सोनभद्र सियासत: सरकार की साख बचाने मैदान में उतरे सीएम से लेकर डिप्टी सीएम

वाराणसी में एक निजी कार्यक्रम में शरीक होने पहुंचें डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि सोनभद्र हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार पीड़ित परिवार के साथ मजबूती से जुटी है और जो भी लोग इस मामले में दोषी हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है।

DR dinesh sharma

DR dinesh sharma

लखनऊ : सोनभद्र हिंसा को लेकर उत्तर प्रदेश में सियासत चरम पर है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के 26 घंटे के आंदोलन के बाद बने माहौल को लेकर बीजेपी सरकार अलर्ट है। डैमेज कंट्रोल के लिए योगी आदित्यनाथ रविवार को जहां सोनभद्र स्थित उम्भा गांव पहुंचें तो दूसरी ओर बनारस में डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और केंद्रीय मंत्री महेंद्रनाथ पांडेय सरकार का बचाव करते नजर आएं।

यह भी देखें… साक्षी-अजितेश लव स्टोरी पार्ट-2: अब सुने इस जोड़े की कहानी

‘संवेदनशील मसलों पर राजनीति से बचे विरोधी’

वाराणसी में एक निजी कार्यक्रम में शरीक होने पहुंचें डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा कि सोनभद्र हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण है। सरकार पीड़ित परिवार के साथ मजबूती से जुटी है और जो भी लोग इस मामले में दोषी हैं उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने कहा कि जब उम्भा गांव में तनाव है, वहां विरोधी पार्टियों को राजनीतिक बातों से बचना चाहिए। इसके बावजूद जो लोग इस तरह की घटनाओं पर राजनीति कर रहे हैं उन्हें लोकसभा के चुनाव में जनता नकारा चूकि है।

यह भी देखें… बिहार: कई जेलों पर ताबड़तोड़ छापे, मोबाइल समेत कई गैरकानूनी सामान बरामद

आपसी रंजिश में हुई घटना-महेंद्रनाथ पांडेय

वहीं दूसरी ओर केंद्रीय मंत्री महेंद्रनाथ पांडेय के मुताबिक सोनभद्र हिंसा आपसी रंजिश का दुष्परिणाम है। कभी-कभी आपसी रंजिश का आंकलन कर पाना मुश्किल होता है। उन्होंने कहा कि यूपी में कानून-व्यवस्था पूरी तरह चुस्त-दुरुस्त है। प्रदेश में संगठित अपराध का खात्मा हो चुका है। जहां तक सोनभद्र हिंसा की बात है तो सरकार तेजी से दोषियों को गिरफ्तार करने के साथ ही लापरवाह अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App