×

डग्गामार बसों का संचालन रोकने की मांग कर रहे कर्मचारी, कमिश्नर से की मुलाकात

संघ के मेरठ शाखा के जिला मंत्री राजीव त्यागी द्वारा कमिश्नर सुरेंद्र सिंह को दिए गए ज्ञापन के अनुसार रोडवेज बसों के संचालन से हर महीने परिवहन विभाग को हो रहे करोड़ों रुपए के नुकसान हो रहा है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 17 March 2021 10:50 AM GMT

डग्गामार बसों का संचालन रोकने की मांग कर रहे कर्मचारी, कमिश्नर से की मुलाकात
X
मेरठः डग्गामार बसों का संचालन रोकने की मांग को को लेकर कमिश्नर से मिले रोडवेज कर्मचारी (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ: भारतीय मजदूर संघ, मेरठ शाखा ने मेरठ में सरकारी बसों के समान्तर चल रहे बसों के अवैध संचालन पर रोक लगवाने की मांग की है। इस मांग को लेकर आज संघ के मेरठ शाखा के जिला मंत्री राजीव त्यागी की अगुवाई में रोडवेज कर्मचारियों के प्रतिनिधिमंडल ने कमिश्नर सुरेंद्र सिंह को ज्ञापन देकर अवैध बसों के संचालन पर रोक लगवाने की मांग की साथ ही बस अड्डे पर पनप रही वेश्यावृत्ति से भी अवगत कराया और इस पर भी अंकुश लगवाने की मांग की।

ये भी पढ़ें:असम में योगी की ललकार: कहा- राम बिना भारत नहीं, जय श्रीराम से गूंजा कामाख्या

करोड़ों रुपए के नुकसान हो रहा है

संघ के मेरठ शाखा के जिला मंत्री राजीव त्यागी द्वारा कमिश्नर सुरेंद्र सिंह को दिए गए ज्ञापन के अनुसार रोडवेज बसों के संचालन से हर महीने परिवहन विभाग को हो रहे करोड़ों रुपए के नुकसान हो रहा है। ज्ञापन के अनुसार मेरठ मंडल के राष्ट्रीयकृत मार्गो जैसे मेरठ-कौंशाबी, मेरठ-मुरादाबाद, मेरठ-बिजनौर, मेरठ-शामली आदि मार्गो पर अवैध बसों का संचालन किया जा रहा है,जिससे उसमें यात्रा करने वाले यात्रियों के जान-माल की सुरक्षा के तो खतरा होता ही है साथ ही इनसे परिवहन निगम के साथ-साथ उत्तर प्रदेश सरकार को भी राजस्व की हानि हो रही है।

प्रतिनिधि मंडल दल में शामिल रोडवेज कर्मचारी संघ के मंत्री भारत भूषण ने कहा कि निजी बसों के चालक रोडवेज बस अड्डे के सामने सही अवैधानिक तरीके से यात्रियों को बैठा कर ले जाते हैं। मेरठ से सभी मार्गो पर डग्गामार बसों का संचालन हो रहा है जिससे रोडवेज विभाग को हर महीने करोड़ों रुपए का नुकसान राजस्व का हो रहा है।

बकौल राजीव त्यागी,बस अड्डे के सामने प्राइवेट वाहन सवारियां ढो रही हैं

मजदूर नेता राजीव त्यागी के अनुसार रोडवेज को कमजोर करने में सबसे बड़ी भूमिका डग्गामार बसों की है,जो कि मेरठ समेत पूरे प्रदेश में संचालित हो रही है। लेकिन,पुलिस और प्रशासन के साथ ही परिवहन विभाग सब कुछ जानते हुए भी आंखे मूंद कर बैठा है।

ये भी पढ़ें:मेरठ में प्रदर्शन: व्यापारियों ने टैक्स को लेकर नगर निगम पर किया विरोध, उठाई ये मांग

बकौल राजीव त्यागी,बस अड्डे के सामने प्राइवेट वाहन सवारियां ढो रही हैं

बकौल राजीव त्यागी,बस अड्डे के सामने प्राइवेट वाहन सवारियां ढो रही हैं। स्लीपर और एसी बसें अवैध रूप से कानपुर, लखनऊ, प्रयागराज, दिल्ली, मुंबई रूटों पर चल रही हैं। आरोप लगाया कि वैधानिक परमिट न होने के बाद भी आरटीओ के संरक्षण में इन बसों का संचालन हो रहा है। इससे निगम की आय गिर रही है।

रिपोर्ट- सुशील कुमार

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story