Top

रेलवे के GM से मिलने जा रहे कांग्रेसियों पर RPF सिपाही ने भांजी लाठियां

सुबह क़रीब 9 बजकर 10 मिनट पर उत्तर रेलवे महाप्रबंधक (जीएम) टीपी सिंह दिल्ली से स्पेशल ट्रेन से सुल्तानपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे। उनके साथ लखनऊ के सीनियर डीआरएम और बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद थे। जीएम विभागाध्यक्षों के साथ सबसे पहले वाशिंग लाइन का निरीक्षण किया।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 3 Dec 2019 11:16 AM GMT

रेलवे के GM से मिलने जा रहे कांग्रेसियों पर RPF सिपाही ने भांजी लाठियां
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

सुल्तानपुर: उत्तर रेलवे महाप्रबंधक (जीएम) टीपी सिंह मंगलवार सुबह सुल्तानपुर रेलवे जंक्शन के इन्पेक्शन पर पहुंचे। व्यवस्थाओं का निरीक्षण कर जीएम वापस हुए तो कांग्रेसियों ने उनसे मिलना चाहा लेकिन रेल प्रशासन आड़े आ गया। इस पर कांग्रेसियों ने नारेबाजी शुरू कर दी, फिर क्या था आरपीएफ और जीआरपी ने मोर्चा संभाल लिया।

इस बीच प्लेटफार्म नंबर 3 पर आरपीएफ के सिपाही ने जिला पंचायत सदस्य तेज बहादुर पाठक को गालियां दे दी जिस पर कांग्रेसी उग्र हो गए। कांग्रेसियों का आक्रोश बढ़ता देख आरपीएफ और जीआरपी ने उन्हें धक्का दिया और फिर लाठियां भी भांजी।

सीनियर डीआरएम और बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद थे

ये भी देखें : सरकार का लड़कियों को बड़ा तोहफा, गणतंत्र दिवस पर फ्री में देगी स्मार्टफोन

मंगलवार सुबह क़रीब 9 बजकर 10 मिनट पर उत्तर रेलवे महाप्रबंधक (जीएम) टीपी सिंह दिल्ली से स्पेशल ट्रेन से सुल्तानपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे। उनके साथ लखनऊ के सीनियर डीआरएम और बड़ी संख्या में अधिकारी मौजूद थे। जीएम विभागाध्यक्षों के साथ सबसे पहले वाशिंग लाइन का निरीक्षण किया। यात्री गाड़ियों के फिटनेस और परिचालन के बारे में जायजा लिया। इसके बाद रेलवे अस्पताल और फिर कर्मचारियों के वेटिंग रूम आदि का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के बाद जीएम ने प्लेट फार्म नंबर 1 पर नार्दन रेलवे मेन्स यूनियन, मजदूर यूनियन, बीजेपी नेताओं और सांसद प्रतिनिधि से एक एक कर मुलाक़ात किया। यही पर आम आदमी की समस्याओं को लेकर कांग्रेसियों का जत्था भी जिलाध्यक्ष अभिषेक सिंह राणा के नेतृत्व में खड़ा होकर नारे बाजी कर रहा था। रेलवे और जीआरपी व आरपीएफ के अधिकारियों ने अपनी खोल जाने के डर से जीएम की मुलाक़ात कांग्रेसियों से नही होने दिया। फिर क्या था जीएम के मुंह फेर कर लौटने पर कांग्रेसी उग्र हो गए और तेज आवाज में नारेबाजी करते हुए उनके पीछे दौड़ पर।

ये भी देखें : पीएम मोदी का ऐसा ‘भक्त’! कूद गया राजनाथ के काफिले में, फिर जो हुआ…

प्लेटफार्म नंबर 1 की सीढ़ीयों पर ही आरपीएफ और जीआरपी के कर्मियों ने उन्हें रोक लिया। इस पर कांग्रेसियों का आक्रोश और बढ़ गया, कांग्रेसी पुलिस कर्मियों के विरुद्ध ही नारेबाजी शुरू कर दिए। इस पर आरपीएफ और जीआरपी ने धक्का देकर भगाना चाहा लेकिन कांग्रेसी पीछे नही हटे। बात बिगड़ते देख जिलाध्यक्ष अभिषेक सिंह को जीएम से मिलने की अनुमति मिली।

इस पर अन्य कांग्रेसी प्लेटफार्म नंबर 3 पर पहुंचे और यहां की सीढ़ीयों से जाने की कोशिश करने लगे। जिस पर आरपीएफ के सिपाही बृजेश ने कांग्रेसी नेता एवं जिला पंचायत सदस्य तेज बहादुर पाठक को गालियां दे दी। बस इस बात पर कांग्रेसी आपे से बाहर हो गए। इसके बाद कांग्रेसी और आरपीएफ व जीआरपी कर्मियों से जमकर नोक झोंक हुई। अंत में आरपीएफ ने कांग्रेसियों पर लाठियां भी बरसाई।

ये भी देखें : दिल छू जाने वाली घटना! अबु धाबी के क्राउन प्रिंस के साथ हुआ ऐसा कि….

आरपीएफ इंचार्ज राजेश खसाना ने घटना पर माफी मांगी

इस मामले पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष अभिषेक सिंह राणा ने कहा के ये निंदनीय घटना है। जीएम रेलवे सच्चाई से अवगत नही होना चाहते वो केवल भाजपाइयों से गुलदस्ता लेकर चले गए। यहां टिकट ब्लैक हो रहा यात्रियों को सुविधाए नही मिल रही। उन्होंने कहा के आरपीएफ इंचार्ज राजेश खसाना ने घटना पर माफी मांगी है लेकिन हम आगे तक जाएंगे।

वहीं इस मामले पर जब सुल्तानपुर रेलवे स्टेशन के आरपीएफ इंचार्ज राजेश खसाना से बात की गई तो उन्होंने रटे रटाए अंदाज में कहा की मैं जीएम साहब की ड्यूटी में था। यहां ऐसा कुछ हुआ नही और न ही मामला मेरे संज्ञान में है।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story