एसजीपीजीआई के निदेशक का कार्यकाल तीन माह बढ़ा

ज्ञातव्य है कि संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ के निदेशक प्रो0 राकेश कपूर का कार्यकाल 19 नवम्बर को समाप्त हो रहा था। राजधानी स्थित संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में यूरोलॉजी विभाग के प्रमुख प्रो. राकेश कपूर ने 20 नवम्बर 2014 को निदेशक पद की जिम्मेदारी ली थी ।

लखनऊः  उत्तर प्रदेश की राज्यपाल एवं कुलाध्यक्ष संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ के निदेशक प्रो0 राकेश कपूर का कार्यकाल 03 माह की अवधि अथवा नये निदेशक की नियुक्ति होने अथवा अग्रिम आदेशों, जो भी पहले हो, तक बढ़ा दिया है।

ये भी देखें : इलाहबाद हाईकोर्ट की आज की बड़ी ख़बरें

ज्ञातव्य है कि संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान, लखनऊ के निदेशक प्रो0 राकेश कपूर का कार्यकाल 19 नवम्बर को समाप्त हो रहा था। राजधानी स्थित संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (एसजीपीजीआई) में यूरोलॉजी विभाग के प्रमुख प्रो. राकेश कपूर ने 20 नवम्बर 2014 को निदेशक पद की जिम्मेदारी ली थी ।

इस दौरान उन्होंने कई ऐसे काम किये जो उल्लेखनीय रहे। उन्होंने इमरजेंसी बेड, मेडिसिन, मरीज का हित और ओपीडी ब्लॉक को प्राथमिकताओं में रखकर मरीजों की बेहतरी के लिए कई काम किये। एसजीपीजीआई का नाम देश में मशहूर हैं।

ये भी देखें : ये क्या! ICC टी-20 रैंकिंग में इस मुस्लिम देश ने मारी बाजी, भारत ने किया शर्मसार

इसी कारण यहां आने वाले लोगों को उम्मीदें भी ज्यादा रहती हैं। राकेश कपूर ने ही यहाँ रोटेशन प्रणाली लागू करवाई थी इसके के लागू होने से कोई भी कर्मचारी एक स्थान पर तीन सालों से अधिक नहीं रह पाता जिसके कारण अन्य लोगों को भी मौका मिला।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App