Top

दो से अधिक बच्चों वालों को न लड़ने दिया जाए चुनाव: संजीव बालियान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में केंद्रीय मंत्री ने लिखा है कि हमारे प्रदेश के लिए बढ़ती हुई जनसंख्या एक गम्भीर समस्या है, जिसके कारण प्रदेशवासियों को प्रदेश की लाभकारी नीतियों, योजनाओं एवं संसाधनों का उपयुक्त लाभ नहीं मिला पाता है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 12 July 2020 7:43 AM GMT

दो से अधिक बच्चों वालों को न लड़ने दिया जाए चुनाव: संजीव बालियान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। केंद्रीय पशुधन राज्य मंत्री संजीव बालियान ने विश्व जनसंख्या दिवस पर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिख कर सलाह दी है कि आगामी पंचायत चुनाव में जिनके भी दो से अधिक बच्चे है, उन्हे चुनाव लड़ने का अधिकार नहीं दिया जाए।

यूपीः कोरोना से निपटने के लिए सरकार का प्लान, हर हफ्ते लगेगा वीकेंड लॉकडाउन

बढ़ती हुई जनसंख्या एक गम्भीर समस्या

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे पत्र में केंद्रीय मंत्री ने लिखा है कि हमारे प्रदेश के लिए बढ़ती हुई जनसंख्या एक गम्भीर समस्या है, जिसके कारण प्रदेशवासियों को प्रदेश की लाभकारी नीतियों, योजनाओं एवं संसाधनों का उपयुक्त लाभ नहीं मिला पाता है। आज इस बात की नितान्त आवश्यकता है कि हम प्रदेशवासियों को जनसंख्या नियंत्रण हेतु जागरूक करें एवं उन्हे प्रोत्साहित करे।

हमारे प्रदेश को जनसंख्या नियंत्रण अभियान का आरम्भ करना चाहिए। जिसको हम आगामी पंचायत चुनाव से लागू कर सकते हैं। आगामी पंचायत चुनाव में उत्तराखंड की तरह दो से अधिक बच्चे होने की स्थिति में किसी को भी चुनाव लड़ने का अधिकार ना मिले। मेरा आग्रह है कि विश्व जनसंख्या दिवस के अवसर पर हमारा प्रदेश आपके नेतृत्व में जनसंख्या नियंत्रण अभियान का आरंभ करने पर विचार करें।

बड़ा विमान हादसा: 176 लोगों की हुई थी दर्दनाक मौत, सामने आया पूरा सच

कोई नारा नहीं लगा पाएगा

अपने विवादित बयानों के कारण अक्सर चर्चा में रहने वाले केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने सीएए के विरोध में चल रहे आंदोलन के दौरान कहा था कि मैं राजनाथ जी (केंद्रीय रक्षा मंत्री) से निवेदन करूंगा, जो जेएनयू (जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय) और जामिया (मिल्लिया इस्लामिया विश्वविद्यालय) में देश के विरोध में नारे लगाते हैं, इनका इलाज एक ही है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश का वहां 10 फीसदी आरक्षण करवा दो, सबका इलाज कर देंगे, किसी की जरूरत नहीं पड़ने की। कोई नारा नहीं लगा पाएगा।

देश के खिलाफ नारा लगाने की फिर किसी की हिम्मत नहीं होगी।ये पश्चिमी उत्तर प्रदेश की भूमि है। इसके अलावा उन्होंने सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को भी संाप्रदायिक करार देते हुए उनके खिलाफ विवादित टिप्पणी की थी।

रिपोर्ट- मनीष श्रीवास्तव, लखनऊ

UP होगा बंद: अब हर हफ्ते रहेंगे घरों में कैद, योगी सरकार का सख्त नियम

Newstrack

Newstrack

Next Story