×

सिपाही भर्ती: नकल कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़, STF ने 5 लोगों को किया गिरफ्तार

मुखबिर के हवाले से अहम सुराग मिलने पर एसटीएफ के महानिरीक्षक अभिताभ यश के निर्देशन में एसटीएफ मेरठ के अधीक्षक कुलदीप नारायण एवं प्रभारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह सिसौदिया द्वारा एसटीएफ की विभिन्न इकाइयों को अभिसूचना संकलन व कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 15 Dec 2020 11:43 AM GMT

सिपाही भर्ती: नकल कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़, STF ने 5 लोगों को किया गिरफ्तार
X
सिपाही भर्ती: नकल कराने वाले गिरोह का भंडाफोड़, STF ने 5 लोगों को किया गिरफ्तार (PC: Social Media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ: कर्मचारी चयन आयोग की ओर से कराई जा रही दिल्ली पुलिस की सिपाही भर्ती परीक्षा में नकल कराने वाले गिरोह का उत्तर प्रदेश की मेरठ एसटीएफ की टीम ने भंडाफोड़ किया है। एसीएफ ने गिरोह के सरगना सहित पांच सदस्यों को गिरफ्तार कर उनसे नकल कराने के उपकरणों सहित 1.23 लाख रुपये की नकदी भी बरामद की है।

ये भी पढ़ें:बंगाल चुनाव: BJP में शामिल होंगे शुभेंदु अधिकारी, मिली Z सिक्युरिटी

एक घर से पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई

मुखबिर के हवाले से अहम सुराग मिलने पर एसटीएफ के महानिरीक्षक अभिताभ यश के निर्देशन में एसटीएफ मेरठ के अधीक्षक कुलदीप नारायण एवं प्रभारी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनिल सिंह सिसौदिया द्वारा एसटीएफ की विभिन्न इकाइयों को अभिसूचना संकलन व कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया था। इसी क्रम में पुलिस उपाधीक्षक बृजेश कुमार ने इंस्पेक्टर रविंद्र कुमार व सुनील कुमार के नेतृत्व में टीम गठित की थी। सोमवार शाम एक टीम ने कनखल थाने की पुलिस को साथ लेकर परीक्षा केंद्र के पास बद्री विहार कॉलोनी में छापा मारा। एक घर से पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तो उन्होंने पैसे लेकर नकल कराने की बात कुबूल की।

गिरफ्तार अभियुक्तों की शिनाख्त अंकुर कुमार पुत्र मेघराज निवासी सहारनपुर यूपी, राहुल कुमार पुत्र विनोद कुमार निवासी बांस हरियाणा, कुलवीर पुत्र रणधीर , मोहित पुत्र धनकड़ और अजय पुत्र चांद तीनों निवासी रोहतक (हरियाणा) के रूप में हुई है। अंकुर गिरोह का मास्टरमाइंड है। आरोपियों से सवा लाख रुपये, पांच मोबाइल फोन, लैपटॉप, वाईफाई और डीआरडीओ बायोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन के खाली फार्म मिले हैं। आरोपी स्कूल के पास रहकर ब्लूटूथ डिवाइस से नकल करा रहे थे।

गिरफ्तार अभियुक्तों ने संयुक्त पूछताछ पर बताया

कमरे से लैपटॉप, वाईफाई राउटर, परीक्षा से जुड़े कुछ खाली दस्तावेज और 1.23 लाख रुपये की नगदी बरामद हुई। मेरठ एसटीएफ के मुताबिक गिरोह के कब्जे से नकल के उपकरण के साथ-साथ डीआरडीओ बायोमैट्रिक रजिस्ट्रेशन और स्क्राइब डिक्लरेशन के ब्लैंक फॉर्म बड़ी संख्या में बरामद हुए हैं। गिरफ्तार अभियुक्तों ने संयुक्त पूछताछ पर बताया कि हम सभी लोग विभिन्न प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कराते हैं और परीक्षार्थियों को परीक्षा पास कराने की एवज में नकल कराने के लिए पैसे लेते हैं।

ये भी पढ़ें:दिल्ली आंदोलन से लौट रहे पंजाब के 4 किसानों की अलग -अलग सड़क हादसों में मौत

आजकल एस.एम. पब्लिक स्कूल जगजीतपुर मेंदिल्ली पुलिस कान्सटेबल की परीक्षा आयोजित की जा रही हैजिसमें आज हमने परीक्षा में शामिल कुछ लड़कों से परीक्षा में नकल कराने की एवज में 1,23,000 रुपये ले रखे हैं। गिरफ्तार अभियुक्तों के खिलाफ हरिद्वार के थाना कनखल में आईपीसी की धारा 420/473 में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

रिपोर्ट- सुशील कुमार

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story