बोर्ड परीक्षाओं पर सख्तीः डिप्टी सीएम बोले, नकल कराई तो होगा ये..

जीआईसी में निरीक्षण के बाद दिनेश शर्मा ने जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में स्थापित जनपद स्तरीय सीसीटीवी कन्ट्रोल रूम से विभिन्न परीक्षा केन्द्रों के सीसीटीवी फुटेज को जूम कराकर देखा तथा जिला विद्यालय निरीक्षक को सख्त निर्देश दिए कि जिन विद्यालयों के सीसीटीवी कैमरे बन्द पाए जाएं उनको नोटिस देकर कार्यवाही सुनिश्चित की जाय।

लखनऊ: किसी भी व्यक्ति को बच्चों के भविष्य से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। बोर्ड परीक्षाओं में नकल कराने की कोशिश करने वालों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही की जाएगी। यह चेतावनी उपमुख्यमंत्री डा. दिनेश शर्मा ने दी। उन्होंने प्रदेश के गोंडा जिले में परीक्षाओं की हकीकत देखने के लिए केंद्रों का निरीक्षण किया।

उप मुख्यमंत्री ने सबसे पहले जनपद गोंडा के फखरूद्दीन अली अहमद राजकीय इन्टर कालेज जीआईसी में स्थापित उत्तर पुस्तिका कलेक्शन कन्ट्रोल रूम का निरीक्षण किया।

प्रधानाचार्य जीआईसी से उन्होंने स्पष्ट रूप से पूछा कि कापियों में कोई गड़बड़ी तो नहीं। कन्ट्रोल रूम का निरीक्षण करने के बाद वह परीक्षार्थियों के कक्ष में पहुंचे और परीक्षार्थियों के प्रश्न पत्रों तथा उत्तर पुस्तिकाओं का अवलोकन किया और बच्चों से संवाद स्थापित कर जानकारियां ली।

जीआईसी में निरीक्षण के बाद दिनेश शर्मा ने जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में स्थापित जनपद स्तरीय सीसीटीवी कन्ट्रोल रूम से विभिन्न परीक्षा केन्द्रों के सीसीटीवी फुटेज को जूम कराकर देखा तथा जिला विद्यालय निरीक्षक को सख्त निर्देश दिए कि जिन विद्यालयों के सीसीटीवी कैमरे बन्द पाए जाएं उनको नोटिस देकर कार्यवाही सुनिश्चित की जाय।

इसे भी पढ़ें

परीक्षा केंद्रों की सुविधाओं को परखने पहुंचे खुद डिप्टी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा

सीसीटीवी कन्ट्रोल रूम का निरीक्षण करने बाद माननीय डिप्टी सीएम गांधी इन्टर कालेज रेलवे कालोनी पहुंचे। वहां पर उन्होंने परीक्षा कक्ष में साफ-सफाई सुनिश्चित कराने के निर्देश प्रधानाचार्य को दिया। इसके बाद उन्होंने शहीदे आजम सरदार भगत सिंह इन्टर कालेज टामसन के परीक्षा केन्द्र का निरीक्षण किया।

स्पष्ट चेतावनी

दिनेश शर्मा ने स्पष्ट शब्दों में चेतावनी दी कि नकल कराने की घटना को संज्ञेय अपराध मानते हुए कार्यवाही की जा रही हैं और जो भी बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास करेगा उसे इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। उन्होंने बताया कि अब तक प्रदेश में 29 परीक्षा केन्द्रों को नोटिस देने की कार्यवाही की गई है तथा जांचोपरान्त उनके विद्यालय की मान्यता रद्द करने की कार्यवाही की जाएगी।

इसे भी पढ़ें

शुरू हुए यूपी बोर्ड के एग्जाम, निरीक्षण  करने पहुंचे उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा, कैमरे की निगरानी में हो रही परीक्षा 

निरीक्षणों के दौरान आयुक्त देवीपाटन मण्डल महेन्द्र कुमार, डीआईजी डा. राकेश सिंह, डीएम गोंडा डा. नितिन बंसल, संयुक्त निदेशक माध्यमिक शिक्षा, जिला विद्यालय निरीक्षक अनूप श्रीवास्तव तथा अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App