अभी-अभी ये खूंखार आतंकी अरेस्ट, पाकिस्तान में छिपे आकाओं से कर रहा था बात

1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट और अजमेर धमाकों का दोषी आतंकी जलीस अंसारी (68) को यूपी की कानपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वह पेरोल मिलने के बाद मुंबई से फरार हो गया था।

लखनऊ: 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट और अजमेर धमाकों का दोषी आतंकी जलीस अंसारी (68) को यूपी की कानपुर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वह पेरोल मिलने के बाद मुंबई से फरार हो गया था। बताया जा रहा है कि फरार होने के बाद से वह पाकिस्तान में अपने आकाओं के संपर्क में था।

इंडियन मुजाहिद्दीन से था नाता

वह आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन से जुड़ा था। अजमेर ब्लास्ट के मामले में टाडा कोर्ट ने उसे उम्रकैद की सजा सुनाई थी। अंसारी आतंकियों को बम बनाने की ट्रेनिंग देता था, इसी के चलते वह ‘डॉक्टर बम’ के नाम से कुख्यात है।

मुंबई मोमिनपुरा का रहने वाला है ये आतंकी

अंसारी मुंबई के अग्रीपाड़ा इलाके के मोमिनपुरा का रहने वाला है। वह पैरोल पर अपने घर आया था। इस दौरान उसे रोजाना थाने में हाजिरी लगानी होती थी। पैरोल शुक्रवार को खत्म हो रही है, लेकिन गुरुवार सुबह से ही अंसारी की कोई खबर नहीं थी। पुलिस उसकी तलाश में जगह-जगह तलाशी अभियान चला रही थी। आज उसे यूपी पुलिस ने कानपुर से गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़ें…अभी-अभी खूंखार आतंकी ढेर, गोलियों से भून दिया भारतीय सेना ने

बेटे ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई

पुलिस के मुताबिक, अंसारी के बेटे जैद ने गुरुवार दोपहर पिता के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई थी । उसने बताया था कि पिता सुबह नमाज पढ़ने के लिए घर से निकले थे, लेकिन वापस नहीं लौटे। अंसारी के लापता होने की शिकायत मिलते ही मुंबई क्राइम ब्रांच और एटीएस ने उसकी तलाश शुरू कर दी।

ये भी पढ़ें…कड़े एक्शन में ईरान, अमेरिकी सैनिकों को किया आतंकी घोषित

डॉक्टर बम के नाम से कुख्यात है अंसारी

जलीस अंसारी इंडियन मुजाहिद्दीन के आतंकियों को बम बनाने की ट्रेनिंग देता था, इसी के चलते लोग उसे ‘डॉक्टर बम’ के नाम से बुलाने लगे। 2008 के मुंबई ब्लास्ट केस में भी एनआईए ने 2011 में अंसारी से पूछताछ की थी।

ये भी पढ़ें…लखनऊ: आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के दो आतंकियों के यूपी में होने की सूचना, पुलिस महकमा हाईएलर्ट पर