मिर्जापुर नगर विस क्षेत्र के सपा नेता पूर्व मंत्री कैलाश चौरसियाः जनता मेरा परिवार है

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने वर्तमान विधायक पर तीखा हमला बोलते हुए कहाकि नगर में कही भी चले जाइये चाहे वह तेलियागंज हो या संगमोहाल पूरे नगर के सड़कों की हालत दयनीय है। सभी सड़के गड्ढे से भरी पड़ी है। लेकिन वर्तमान प्रतिनिधि को इससे कोई फर्क नही पड़ता है।

Meerzapur nagar SP leader Kailash Chaurasia

इंटरव्यू कैलाश चौरसिया (फोटो सोशल मीडिया)

बृजेंद्र दुबे

मीरजापुर। अखिलेश सरकार के पूर्व बेसिक शिक्षा एवं बाल पुष्टाहार राज्यमंत्री कैलाश चौरसिया जिनकी नगर विधानसभा में बेहतरीन और विकास पुरुष की छवि है। यह ईमानदारी के लिए जाने जाते हैं। और विकास पुरुष के रूप में जनता के लोकप्रिय नेता हैं। कैलाश चौरसिया 2014 के लोकसभा चुनाव में पीएम नरेंद्र मोदी के खिलाफ समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी के रूप में बनारस से चुनाव लड़े थे। पूर्व मंत्री बसंत इंटर कालेज से आठवीं तक शिक्षा ग्रहण करने के बाद समाज सेवा के कार्य मे जुट गए थे।

कैलाश चौरसिया जब सड़क पर निकलते हैं तो काफिला अपने आप चलने लगता है। इनका मुख्य व्यवसाय कृषि और खुद का बिजनेस है। इनकी सबसे बड़ी खूबी यह है। किसी व्यक्ति से मिलने के बाद उसका नाम इन्हें याद हो जाता है। दोबारा मिलने पर पूर्व मंत्री उस व्यक्ति को उसके नाम से सम्बोधित करके बुलाते हैं।

पूर्व मंत्री 2002 से लेकर 2017 तक समाजवादी पार्टी के विधायक रह चुके हैं। कैलाश चौरसिया ने बताया कि वह राजनीति में पच्चीस वर्षो से जुड़े है। जनता की सेवा करना उनका मूल मंत्र है। 2017 में भाजपा प्रत्याशी रत्नाकर मिश्र से 57412 मतों से कैलाश चौरसिया हार गए थे।

पहली जीत पर नही मानते जनप्रतिनिधि

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने कहाकि हम उनको जनप्रतिनिधि नहीं मानते जो पहली बार चुनाव जीतने वाले प्रत्याशी हैं। उन्होंने कहाकि पहली बार चुनाव तो कोई व्यक्ति जीत सकता है। पहली बार चुनाव जीतने वाले को हम जनप्रतिनिधि का दर्जा नहीं देते।

पहली बार चुनाव जीतना बहुत आसान होता है। कोई हवा बयार चल जाती है। सत्ता पक्ष का विरोध होने के कारण भी लोग चुनाव जीत जाते हैं। इसलिए एक बार जीतने वाले को हम जनप्रतिनिधि नही मानते हैं। जब कोई दुबारा चुनाव जीतता है तब हम उसे जनप्रतिनिधि मानते हैं।

राजनीतिक दलों में लोकतंत्र

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने कहाकि राजनीतिक दलों में लोकतंत्र कायम था। लेकिन जब से देश और प्रदेश में भाजपा की सरकार आयी है। तब से राजनीतिक दलों में लोकन्त्र को खत्म करने का प्रयास कर रही है। ज्यादातर जगहों पर लोकतांत्रिक ढांचे को खत्म करने का प्रयास प्रदेश और केंद्र सरकार द्वारा किया गया है। जनता सब देख रही है। सब समझ रही है।

राजनीति के बाद का समय

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने बड़े बेबाकी से जवाब देते हुए कहाकि हम जनता के बीच अठारह घंटे कार्य करने वाले व्यक्ति हैं। हमारा फोन तब भी चालू रहता था जब मैं मंत्री हुआ करता था। हमारा फ़ोन तब भी चालू रहता था जब मैं पहली बार विधायक चुना गया था। हमारा फोन आज भी चालू रहता है जनता के लिए, जबकि विधायक या मंत्री के पद पर नहीं हूँ। जनता की सेवा करना मेरा प्रथम उद्देश्य है।

