…तो अब स्टेट हाइवे से गुजरने पर भी लगेगा टैक्स

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि जनहित को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए सड़क, पुल और पुलियों, आर.ओ.बी आदि का निर्माण कार्य जल्द से जल्द पूरा किया जाए।

लखनऊ: आचार संहिता समाप्त होते ही उत्तर प्रदेश की योगी सरकार एक बार एक्टिव मोड में आ गई है। सरकार जनता को सुविधा देने के लिए सूबे के सभी पुरवों और गांवों को संपर्क मार्गों से जोड़ने की तैयारी कर रही है। इसके लिए स्टेट हाइवे पर कामर्शियल वाहनों से टैक्स लेने की भी तैयारी है।

ये भी पढ़ें— योगी सरकार के ये तीन मंत्री दे रहे हैं इस्तीफा, जानिये क्यों?

इसीलिए उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने स्टेट हाइवे बनाने का भी नया प्लान बनाने का आदेश दिया। इस प्लान का उद्देश्य 250 से अधिक आबादी वाले छोटे मोटे गांवों को सम्पर्क मार्गों से जोड़ना है। मौर्य आज बहुत ही आक्रामक अंदाज में थे उन्होंने विभागीय अधिकारियों की क्लास लेते हुए कहा कि प्रदेश में कहाँ-कहाँ पर पुल पुलियों सम्पर्क मार्गों व आर.ओ.बी. के निर्माण की प्रबल आवश्यकता है, इसका आंकलन करते हुए तत्काल कार्य योजना बनायी जाय।

सरकार की मंशा प्रयागराज से श्रृगवेरपुर धाम से विन्ध्याचल-काशी-विश्वनाथ धाम तक को जोड़ने वाले ग्रीन प्रोजेक्ट (सड़क) की ऐसी कार्य योजना बनाने की है, जो पर्यटन के दृष्टिकोण से भी उपयोगी साबित हो। प्रदेश के विकास को तेज रफ्तार देने के लिए तकनीकी कर्मचारियों और अधिकारियों को नई तकनीक की जानकारी देने व उन्हें कार्य के प्रति मोटीवेट करने के लिए प्रशिक्षण भी दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें— हार के बाद चेते अखिलेश अब चलेंगे मुलायम की सलाह पर, जल्द बड़ी कार्रवाई के संकेत

प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा है कि जनहित को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए सड़क, पुल और पुलियों, आर.ओ.बी आदि का निर्माण कार्य जल्द से जल्द पूरा किया जाए। मौर्य आज विधान भवन में लोक निर्माण विभाग, सेतु निगम, रा0 निर्माण निगम आदि विभागों के शीर्ष स्तर के अधिकारियों के साथ आयोजित उच्चस्तरीय बैठक में सड़क निर्माण कार्यों की समीक्षा कर रहे थे।