×

एक मां ने पुलिस से लगाई गुहार, मुझे मेरे बेटे से बचा लो, नहीं तो मुझे मार देगा

कारण सिर्फ यह है कि वह उस बहू और पोती के साथ खड़ी है, जिन्हें छोड़कर मां के शब्दों में अवारा बेटे ने दूसरी शादी कर ली है। अब वह पहली पत्नी से छुटकारा चाहता है, लेकिन मां आड़े आ रही है।

Newstrack
Updated on: 22 July 2020 1:30 PM GMT
एक मां ने पुलिस से लगाई गुहार,  मुझे मेरे बेटे से बचा लो, नहीं तो मुझे मार देगा
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

बलिया। पूत कपूत सुने हैं, पर न माता सुनी कुमाता । यह कहावत जिले के नगरा कस्बे की एक महिला पर सटीक बैठ रहा है। हाल ये है कि बेटा पिछले ‌कई दिनों से उसे जान से मारने की धमकी दे रहा है और वह पुत्र मोह में चुप्पी साध कर बैठी हुई है। कारण सिर्फ यह है कि वह उस बहू और पोती के साथ खड़ी है, जिन्हें छोड़कर मां के शब्दों में अवारा बेटे ने दूसरी शादी कर ली है। अब वह पहली पत्नी से छुटकारा चाहता है, लेकिन मां आड़े आ रही है।

जिला प्रशासन ने दिया ऐसा आदेश, कर्जदार बनने को मजबूर प्रवासी मजदूर

मां को जलाकर मार डालने का प्रयास किया

हद तो तब हुई जब बेटा बीती रात चहार दिवारी फांद कर घर में घुसा और खिड़की के रास्ते मिट्टी तेल डाल पत्नी के शक में मां को ही जलाकर मार डालने का प्रयास किया। तब बहू ने साड़ी फाड़कर सास की जान बचाई। इसके बाद मां ने आज नगरा थाना में तहरीर देकर अपनी, बहू व पोते-पोती की जान बेटे से बचाने की गुहार लगाई है।

अपराजिता सिंह: एक एवरेज स्टूडेंट से ऐसे बनीं IAS ऑफिसर, जानें सफलता की कहानी

ये था पूरा मामला

नगरा थाने में दी गई तहरीर में मां सुदामी देवी ने लिखा है कि उसके तीन बेटे थे। एक की मौत हो चुकी है। दो बेटे हैं, जिसमें से एक कानपुर में पुलिस विभाग में एस आई है और दूसरा आवारा हो गया है। वह बदमाश किस्म का है और नशा भी करता है। वह अपनी पत्नी व बच्चों (बेटे-बेटी) को छोड़कर आजमगढ़ में किसी दूसरी महिला से शादी करके वहीं रहता है। उसने बीती रात की आपबीती सुनाते हुए कहा कि वह, बहू और उसके बच्चों के साथ कमरे में सोई थी। रात में लगभग 11 बजे उसका पुत्र चहारदिवारी फांद कर घर में घुस गया। कमरे का दरवाजा बंद होने के कारण वह कमरे में नहीं घुस पाया तो खिड़की के रास्ते जान से मारने की नीयत से महिला पर मिट्टी तेल फेंक कर आग लगा दिया।

आग देख वह चीखने-चिल्लाने लगी

मां के अनुसार जब उसकी साड़ी में आग लगी तो गर्मी से उसकी नींद खुली तो आग देख वह चीखने-चिल्लाने लगी। तब बहू की नींद खुली और उसने जल्दी से उसकी साड़ी को फाड़कर फें‌क दिया, जिससे वह जलने से बच गई। इसके बाद भी बेटे का गुस्सा ठंडा नहीं हुआ तो उसने घर के बाहर खड़ी एक स्कूटी और बाइक में आग लगाकर भाग गया। सास-बहू के चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनकर आसपास के लोगों की नींद खुली तो वे लोग अपने घरों से बाहर निकले और बाइक व स्कूटी में लगी आग पर पानी डालकर बुझाया। महिला ने नगरा थानाध्यक्ष से उचित कार्रवाई करते हुए बेटे से अपनी, बहू व पोते-पोती की जान बचाने की गुहार लगाई है।

रिपोर्टर-अनूप कुमार हेमकर, बलिया

मैंने राम मंदिर के लिए जान की बाजी लगाई थी: पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story