×

सपा सांसद बोलें खोल दो मस्जिदें दरगाहें, नहीं होगा नुकसान, बरसेगी रहमत

सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि सभी मुसलमानों से नमाज पढ़वाइ जाए, तभी यह मुल्क बचेगा। साथ ही उन्होंने बकरीद के मौके पर ईदगाह और मस्जिदें खोलेने की वकालत की है।

Shreya
Updated on: 21 July 2020 11:45 AM GMT
सपा सांसद बोलें खोल दो मस्जिदें दरगाहें, नहीं होगा नुकसान, बरसेगी रहमत
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

संभल: अपने बयानों को लेकर अक्सर चर्चा में बने रहने वाले सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का कहना है कि सभी मुसलमानों से नमाज पढ़वाइ जाए, तभी यह मुल्क बचेगा। साथ ही उन्होंने बकरीद के मौके पर ईदगाह और मस्जिदें खोलेने की वकालत की है और कुर्बानी के लिए पशु बाजार दोबारा लगवाने की भी मांग की है।

बकरीद पर की पशु बाजार लगवाने की मांग

संभल से सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने जिलाधिकारी से मुलाकात कर बकरीद के मौके पर कुर्बानी के लिए पहले की तरह पशु बाजार लगवाने की मांग की है, ताकि मुस्लिम समुदाय के लोग जानवर खरीद कर सकें।

यह भी पढ़ें: चौंका देगा ये सचः रूस ने अप्रैल में ही बना ली वैक्सीन, अरबपतियों को मिला डोज

पांच लोगों की जमात से ही नमाज थोड़े हो जाएगी

सपा सांसद ने कहा कि बकरीद के मौके पर पढ़ी जाने वाली नमाज में अल्लाह का शुक्रिया अदा किया जाता है। इसलिए उन्होंने बकरीद पर ईदगाह और मस्जिदें खोलने की मांग की है। शफीकुर्रहमान बर्क ने कहा कि मस्जिद में पांच लोगों की जमात से ही नमाज थोड़े ही हो जाएगी। जब सभी मुसलमान नमाज पढ़ेंगे तभी यह मुल्क बचेगा।

यह भी पढ़ें: भाग रहा कोरोना: दिल्ली का रिकवरी रेट बढ़ा, लोगों को मिल रही राहत

हमारी भीड़ से नुकसान नहीं बल्कि अल्लाह की रहमत होगी

उन्होंने कहा कि हमें यकीन है कि जब ज्यादा से ज्यादा मुसलमान अल्लाह के दरबार में जाएंगे और मुल्क की भलाई की दुआ करेंगे तो अल्लाह हमारी जरूर सुनेंगे। ईद के अवसर पर मुसलमान गिड़गिड़ाकर अल्लाह से गुनाहों की माफी मांगेंगे। उन्होंने आगे कहा कि हमें उम्मीद है हमारी भीड़ से नुकसान नहीं बल्कि अल्लाह की रहमत होगी।

यह भी पढ़ें: चीन का बुरा हाल: मोदी सरकार के इस फैसले से बढ़ेगी मुसीबत, अब क्या करेगा ड्रैगन!

सरकारी ने जारी नहीं किया है दिशा-निर्देश

बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से हर साल की तरह इस बार बकरीद के लिए जानवरों की मंडियां नहीं लग पा रही हैं। हालांकि, सरकार की तरफ से बकरीद की नमाज को लेकर अब तक कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किया गया है। लेकिन माना जा रहा है कि एक अगस्त को पड़ने वाली बकरीद पर भी ईद की ही तरह नमाज मस्जिद में पांच लोगों की जमात से ही होगी। बाकी लोग अपने-अपने घरों में नमाज अदा करेंगे।

यह भी पढ़ें: मचाया हुड़दंगः सेना के रिटायर्ड जवान की पिटाई, तमाशा देखती रही पुलिस

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story