जानिए कौन है सुनील राठी? जिसके काफिले पर हुई हमले की कोशिश

मुन्ना बजरंगी के हत्यारोपित सुनील राठी को बागपत जेल से सात घंटे की पैरोल पर अपने घर पर आते वक्त उस समय हड़कंप मच गया, जब उसके सुरक्षा घेरे के बीच में कई गाड़ियां घुस गई। सुरक्षा घेरे में लगे पुलिसकर्मियों के इससे हाथ-पांंव फूल गये।

लखनऊ: मुन्ना बजरंगी के हत्यारोपित सुनील राठी को बागपत जेल से सात घंटे की पैरोल पर अपने घर पर आते वक्त उस समय हड़कंप मच गया, जब उसके सुरक्षा घेरे के बीच में कई गाड़ियां घुस गई। सुरक्षा घेरे में लगे पुलिसकर्मियों के इससे हाथ-पांंव फूल गये।

उन्होंने तुरंत बागपत पुलिस को इसकी सूचना दी। जब उन गाड़ियों को रोकाकर तफ्तीश हुई तो पता चला कि सुनील राठी के ही समर्थक हैं। इसके बाद पुलिस ने राहत की सांंस ली। इस बीच यह अफवाह तेजी से फैल गयी कि सुनील राठी पर हमला हो गया।

ये भी पढ़ें…जगा गई बजरंगी की मौत, अब सभी जेलों में होगा CCTV और जैमर का पहरा

पुलिस प्रवक्ता ने शनिवार को बताया कि कुख्यात बदमाश सुनील राठी को अपने घर टिकरी में पूजा में शामिल होने के लिए सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक पैरोल मिली थी। वह सुरक्षा घेरा में अपने घर जा रहा था। बागपत पहुंचने पर बीच रास्ते में उसके काफिले में कई गाड़ियां आकर घुस गयीं, जिससे सुरक्षा घेरे में लगे पुलिसकर्मियों में हड़कंप मच गया।

ये भी पढ़ें…मुन्ना बजरंगी की ह्त्या के बाद की तस्वीरों का लोचा, जाँच हुई तो नपेंगे बड़े बड़े

उन्होंने आनन-फानन में इसकी सूचना बागपत कंट्रोल रूम को कर दी। इससे पुलिस महकमे के अधिकारी भी सकते में आ गये।
इसके बाद काफिले में घुसी गाड़ियों की टयोडी गांव के पास तलाशी ली गयी तो गाड़ी में सुनील राठी के ही समर्थक निकले। सुनील राठी ने जब इसकी पुष्टि की तो पुलिस ने राहत की सांस ली। कुछ गाड़ियां सुनील राठी के काफिले में घुस गयी थी, जिसके कारण गलतफहमी हो गयी थी।

ये भी पढ़ें…जगा गई बजरंगी की मौत, अब सभी जेलों में होगा CCTV और जैमर का पहरा