×

आमरण अनशन पर बैठे जिला पंचायत सदस्य, विभाग पर लगाया आरोप, की ये मांग

इस आमरण अनशन में मुख्य रूप से जिला पंचायत सदस्य शैलेष व जिला पंचायत सदस्य किसमाती देवी के प्रतिनिधि विनोद विद्यार्थी आमरण अनशन पर बैठे।

Newstrack
Updated on: 7 July 2020 2:40 PM GMT
आमरण अनशन पर बैठे जिला पंचायत सदस्य, विभाग पर लगाया आरोप, की ये मांग
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

सिद्धार्थनगर: जिला पंचायत में चल रही अनियमितताओं को लेकर जिला पंचायत सदस्य लगातार नाराज चल रहे हैं। और उसको लेकर धरने पर बैठे हैं। इसी क्रम में आज ज़िला पंचायत सिद्धार्थनगर में व्याप्त भ्रस्टाचार व कार्यो में अनियमितता से नाराज चल रहे ज़िला पंचायत सदस्यों ने आज आमरण अनशन की शुरुआत की।

आमरण अनशन पर जिला पंचायत सदस्य

इस आमरण अनशन में मुख्य रूप से जिला पंचायत सदस्य शैलेष व जिला पंचायत सदस्य किसमाती देवी के प्रतिनिधि विनोद विद्यार्थी आमरण अनशन पर बैठे। जिनके साथ दर्जन भर से अधिक सदस्यों ने जिला पंचायत कार्यालय परिसर में अनशन पर बैठे और अपना विरोध प्रदर्शन किया।

ये भी पढ़ें- मंत्री ने शहीद की पत्नी को दिए 80 लाख का चेक, बोले- खत्म होगी विकास की कहानी

इन सदस्यों की प्रमुख मांग के बारे में सदस्य प्रतिनिधि विनोद विद्यार्थी ने बताया कि बीते पांच महीने से जिला पंचायत सदस्यों के बोर्ड की बैठक नहीं हुई है। पहले यह करवाया जाए ।

काफी दिनों से धरने पर हैं जिला पंचायत सदस्य

वहीं दूसरी ओर ज़िला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी पर आरोप लगाते हुए सदस्य अब्दुल सलाम ने कहा कि जिला पंचायत में बोर्ड की बैठक नही होने से वित्तीय अनियमितता करना चाहते हैं। और शासन-प्रशासन द्वारा इन पर ध्यान नहीं देने के बाद बीते 30 मई से इन सदस्यों ने धरना दिया।

ये भी पढ़ें- सावधान वाहनचालक: अब कटेगा भारी चालान, हमेशा रख कर चले ये सामान

लेकिन कोई सुनवाई नहीं होने से अब इन सदस्यों ने आमरण अनशन का रास्ता अपनाया है। लेकिन इन सदस्यों की मांगें कब तलक पूरी होंगी यह कहना मुश्किल है। फिलहाल जिला पंचायत सदस्यों का धरना कापी दिनों से लगातार ज़ारी है।

रिपोर्ट- इंतज़ार हैदर

Newstrack

Newstrack

Next Story