×

लग गई मुहर, यहां लगेगी स्टेच्यु ऑफ यूनिटी से भी ऊंची 'श्रीराम की प्रतिमा'

रामनगरी के माझा बरहटा में स्थापित होने जा रही भगवान श्रीराम की प्रतिमा स्टेच्यु ऑफ यूनिटी से भी ऊंची होगी। स्टेच्यु ऑफ यूनिटी की ऊंचाई 182 मीटर है, जबकि प्रस्तावित भगवान श्रीराम की प्रतिमा की ऊंचाई 251 मीटर होगी। इसका आधार 50 मीटर का होगा इसके ऊपर 20 मीटर ऊंचा क्षत्र लगेगा। गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा 183 मीटर है।

suman

sumanBy suman

Published on 25 Jan 2020 6:10 AM GMT

लग गई मुहर, यहां लगेगी स्टेच्यु ऑफ यूनिटी से भी ऊंची श्रीराम की प्रतिमा
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

अयोध्या: रामनगरी के माझा बरहटा में स्थापित होने जा रही भगवान श्रीराम की प्रतिमा स्टेच्यु ऑफ यूनिटी से भी ऊंची होगी। स्टेच्यु ऑफ यूनिटी की ऊंचाई 182 मीटर है, जबकि प्रस्तावित भगवान श्रीराम की प्रतिमा की ऊंचाई 251 मीटर होगी। इसका आधार 50 मीटर का होगा इसके ऊपर 20 मीटर ऊंचा क्षत्र लगेगा। गुजरात में सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा 183 मीटर है।

यह पढ़ें...National Voters’ Day: जागरूकता फैलाने और एक वोट की ताकत समझाने का दिन

वहीं चीन में गौतम बुद्ध की प्रतिमा 208 मीटर है और मुंबई में निर्माणाधीन छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा की ऊंचाई 212 मीटर है। इस तरह भगवान राम की यह विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा होगी। इसके बेसमेंट में एक भव्य हाल होगा, जिसमें एक म्यूजियम स्थापित किया जाएगा। इस म्यूजियम में भगवान विष्णु के सभी अवतार की जानकारी और अयोध्या श्रीराम जन्मभूमि का इतिहास दर्शाया जाएगा। यहां प्रतिमा के अलावा विश्राम घर, श्रीराम की कुटिया और रामलीला मैदान भी बनाए जाने का प्रस्ताव है।

मांझा बरहटा की जमीन का चयन प्रतिमा स्थापना के लिए किया गया है। मुख्यमंत्री ने प्रस्तावित जमीन के लिए हरी झंडी भी दे दी है। 100 करोड़ रुपये जमीन खरीदने के लिए आवंटित भी हो चुका है। मूर्ति स्थापना के लिए लगभग 86 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण किया जाएगा जिसका नोटिफिकेेशन जल्द ही जारी होगा।

यह पढ़ें...साहित्य समाज का दर्पण ही नहीं अपितु पूरक है: नीलिमा कटियार

बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या के पहले दीपोत्सव के अवसर पर ही इस परियोजना की घोषणा की थी। यह मुख्यमंत्री योगी का ड्रीम प्रॉजेक्ट है। इसके लिए उन्होंने खुद जमीन का निरीक्षण भी किया था। ऐसे में उनकी हरी झंडी का इंतजार था, जो अब मिल गई है। बताया गया कि इस प्रॉजेक्ट में विशाल प्रतिमा के इस प्रॉजेक्ट में इस स्थल को टूरिस्ट सेंटर के तौर पर विकसित किया जाना है। जिसमें पार्क, म्यूजियम लाइब्रेरी फूड प्लाजा लैंड स्केपिंग और राम कथा की गैलरी आदि का निर्माण होना है। जिसके लिए प्रदेश सरकार ने 447.46 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया है।

suman

suman

Next Story