Top

कांग्रेस का अस्तित्व खत्म करेंगी स्मृति ईरानी, अमेठी के बाद रायबरेली में तैयारी

2019 के लोकसभा चुनाव में लाज बचाने के लिए कांग्रेस के पास मात्र रायबरेली सीट बची थी। लेकिन अब इस पर बीजेपी ने नजरे गड़ा दी हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 27 Dec 2020 10:05 AM GMT

कांग्रेस का अस्तित्व खत्म करेंगी स्मृति ईरानी, अमेठी के बाद रायबरेली में तैयारी
X
कांग्रेस का अस्तित्व खत्म करेंगी स्मृति ईरानी, अमेठी के बाद रायबरेली में तैयारी (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रायबरेली: 2019 के लोकसभा चुनाव में लाज बचाने के लिए कांग्रेस के पास मात्र रायबरेली सीट बची थी। लेकिन अब इस पर बीजेपी ने नजरे गड़ा दी हैं। तीन दिवसीय अमेठी दौरे पर पहुंची स्मृति ईरानी ने शनिवार को अमेठी में आक्रमक तेवर में आकर कहा कि कांग्रेस यदि भाजपा कार्यकर्ता व समर्थकों को प्रताड़ित करती रहेगी तो जिस तरह 2019 में अमेठी में कमल खिला उसी तरह 2024 में रायबरेली से भी गांधी परिवार का अस्तित्व मिट जाएगा। रायबरेली से सोनिया गांधी लगातार पांच बार से सांसद है। रायबरेली गांधी परिवार का गढ़ और कांग्रेस का अभेद किला माना जाता है।स्मृति ईरानी ने इस बार प्रण किया है कि रायबरेली से कमल खिला कर रहेंगे।

ये भी पढ़ें:नये कृषि कानून का समर्थन करने वाले नेताओं का गांव में प्रवेश वर्जित: राम गोविंद चौधरी

raebareli-matter raebareli-matter (PC: Social Media)

अमेठी में पांच दशक तक विकास का जो काम नहीं हो सका वह अब हो रहा है

स्मृति ईरानी ने कहा कि अमेठी में पांच दशक तक विकास का जो काम नहीं हो सका वह अब हो रहा है। गांधी परिवार ने सिर्फ अमेठी की भोली जनता का शोषण करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में अमेठी आकर गांधी परिवार को चुनौती दी तो कांग्रेस की ओर से उन्हें हर क्षण अपमानित व प्रताड़ित करने का प्रयास किया गया।

उन्होंने चेतावनी दी

स्मृति ईरानी ने चेतावनी दी कि यदि कांग्रेस इसी तरह भाजपाइयों को प्रताड़ित करती रही तो कार्यकर्ता 2024 में रायबरेली से भी गांधी परिवार का अस्तित्व मिटा देंगे। पांच दशक तक देश व अमेठी में राज करने वाले गांधी परिवार ने भोली भाली जनता को छलने का काम किया। कहा कि जो काम 50 वर्ष में नहीं हुए वह अमेठी में अब हो रहे हैं।

गरीब जनता मजबूर रहे और वह उन पर राज करते रहें

अमेठी के किसानों को 50 साल तक अपने खेतों की सिंचाई के लिए पानी तक नसीब नहीं हो सका। कहा कि गांधी परिवार व कांग्रेस तो चाहती थी कि गरीब जनता मजबूर रहे और वह उन पर राज करते रहें। गांधी परिवार ने गरीबों के स्वास्थ्य की चिंता नहीं की जबकि मोदी के प्रयास से भारत के इतिहास में पहली बार गरीबों को पांच लाख रुपये तक के निशुल्क इलाज की सुविधा मिली। अमेठी में छह लाख 60 हजार लोगों का आयुष्मान योजना में चयन हुआ। 1.32 लाख लोगों का गोल्डेन कार्ड बना। अब तक अमेठी में 3,594 लोगों का 2.80 करोड़ रुपये का निशुल्क इलाज हुआ है।

raebareli-matter raebareli-matter (PC: Social Media)

ये भी पढ़ें:भाजपा-जदयू में बढ़ा सियासी तनाव, बिहार तक पहुंची अरुणाचल प्रदेश की गूंज

गांधी परिवार ने अमेठी के लोगों को स्वस्थ रखने के लिए मेडिकल कॉलेज के नाम पर जमीन हड़पने का काम किया। स्मृति ने 2014 से 2019 तक अमेठी के विकास में राहुल के इशारे पर प्रदेश की अखिलेश सरकार पर भी रोड़ा अटकाने का आरोप लगाया। स्मृति ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद एक वर्ष में अकेले अमेठी में पांच अरब की विकास योजनाएं धरातल पर उतरीं। लोगों को बिजली, पानी, सड़क, पुल आदि की वह सुविधा मुहैया सकी जो 70 साल तक नसीब नहीं हो सकी।

रिपोर्ट- नरेंद्र सिंह

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story