सावन में ‘अभेद्य’ होगी काशी की सुरक्षा, मुख्य सचिव और डीजीपी ने लिया जायजा

शिव की नगरी काशी में सावन में अभेद्य सुरक्षा की तैयारी की जा रही है। थल, जल और नभ से निगरानी की जाएगी। इसके लिए खासतौर से हेलिकॉप्टर मंगाए गए हैं। सूबे के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय और डीजीपी ओपी सिंह सीधी निगरानी रखे हुए हैं।

वाराणसी: शिव की नगरी काशी में सावन में अभेद्य सुरक्षा की तैयारी की जा रही है। थल, जल और नभ से निगरानी की जाएगी। इसके लिए खासतौर से हेलिकॉप्टर मंगाए गए हैं। सूबे के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय और डीजीपी ओपी सिंह सीधी निगरानी रखे हुए हैं। इसी के तहत दोनों आलाधिकारियों ने शुक्रवार को वाराणसी सहित 4 मंडलों की तैयारियों की समीक्षा बैठक की। इस दौरान अधिकारियों ने सावन में कांवरियों को मिलने वाली सुविधा और सड़कों के डायवर्जन के साथ उनकी स्थिति के बारे में अधिकारियों के साथ बैठक कर 15 जुलाई तक हर हाल में पूरी तरह दुरुस्त करने का निर्देश दिया।

यह भी पढ़ें…यूपी: चीनी मिल घोटाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने दर्ज किया केस

कुंभ के तर्ज पर होगी कांवड़ियों को मिलेगी सुविधा

वाराणसी के कमिश्नर सभागार में आजमगढ़, मिर्जापुर, प्रयागराज और वाराणसी मंडल के सभी अधिकारियों के साथ मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडे और डीजीपी ओपी सिंह ने सावन महीने की तैयारियों को लेकर बैठक की। कुंभ की तर्ज पर कांवरियों को सावन में सुगम दर्शन कराने के लिए पूरी व्यवस्था की जा रही है। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि इस बार हम लोगों ने कुंभ की तरह कावड़ यात्रा लेकर आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था देने का निर्णय लिया है। डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि इस बार सभी विभागों को एक साथ जुड़कर कार्य किया जाएगा। इसके तहत सावन मास में एक कंट्रोल रूम बनाया जाएगा जिसमें सभी अधिकारियों अपने अपने विभाग के लोगों के साथ मौजूद रहेंगे। ताकि विभागों में समन्वय बना रहे। कांवरियों की सुरक्षा के लिए एटीएस , पैरामलेट्री फोर्स, एयर सर्विलांस हेलीकॉप्टर से निगरानी करेगी।

यह भी पढ़ें…CWC 2019: शास्त्री और कोहली को इन सवालों का देना होगा जवाब, तैयार बैठा है CoA

बनारस की टूटी सड़कों पर मुख्य सचिव नाराज

इस दौरान वारणसी की टूटी सड़कों को लेकर मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने नगर निगम और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को फटकार लगाई। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि हर हाल में 15 जुलाई के पहले शहर की सड़कें ठीक करा ली जाएं ताकि कांवड़ियों को किसी तरह की दिक्कत ना हो। मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडे ने कहा कि इस बार करीब तीन करोड़ कांवरियों के आने की संभावना है।