×

हमीरपुर क्या बन जाएगा हरियालीपुर अरुन की इस पहल से

वृक्षों से ही धरा पर जीवन सुरक्षित है। आज जरूरत है अधिक से अधिक पौधे लगाकर धरती को हरा-भरा बनाए रखने की, यह विचार कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संजय जी प्रान्त प्रचारक राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ ने रविवार को गोहांड ब्लाक के जिगनी गांव में पौधरोपण कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए व्यक्त किए।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 21 July 2019 1:31 PM GMT

हमीरपुर क्या बन जाएगा हरियालीपुर अरुन की इस पहल से
X
आयुसी हरित क्रांति चैरिटेबल ट्रस्ट
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

हमीरपुर : वृक्षों से ही धरा पर जीवन सुरक्षित है। आज जरूरत है अधिक से अधिक पौधे लगाकर धरती को हरा-भरा बनाए रखने की, यह विचार कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संजय जी प्रान्त प्रचारक राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ ने रविवार को गोहांड ब्लाक के जिगनी गांव में पौधरोपण कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए व्यक्त किए।

आयुसी हरित क्रांति चैरिटेबल ट्रस्ट

यह भी देखें... साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के बिगड़े बोल, कहा- हम नाली साफ करवाने के लिए नहीं बने

आयुसी हरित क्रांति चैरिटेबल ट्रस्ट

आयुसी हरित क्रांति चैरिटेबल ट्रस्ट के अध्यक्ष अरुण सिंह के संयुक्त तत्वावधान में तीन वर्ष में एक लाख पौधे लगाने का संकल्प लिया। रविवार को दस हजार पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। डॉ उद्यम सिंह गौतम कुलपति बांदा पेड़-पौधों की महत्ता बताते हुए जीवन में अधिक से अधिक पौधे लगाने एवं उनकी देखभाल करने का आह्वान किया।

डॉक्टर हरेंद्र प्रताप सिंह एसोसिएट डायरेक्टर विशिष्ट अतिथि कार्यक्रम में शिरकत की और पौधरोपण किया। जिला प्रचारक विकाश और अमित शुक्ला अन्य सदस्यों ने भी पौधारोपण किया। इस दौरान पेड़ लगाओ, धरती बचाओ के नारे लगाकर पौधरोपण करने का सामाजिक संदेश दिया।

आयुसी हरित क्रांति चैरिटेबल ट्रस्ट

पर्यावरण के बढ़ते संकट को देखते हुए 30 वर्ष पहले हमीरपुर से गुजरात में बिजनेस करने वाले अरुण सिंह परिहार जो की मूलता गोहांड ब्लॉक के जिगनी गांव के रहने वाले हैं। पर्यावरण संकट को देखते हुए और गुजरात मॉडल से प्रभावित होकर अपने बुंदेलखंड और हमीरपुर को भी हरा भरा करने का संकल्प लिया।

उन्होंने आयुषी हरित क्रांति चैरिटेबल ट्रस्ट के माध्यम से बुंदेलखंड हमीरपुर में तीन वर्ष में एक लाख वृक्ष लगाने का संकल्प लिया है। इतना ही नही इन पौधों को पनपाने के लिए कर्मचारियों की पूरी फौज तथा पानी के टैंकर-ट्रैक्टरों का पूरा लाव-लश्कर है। पौधे रोपने से ज्यादा ट्रस्ट का संकल्प उन्हें पाल-पोसकर बड़ा करना है।

यह भी देखें... मुंबई: ताजमहल होटल के पास इमारत में आग लगने से 1 की मौत, राहत बचाव कार्य जारी

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि संजय जी प्रान्त प्रचारक, कानपुर प्रांत डॉक्टर हरेंद्र प्रताप सिंह, एसोसिएट डायरेक्टर डॉ उद्यम सिंह गौतम, कुलपति बांदा जिला प्रचारक विकास जी राजेश शुक्ला मातादीन जी, जिलाकार्यवाहक अमित कुमार शुक्ला, डॉ मनीष अभिषेक त्रिपाठी सहित सैकड़ों लोग उपस्थित हुए।

आयुसी हरित क्रांति चैरिटेबल ट्रस्ट

कौन है अरुण सिंह परिहार

अरुण सिंह परिहार गुजरात में प्राइवेट सिक्योरिटी नेशनल कंपनी के एमडी हैं। रिटायर्ड फौजी अरुण सिंह परिहार की पिछली पांच पीढ़ी भारतीय सेना में योगदान दे चुकी हैं। बुंदेलखंड को हरा-भरा करने के उद्देश्य से श्री अरुण सिंह परिहार ने एक एनजीओ के माध्यम से हमीरपुर जिले के जिगनी गांव से पौधारोपण करने का संकल्प लिया।

उनका संकल्प सिर्फ पौधारोपण करना नहीं है। उनके संरक्षण का उचित बंदोबस्त करना भी है। ताकि पौधरोपण करने के बाद पौध पर खाद पानी डाला जाए और उनको संरक्षित किया जाए।

यह भी देखें... टीएमसी विधायकों की 2 करोड़ कीमत नहीं- दिलीप घोष

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story