Meerzapur nagar SP leader Kailash Chaurasia with workers

पार्टी की विचारधारा को जनता के बीच मे पहुंचाने का बीड़ा उठाया है। जब तक जीवन रहेगा यही कार्य करते रहेंगे। जनता की सेवा करना ही मेरा सबसे बड़ा कार्य और धर्म है। जनता की मदद के लिए चौबीस घण्टे तत्पर रहता हूँ। सुबह से बिस्तर छोड़ने के बाद जनता की समस्याओं का निस्तारण करता हूं हमसे जो होता है हर सम्भव मदद करते है। जनता मेरा परिवार है।

चुनाव लगातार महंगे होते जा रहे हैं

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने बेबाकी से जवाब देते हुए कहाकि जनता के बीच मे जो काम करने वाला व्यक्ति रहेगा। उसे कोई परेशानी नहीं आती। जनता खुद चुनाव लड़ती है। धनबल और बाहुबल का प्रयोग वही प्रत्याशी करते हैं। जो प्रत्याशी पहली बार और नए रहते हैं। वही धनबल और बाहुबल का उपयोग करके चुनाव जीतने का हथकंडा अपनाते हैं। जो बेहद निंदनीय है।

चुनाव सुधार पर राय

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने कहाकि बड़े-बड़े बुद्धजीवी वर्ग ने बड़े-बड़े कानून बना दिये हैं। जहाँ से चुनाव की दिशा और दशा तय होती है। उसमें सबसे बड़ी खामी है। वह खामी वोटर लिस्ट की है। जिसमें ग्राम पंचायत के लिए अलग वोटर लिस्ट की व्यवस्था है।

नगर पालिका के लिए अलग वोटरलिस्ट की व्यवस्था है। ऐसी स्थिति में ज्यादातर लोग गाँव और शहर दोनो जगह वोट करते हैं। ऐसे ही विधानसभा के चुनाव में होता है। एक व्यक्ति का दो विधानसभा के वोटर लिस्ट में नाम है। लोग जहाँ अपना फायदा देखते हैं। वहां जाकर वोट करते हैं।

लेकिन यह बेहद खराब और लचर व्यवस्था है। एक व्यक्ति, एक स्थान पर वोटर लिस्ट में नाम होना चाहिए और एक ही स्थान पर मतदान करने का अवसर मिलना चाहिए। उन्होंने कहा हमारे कहने का अर्थ है। विधानसभा और लोकसभा का वोटर लिस्ट एक होना चाहिए।

वर्तमान विधायक से पूर्व मंत्री का सवाल

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने वर्तमान विधायक और सरकार के ऊपर निशाना साधते हुए कहाकि जिले में 2014 से लेकर अब तक नौ बार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और चार बार देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आ चुके है। वर्तमान विधायक उन दोनों लोगों की उपलब्धियों को जनता के समक्ष बताए।

इसके बाद समाजवादी पार्टी की सरकार में सोलर प्लांट लगाया गया था। जिसमें हमारी सरकार का सोलर प्लांट लगाने वाली कम्पनी से अनुबंध हुआ था। 80 प्रतिशत कर्मचारियों की जो नियुक्ति होगी। उसमे जिले के पढ़े लिखे होनहार युवाओं को मौका दिया जाएगा।

Meerzapur nagar SP leader Kailash Chaurasia in agitation

हम वर्तमान विधायक से यह पूछना चाहते है जिले के बेरोजगार युवा सोलर कम्पनी में कितने कर्मचारी है। इसका ब्यौरा जनता के समक्ष पेश करें। इसके साथ वर्तमान विधायक यह भी बताए सहसेपुर ,टेढ़वा फोरलेन सड़क और शास्त्री सेतु पुल के धन का आवंटन किया गया था। उसका निर्माण हुआ क्या?

