कोरोना की वजह से अस्पतालों में खून की कमी, बिना इलाज वापस लौट रहे लोग

कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी का असर स्वास्थ्य महकमे में भी दिख रहा है। जिला अस्पताल का ब्लड बैंक भी इससे अछूता नहीं है। 300 यूनिट ब्लड रखने वाले क्षमता के अस्पताल…

Published by Ashiki Patel Published: April 30, 2020 | 10:25 am
Modified: April 30, 2020 | 10:28 am

कन्नौज: कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी का असर स्वास्थ्य महकमे में भी दिख रहा है। जिला अस्पताल का ब्लड बैंक भी इससे अछूता नहीं है। 300 यूनिट ब्लड रखने वाले क्षमता के अस्पताल में सिर्फ 11 यूनिट ही खून बचा है, उसमें भी निगेटिव ग्रुप का कोई इंतजाम नहीं है। बताया गया है कि खून की कमी से लोग लौट रहे हैं, ऑपरेशन भी नही हो रहे हैं।

ये पढ़ें…अपनी फिल्म से इस गांव को इरफ़ान खान ने दिलाई थी लंदन तक पहचान, अब पसरा मातम

दरअसल, आम लोगों के रक्तदान से ब्लड बैंक में स्टॉक बढ़ाया जाता है। इसके लिए जागरूक भी करना पड़ता है। स्वयं सेवी संस्थाएं व समाजसेवी जरूरत पड़ने पर कैंप लगाकर रक्तदान करते हैं। इन दिनों सब ठप पड़ा है। बताया गया है कि 26 जनवरी के बाद से जिला अस्पताल में बड़ा कैंप लगीं लग सका, जिसमें कई लोग ब्लड डोनेट कर सकते। कभी-कभार कुछेक लोग ब्लड डोनेट कर बैंक में मात्रा बढ़ा देते हैं। लेकिन डिमांड होने से स्टॉक फिर नीचे आ जाता है। जिला अस्पताल के आंकड़ों की माने तो क्षमता के हिसाब से पांच फीसदी भी ब्लड का इंतजाम नहीं है। उधर, डीएम राकेश मिश्र ने पत्र लिखकर लोगों को आने-जाने की सुविधा देकर ब्लड डोनेट के लिए प्रेरित करने को पत्र लिखा है। सीएमओ डॉ. कृष्ण स्वरूप से कहा है कि जागरुकता अभियान भी चलाएं और खून के स्टॉक को बढ़ाएं, कमी आड़े न आने दें।

ये पढ़ें… पुलिस ने काटा चालान तो, गुस्साए बिजलीवाले ने कर दी चौकी की बत्ती गुल

…बोले लैब टेक्नीशियन

जिला अस्पताल ब्लड बैंक के लैब टैक्नीशियन अभिषेक प्रजापति ने बताया कि समाजसेवियों से संपर्क साधा गया है। कभी-कभी एक-दो लोग आते हैं, कोरोना वायरस में लॉकडाउन की वजह से कैंप नहीं लगा है।

सीएमएस बोले आगे आएं लोग

ब्लड बैंक में स्टॉक बढ़ाने के लिए दो-चार लोगों से बात हुई है, लेकिन अभी कोई आया नहीं है। 10-15 दिनों पहले कुछ डोनट हुआ था। लॉकडाउन की वजह से लोगनिकल नहीं रहे हैं, पहले बैंककर्मियों व अन्य लोग ब्लड डोनेट करते थे। अगर कोई डोनेट करना चाहता है तो संपर्क करे, बुलाने के लिए घर तक गाड़ी भेज देंगे। सुरक्षित छोड़ भी दिया जाएगा। किसी को दिक्कत न होने दी जाएगी।

रिपोर्ट- अजय मिश्रा

ये पढ़ें… राहुल गांधी से बोले रघुराम राजन- गरीबों की मदद के लिए 65 हजार करोड़ होंगे खर्च

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App