूर्व सांसद बीते 6 जनवरी 21 की रात में लखनऊ के थाना विभूति खण्ड स्थित कठौता चौराहे पर हुए गैंगवार में मऊ मुहम्मदाबाद गोहाना के पूर्व उप ज्येष्ठ प्रमुख अजीत सिंह की हत्या में वांक्षित बताये जा रहे हैं। पुलिस के पास उनके खिलाफ गैर जमानती वारंट भी है। यह वारंट जारी होने के बाद से ही वह फरार चल रहे हैं।

धनंजय के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट लेने के बाद पुलिस कई दिन से शांत बैठी हुई थी, लेकिन अचानक एसीपी विभूति खण्ड लखनऊ के नेतृत्व में 3 मार्च की रात से धनन्जय सिंह की तलाश में उसके कुर्सी रोड स्थित आवास, शारदा व स्वास्तिक सिटी अहियामऊ अपार्टमेंट सहित सुसांत गोल्फ सिटी और उसके बेहद करीबी साथी के मालवीय नगर स्थित आवास पर ताबड़तोड़ दबिश दी गई।

ये भी पढ़ें...जौनपुर: प्रो निर्मला एस मौर्य ने कहा- वेदनाओं की अभिव्यक्ति भी है कविता

धनंजय का पता नहीं चला

पुलिस ने एक बर्खास्त सिपाही के घर भी दबिश दी, लेकिन धनंजय का पता नहीं चला। इस दौरान दो ठिकानों से तीन लोगों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया था। इन तीनों को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया। पुलिस को अजीत सिंह हत्‍याकांड में अन्‍य तीन शूटरों रवि यादव, राजेश तोमर, शिवेंद्र सिंह उर्फ अंकुर की भी तलाश है। वहीं खबर है कि एक शूटर मुस्तफा उर्फ बंटी को बागपत पुलिस ने कुछ दिन पहले उत्तराखंड से पकड़ लिया था। पर, उसकी गिरफ्तारी की पुष्टि बागपत पुलिस ने अभी तक नहीं की है।

इस बीच पुलिस को खबर मिली कि धनंजय सिंह दिल्‍ली के एक वकील के संपर्क में है। इस सूचना पर पुलिस की एक टीम ने दिल्ली में भी दो स्‍थानों पर दबिश दी लेकिन पूर्व सांसद हाथ नहीं लगे।

ये भी पढ़ें...वाराणसी: पुलिस की रडार पर मुख्तार अंसारी का गुर्गा, जमीन पर कब्जा करने का आरोप

गिरधारी को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया

बता दें कि घटना के बाद अजीत के साथ मौजूद मोहर सिंह ने थाना विभूति खण्ड स्थित गोमती नगर में मु.अ.सं. 15/21 से धारा 302, 307, 201, 212, 176, 120बी, एवं 34 आईपीसी के तहत एफआईआर करायी थी कि आजमगढ़ जेल में बंद कुंटू सिंह और अखण्ड सिंह ने गिरधारी के जरिये हत्या करवायी गयी है। गिरधारी ने पांच शूटरों के साथ अजीत की हत्या की थी। गिरधारी को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है।

इसके बाद ही पुलिस ने सांसद धनंजय सिंह को गिरधारी के बयान के आधार पर हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोपी बनाया था। इसके साथ ही धनंजय पर एक घायल शूटर राजेश तोमर का लखनऊ और सुलतानपुर में इलाज कराने में मदद करने का भी आरोप है। पुलिस ने धनन्जय सिंह की गिरफ्तारी के लिए 25 हजार रुपये का इनाम घोषित करने के बाद अब उनकी लखनऊ, जौनपुर, सुल्तानपुर की सम्पत्तियों को चिन्हित करने में जुटी हुई हैं। संभावना है कि गिरफ्तारी न होने पर पुलिस बड़ी कार्रवाई कर सकती है ऐसा संकेत मिल रहा है।

ये भी पढ़ें...SHO की दरियादिली: गरीब बच्चों के लिए थाने में खोल दी लाइब्रेरी

धनंजय सिंह की संपत्तियां होगी जब्त

डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन ने बताया कि आरोपित ने अवैध ढंग से करोड़ों की संपत्तियां बनाई हैं। डीसीपी की तरफ से जारी सूची में संपत्तियों का जिक्र भी है। डीसीपी के मुताबिक राजधानी लखनऊ के अलग अलग स्थानों पर छह फ्लैट व मकान, दो फार्म हाउस, गोमतीनगर में लैब, कई अवैध कंपनी, दिल्ली, जौनपुर, वाराणसी, मऊ, फतेहगढ़ व बाराबंकी में कई संपत्तियों की बात कही है।

इसके साथ ही पेट्रोल पंप, लखनऊ में कई स्टैंड, झारखंड में फार्म हाउस और कई स्थानों पर ईंट भट्ठे होने की भी बात कही गई है। पुलिस ने प्रवर्तन निदेशालय और आयकर विभाग को पत्र लिखा है। पुलिस ने बताया कि धनंजय और उनके परिवार का आय का मुख्य श्रोत न होने के बावजूद अपराधिक कृत्यों से संपत्ति बनाई गई है, जिसे जब्त किया जाएगा और आगे की कार्रवाई की जाएगी।

रिपोर्ट: कपिल देव मौर्य

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Dharmendra kumar

Dharmendra kumar

Next Story