रायबरेली में कांग्रेसियों से मिली सोनिया गांधी, लोकसभा चुनाव में हार के कारणों पर की चर्चा

लोकसभा 2019 चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज रायबरेली पहुंची। जहां उन्होंने 40 लोकसभा क्षेत्रों से आए हुए कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

रायबरेली: लोकसभा 2019 चुनाव में करारी हार के बाद कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज रायबरेली पहुंची। जहां उन्होंने 40 लोकसभा क्षेत्रों से आए हुए कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की।

इस बैठक में लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की हार की समीक्षा की गई। हाल ही में कांग्रेस में शामिल बहराइच की पूर्व सांसद सावित्रीबाई फुले भी इस मीटिंग में पहुंची।

उन्होंने बहराइच में कांग्रेस की हार के कारणों को सोनिया गांधी के समक्ष रखा। मीडिया से बात करते हुए सावित्रीबाई फुले ने कहा कि इस लोकसभा चुनाव में लोकतंत्र का गला घोट आ गया है, अगर बैलेट पेपर से चुनाव होता तो परिणाम कुछ और होते।

ये भी पढ़ें…सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस एक मजबूत विपक्ष साबित होगी: राहुल गांधी

भाजपा ने लोकतंत्र की हत्या कर दी है और भाजपा के राज में कोई भी खुश नहीं है। सुल्तानपुर में तीसरे नंबर के प्रत्याशी संजय सिंह ने कहा कि हमारा फोकस 2022 का विधानसभा चुनाव है हम पूरी मेहनत के साथ 2022 का चुनाव लड़ेंगे और 2022 से पहले जो भी उपचुनाव या

अन्य चुनाव हैं उसे मजबूती के साथ लड़ेंगे। मीटिंग में यह निर्णय लिया गया कि गठबंधन से नुकसान होता है और किसी तरह का कोई गठबंधन नहीं किया जाएगा।

वहीं कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के लिए तीन हजार कार्यकर्ताओं को भोजन का भी व्यवस्था भी किया गया है। सोनिया गांधी पांचवी बार जीत के बाद भू एमऊ गेस्ट हाउस में गहन मंत्रणा किया वही अबकी बार जीत का अंतर काम होने से उस पर भी विचार किया गया। वहीं पत्रकारों को अंदर जाने से मना किया गया।

ये भी पढ़ें…अगस्ता वेस्टलैंड मामले में सामने आया सोनिया गांधी के करीबी अहमद पटेल का नाम

रायबरेली तेलिया कोट के सफीक अपने बच्चे को लेकर सुबह 8 बजे से सोनिया गांधी से मिलने के लिए लाइन में खड़ा था मगर उसको किसी ने मिलने नहीं दिया। वह निराश होकर अपने घर वापस चला गया।

वही 14 मई को जिला पंचायत सदस्य राकेश अवस्थी पर जानलेवा हमला हुआ था वह भी सोनिया गांधी से मिलने भू एमऊ गेस्ट हाउस पहुंचे। उन्होंने जिला पंचायत सदस्यों के साथ अपने सांसद सोनिया गांधी के सामने अपनी पीड़ा को व्यक्त किया।

ये भी पढ़ें…सोनिया गांधी ने रायबरेली के लोगों को पत्र लिखकर कहा धन्यबाद