उन्होंने कहाकि इस सरकार ने लोकलाज खो दिया है। इसके बाद उन्होंने कहा वर्तमान विधायक यह भी बतावें विंध्याचल से बंगाली चौराहा उसके बाद अष्टभुजा तक फोर लेन सड़क का निर्माण होना था।वर्तमान विधायक बतावें क्या सड़को का निर्माण हो गया।

उन्होंने बताया विंध्याचल का रोपवे समाजवादी सरकार में पास हुआ था। अब बन कर तैयार हुआ है। मेडिकल कालेज समाजवादी की सरकार में चंदौली जिले के लिए आवंटित हुआ था। लेकिन जिले की सांसद ने उसे जिले में बनवा दिया। मूल बजट में इंजीनियरिंग कालेज के लिए धन की स्वीकृति हो चुकी थी। लेकिन मायावती की सरकार में उसे मीरजापुर से अम्बेडकर नगर जिले में हस्तांतरित कर दिया गया।

वर्तमान सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने वर्तमान विधायक पर तीखा हमला बोलते हुए कहाकि नगर में कही भी चले जाइये चाहे वह तेलियागंज हो या संगमोहाल पूरे नगर के सड़कों की हालत दयनीय है। सभी सड़के गड्ढे से भरी पड़ी है। लेकिन वर्तमान प्रतिनिधि को इससे कोई फर्क नही पड़ता है।

इसे भी पढ़ें  सैयदराजा के पूर्व सपा विधायक मनोज सिंहः जनेश्वर मेरे गुरु, हारा अपनी चूक से

संगमोहाल से सुन्दरघाट जबलपुर रोड के नाम से जाना जाता है। जहाँ पर ओवरब्रिज बना हुआ है । उस ओवरब्रिज के नीचे एक तरफ से रास्ता है। लेकिन एक तरफ से जेल की दीवार है दीवार गिराकर रास्ता शुरू कराने का वर्तमान विधायक बताएं कौन सा शुभ अवसर आएगा।

मंत्री कैलाश चौरसिया ने कहाकि वर्तमान विधायक का ड्रीम प्रोजेक्ट रामपुर घाट पर जो सड़क का निर्माण होना था सभी घाटो का नवनिर्माण होना था वहः ड्रीम प्रोजेक्ट कब तक पूरा होगा। अंत मे पूर्व मंत्री ने वर्तमान विधायक से साढ़े तीन वर्ष में कोई पांच काम जो पूर्ण कर चुके हो उसके बारे में जनता के पास ब्यौरा सहित साझा करें।

पूर्व मंत्री ने नगर पालिका अध्यक्ष पर भी साधा निशाना

नगरपालिका में भारी भ्रस्टाचार व्याप्त है। नगर की सड़कों पर भारी गड्ढे है। चेयरमैन ने जनता को पानी पीने के लिए वाटर कूलर लगवाएं थे। इस वर्तमान समय मे जनता को जानकारी दी जाए कितने वाटरकूलर लगाए गए है। कितने पानी दे रहे है। कितने बन्द पड़े है।

इसे भी पढ़ें  मुहम्मदाबाद से भाजपा विधायक अल्का रायः राजनीति में न आती तो गृहिणी होती

इसकी जानकारी जनता से साझा किया जाय। नमामि गंगे परियोजना के तहत सरकार हमे बताये कहां से कहां तक यह परियोजना पहुंची गंगा कितनी साफ हुई है। हम वहीं डुबकी लगाएंगे।

वर्तमान सांसद से सवाल

पूर्व मंत्री कैलाश चौरसिया ने कहाकि वर्तमान सांसद ने जिले के युवाओं से वायदा किया था। जिले की सांसद ने जिले के युवाओं को रोजगार के लिए भरोसा दिया था। उन्होंने जनता से कहा था हम महेंद्रा एन्ड महेंद्रा कम्पनी से मिलकर एक 600 करोड़ की परियोजना चुनार में लगाएंगे।

इसे भी पढ़ें  जमानिया विधायक सुनीता सिंहः राजनीति में न आती तो वृक्षारोपण करती

जहाँ पर जिले के बेरोजगार साथियों को नौकरी दी जाएगी। रोजगार के लिए नए अवसर खुलेंगे। इस परियोजना के सम्बन्ध में जिले की सांसद जिले की जनता को जवाब दें।इसके साथ ही उन्होंने कहाकि जनता यह भी जानना चाहती है रेलवे स्टेशन के पास पथरहियाँ पुल पर गेट कब बनेगा।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App