श्रीकृष्ण जन्माष्टमी: मथुरा में पहली बार होगा ऐसा, पवित्र जल से होगा अभिषेक

पूरे देश में भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव की तैयारियां चल रही है। कृष्ण की नगरी मथुरा-वृंदावन में तो धूम मची हुई है। हालांकि कोरोना महामारी के कारण यूपी में जन्माष्टमी के मौके पर निकलने वाली शोभायात्राओं और झांकियों पर रोक लगी हुई है।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी: मथुरा में पहली बार होगा ऐसा, पवित्र जल से होगा अभिषेक

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी: मथुरा में पहली बार होगा ऐसा, पवित्र जल से होगा अभिषेक

लखनऊ: पूरे देश में भगवान कृष्ण के जन्मोत्सव की तैयारियां चल रही है। कृष्ण की नगरी मथुरा-वृंदावन में तो धूम मची हुई है। हालांकि कोरोना महामारी के कारण यूपी में जन्माष्टमी के मौके पर निकलने वाली शोभायात्राओं और झांकियों पर रोक लगी हुई है। लेकिन मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिर में बुधवार रात 12 बजे अभिजीत मुहूर्त में भगवान कृष्ण का प्रक्ट्योत्सव मनाया जायेगा। इस अवसर पर इस बारे भगवान श्रीकृष्ण को गंगा-यमुना के पवित्र जल के साथ ही पहली बाद सरयू के पवित्र जल से भी अभिषेक किया जायेगा। श्रीराम जन्मभूमि ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास सरयू का पवित्र जल लेकर स्वयं मथुरा पहुंच चुके है।

ये भी पढ़ें:पाकिस्तान को तगड़ा झटका: खत्म हुआ इस देश से रिश्ता, अब कंगाली की कगार पर

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी: मथुरा में पहली बार होगा ऐसा, पवित्र जल से होगा अभिषेक

मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिर के सचिव कपिल शर्मा के कहा

मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मस्थान मंदिर के सचिव कपिल शर्मा के मुताबिक मथुरा में बुधवार को जन्माष्टमी मनाई जाएगी। बीते वर्षों में जन्म अभिषेक पंचामृत समेत गंगा-यमुना नदियों के जल से होता रहा है। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन के बाद आई पहली जन्माष्टमी पर सरयू के जल से अभिषेक किया जाएगा। इस बार कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर अभिषेक अनुष्ठान महंत नृत्य गोपाल दास करेंगे। वह अपने साथ चांदी के कलश में सरयू का पवित्र जल लेकर मथुरा पहुंचे है।

जन्माष्टमी के मौके पर हर साल बहुत अधिक संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है

आपको बता दे कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर हर साल बहुत अधिक संख्या में श्रद्धालु पहुंचते है लेकिन इस बार कोरोना वायरस के कारण जिला प्रशासन ने कई पाबंदिया लागू है। यूपी के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि गृह मंत्रालय की कोविड गाइडलाइन और यूपी सरकार के निर्देश के अनुसार जन्माष्टमी पर किसी को भी झांकी या जुलूस की इजाजत नहीं है।

ये भी पढ़ें:कोर्ट में मजाकिया माहौल: CJI ने भगवान कृष्ण से दोषी की सजा पर उठाया ये प्रश्न

श्रीकृष्ण जन्म स्थान पर 12 अगस्त की रात 11 बजे से एक बजे तक जन्मोत्सव कार्यक्रम होंगे। इनके तहत रात 11 बजे से 11ः55 तक गणेशजी और नवगृह पूजन, 11ः59 तक प्रकट्य दर्शन, 12 बजे आरती, जन्माभिषेक, श्रृंगार दर्शन और रात एक बजे शयन आरती होगी। पूजन-अर्चन-दर्शन में मंदिर के भीतर केवल कमेटी के चुनिंदा लोग ही रहेंगे। आमजन व श्रद्धालुओं के लिए प्रक्ट्योत्सव का सीधा प्रसारण दूरदर्शन और अन्य टीवी चैनलों पर किया जायेगा।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App