अयोध्या विवि में JAVA और उसके अनुप्रयोग विषय पर हुआ तीसरा वेब व्याख्यान

डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के बीएससी पाठ्यक्रम में ई-ज्ञान के तहत जावा एवं उसके अनुप्रयोग विषय पर तृतीय वेब व्याख्यान का आयोजन किया गया।

Third web lecture on Java and its applications in Ayodhya University

अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के बीएससी पाठ्यक्रम में ई-ज्ञान के तहत जावा एवं उसके अनुप्रयोग विषय पर तृतीय वेब व्याख्यान का आयोजन किया गया। वेब व्याख्यान को संबोधित करते हुए बी0एम0एल0 मुंजाल विश्वविद्यालय गुडगाँव के डॉ0 अतुल मिश्रा ने बताया कि जावा प्रोग्रामिंग भाषा वैश्विक परिदृश्य में तकनीकी की मजबूत रीढ़ बन चुकी है। गूगल, फेसबुक, सनमाइक्रो सिस्टम समेत देश की शीर्ष 10 कंपनियां इसी प्रोग्रामिंग भाषा पर आधारित हैं। यह युवाओं को बेहतर कॅरियर एवं विकल्प प्रदान कर रही हैं।

डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय में वेब व्याख्यान

डाॅ0 मिश्र ने बताया कि इस भाषा के माध्यम से मोबाइल, कंप्यूटर, वेब, डाटा तकनीकी, वैज्ञानिक अनुसंधान क्षेत्र, व्यावसायिक क्षेत्र, एम्बेडेड सिस्टम, इंटरप्राइजेज, कृत्रिम बुद्धि व अन्य अत्याधुनिक तकनीकी क्षेत्रो में तीव्र गति से प्रगति हो रही है। इस तकनीकी का प्रयोग करके देश की आत्मनिर्भर भारत बनने की संकल्पना तेजी के साथ साकार हो रही है। इसी क्रम में डाॅ0 मिश्र ने छात्रों को जावा प्रोग्रामिंग भाषा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए विस्तृत जानकारी साझा की एवं उनके जिज्ञासापूर्ण प्रश्नों का समाधान भी किया।

ये भी पढ़ें- मुख्यमंत्री को धमकी: हुआ बड़ा खुलासा, इस शख्स ने कही थी मारने की बात, ये है वजह

वेब व्याख्यान श्रंखला में बीएससी के समन्वयक प्रो0 के0के0 वर्मा ने सभी प्रतिभागियों को जावा प्रोग्रामिंग भाषा की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए आर्टिफीशियल इंटेलिजेन्स के वेब विकास एवं वर्तमान तकनीकी क्षेत्रो में हो रहे परिवर्तनों की विस्तृत जानकारी दी। कार्यक्रम की संयोजिका एवं विभाग की शिक्षिका इंजीनियर निधि अस्थाना ने अतिथियों स्वागत करते हुए कार्यक्रम की रूपरेखा प्रस्तुत की।

ये लोग हुए शामिल

कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन निधि अस्थाना द्वारा किया गया। इस अवसर पर विभाग के शिक्षक डॉ0 अश्विनी कुमार, डॉ0 संजीव कुमार सिंह, डॉ0 जीतेन्द्र कौशल श्रीवास्तव, डॉ0 गया प्रसाद तिवारी, ज्ञानेश्वर कुमार गुप्ता, इंजीनियर रजत चैरसिया, मिथिलेश तिवारी सहित विभाग के छात्र व छात्राएं उपस्थित रहे।

प्रभु श्रीराम हमारे आदर्श हैः कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह

डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने परिसर में स्थित श्रीराम शोध पीठ का निरीक्षण किया। -पीठ में प्रभु श्रीराम की मूर्ति स्भापित करवाने के लिए कुलपति ने जानकारी प्राप्त की और कहा कि इस कार्य में यथासंभव शीघ्रता लाई जाये। इसके साथ ही कुलपति ने शोध-पीठ में प्रभु श्रीराम के जीवन पर आधारित भित्तिचित्र का भी अवलोकन किया। जिसे देखकर कुलपति ने इसकी सराहना की।

ये भी पढ़ेंः सीएम रावत का बड़ा एलानः उत्तराखंड पर्टयन ने होगी ये नई शुरुआत, बदलेगा रंगरूप

इस पर कुलपति प्रो0 सिंह ने कहा कि प्रभु श्रीराम का हम सभी के जीवन में विशेष महत्व है। प्रभु श्रीराम हमारे आदर्श है। उनके आदर्शों पर चलकर ही रामराज्य की परिकल्पना साकार की जा सकती है। इसके साथ ही कुलपति ने शोध-पीठ में प्रभु श्रीराम पर अबतक हुए व्याख्यानों एवं शोध कार्यो की जानकारी प्राप्त की। निरीक्षण के समय डाॅ0 विनोद चैधरी, इंजीनियर अनुराग सिंह, डाॅ0 शैलेन्द्र कुमार, देवब्रत, ज्ञानेन्द्र सहित अन्य उपस्थित रहे।

रिपोर्टर नाथ बख्श सिंह

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App