जब आर्मी की वर्दी और बंदूकें बन गयी इनकी जान की दुश्मन

आर्मी की वर्दी पहनकर नकदी बंदूकें और बम की जगह पटाखे लेकर 11 युवक 15 अगस्त को लेकर एक वीडियो बना रहे थे। लेकिन अचानक गांव वालों को लगा कि गांव मे बदमाश आ गए है। उनके पास असलाह भी है। फिर क्या था गांव की भीड़ लाठी-डंडे लेकर पहुच गई युवकों के पास और जमकर पिटाई कर दी।

शाहजहांपुर: आर्मी की वर्दी पहनकर नकदी बंदूकें और बम की जगह पटाखे लेकर 11 युवक 15 अगस्त को लेकर एक वीडियो बना रहे थे। लेकिन अचानक गांव वालों को लगा कि गांव मे बदमाश आ गए है। उनके पास असलाह भी है। फिर क्या था गांव की भीड़ लाठी-डंडे लेकर पहुच गई युवकों के पास और जमकर पिटाई कर दी।

गांव वालों ने पुलिस को सूचना दी कि गांव मे बदमाशों को पकड़ा है। ये सुनकर भारी पुलिस भी गांव पहुच गया और युवकों को पकड़कर थाने लाई। लेकिन पूछताछ मे जो कुछ सामने आया तो उसे आप सुनकर हैरान भी होंगे और हसेंगे भी।

ये भी देंखे:बीजेपी की छीछालेदर करने में जुटे हैं ये माननीय, किया कुछ ऐसा…

घटना फरीदापुर गांव का है

वाक्य है थाना सेहरामऊ दक्षिणी क्षेत्र के फरीदापुर गांव का। यहां एक नवनिर्मित पुल के पास 11 युवक आर्मी की वर्दी मे पहुचे। इनके पास नकली बंदूकें थी जो बिल्कुल असली लग रही थी। हाथों मे बम थे वह भी असली लग रहे थे। चेहरा काले रंग से लाईनै खींच रखी थी। जिससे युवक काफी खतरनाक लग रहे थे। लेकिन ये बदमाश नही बल्कि एक यू ट्यूब चैनल के लिए वीडियो बनाने के लिए पहुचे थे। लेकिन तभी विवाद खड़ा हो गया। क्योंकि गांव मे कुछ दिन पहले दो घरों से लाखों की चोरी हो गई थी।

ये भी देंखे:देश की जानी मानी वकील इंदिरा जयसिंह और आनंद ग्रोवर के ठिकानों पर #CBI का छापा

उसके बाद गांव मे दहशत का माहौल था। इसी बीच जब असलाह के साथ गांव वालों की नजर इन युवकों पर पङी तो वह डर गए और धीरे धीरे पूरा गांव लाठी-डंडे लेकर इकट्ठा हो गया और उन्होंने इन युवकों पर हमला कर दिया। काफी पीटने के बाद सभी 11 युवकों को बंधक बना लिया और पुलिस को सूचना कर दी। बदमाशों के पकङे जाने की सूचना पर पुलिस मे हङकंप मच गया। मौके पर भारी पुलिस पहुचा और नकली बंदूकें, पटाखे और उनके साथ दूसरा सामान कब्जे मे लेकर सभी को थाने ले आई। उसके बाद पूछताछ मे हैरान कर देने वाला मामला सामने आया।

ये भी देंखे:दिल्ली की कानून व्यवस्था सवालों के घेरे में, द्वारका में दिन दहाड़े महिला को गोली मारी

युवक यू ट्यूब चैनल के लिए वीडियो बना रहे थे

पकङे युवकों के मुताबिक वह 15 अगस्त को लेकर देश के नाम अपने यू ट्यूब चैनल के लिए वीडियो बना रहे थे। जिसमे हिंदुस्तान और पाकिस्तान का किरदार निभाना था। इसलिए नकली बंदूकें और बम की जगह पटाखे लेकर जाना पड़ा था। बताया कि हम सभी लोकल स्तर पर थियटर से जुड़े लोग है। लेकिन गांव वालो को कुछ गलत लगा इसलिए उन्होंने बवाल कर दिया और पुलिस को बुला लिया। गनीमत रही कि सही वक्त पर पुलिस पहुच गई और हमको गांव वालों के चंगुल से छुड़ाकर ले आई। फिलहाल पुलिस अभी भी युवकों से पूछताछ मे जुटी है।

थाना प्रभारी सुनील कुमार शर्मा का कहना है कि सूचना पर गांव मे पुलिस पहुची थी। 11 युवकों को थाने लाया गया है उनके पास से आर्मी की वर्दी नकली बंदूकें और पटाखे बरामद हुए है। अभी युवकों से पूछताछ की जा रही है।