…और स्मृति ईरानी के क्षेत्र की छात्राएं फूट-फूट कर रोने लगी

फुरसतगंज के एफडीडीआई के छात्र-छात्राएं सड़क पर उतर आएं हैं। प्रदर्शनकारी छात्र कालेज प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए धरना पर बैठ गए हैं। छात्रों का कहना है कि कालेज प्रशासन उनकी शिक्षा मे व्यापारिकरण कर रहा है। उधर कालेज प्रशासन के निर्देश के बाद छात्राएं फूट फूट कर रो पड़ीं।

अमेठी: फुरसतगंज के एफडीडीआई के छात्र-छात्राएं सड़क पर उतर आएं हैं। प्रदर्शनकारी छात्र कालेज प्रशासन के विरुद्ध नारेबाजी करते हुए धरना पर बैठ गए हैं। छात्रों का कहना है कि कालेज प्रशासन उनकी शिक्षा मे व्यापारिकरण कर रहा है। उधर कालेज प्रशासन के निर्देश के बाद छात्राएं फूट फूट कर रो पड़ीं। केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र मे छात्रों के साथ हुए इस प्रदर्शन से अब हड़कंप मच गया है।

ये भी देखें:मिंटू बाबू हैं ये बन्दर साहब, बन रहे करोड़ों के मालिक, ला रहे दुल्हनिया

शुक्रवार को कालेज प्रशासन की कार्यशैली से तंग आकर यहां फुरसतगंज के एफडीडीआई के छात्र आंदोलित हो गए। छात्र अनुराग ने बताया कि एक साल पहले सेलेक्शन टेस्ट पास करके जो सीट अर्न की थी वो आज हमसे छीनी जा रही है। उसका कारण ये है कि ये लोग बिजनेस करना चाहते हैं।

हमें अब छिंदवाड़ा का जो यहां से ज्यादा अन डेवलप एरिया है। वो इसलिए दिया जा रहा के वहां पर सरकार उन्हें फ़ंड करती है। उन्होंने कहा कि हमारी मांग ये है के हमे सेम कैम्पस और सेम कोर्स चाहिए। अनुराग ने कहा के हम स्ट्राइक करेगे और मिनिस्ट्री आफ कामर्स तक जाएंगे।

ये भी देखें:बसपा नेता की धर्म कांटे पर गोली मारकर हत्या, घटना से कानून व्यवस्था पर उठे सवाल

छात्रा निहारिका दिवेदी ने बताया कि जब ये सरकारी इंस्टीट्यूट है तो प्राइवेट तरीके से क्यो चलाया जा रहा है। जिस दिन कालेज खुला उस दिन बुलाकर कहा गया के या तो कालेज चेंज कर लो या कैम्पस चेंज कर लो। पैरेंट्स को इसकी कोई इंफार्मेशन नहीं दी गई थी। बच्चों ने जब पैरेंट्स को बुलाया तो ये लोग पैरेंट्स पर भी चढ़ रहे हैं।

ये भी देखें:सुप्रीम कोर्ट से बोली सरकार, दुनिया में शरणार्थियों की राजधानी नहीं बन सकता भारत

इस पूरे मामले पर जब कालेज प्रशासन से बात करने की कोशिश की गई तो कालेज के सेंटर इंचार्ज ओपी सिंह ने कहा कि मैनेजमेंट ये चाहता है के जिस कोर्स के बेस्ट स्टूडेंट है उन्हें बेहतर मौका दिया जाए के उनको बेहतर कैम्पस में शिफ्ट करें। वहां उनको प्लेसमेंट से लेकर सारी सुविधा मिलेगी। दो तीन कैम्पस चंडीगढ़, कोलकाता, छिंदवाड़ा किया है जो बेस्ट सिटी हैं और यहां फ्यूचर अच्छा होगा। यदि कोई बच्चा जाना नही चाहता के ये लोकेशन अच्छी है तो उनके लिए व्यवस्था है के जो हमारे दो कोर्स चल रहे उसमें कनवर्ट कर सकते हैं।