×

उन्नाव कांड : सीतापुर जेल पहुंचकर CBI ने आरोपित कुलदीप सेंगर से की पूछताछ

उन्नाव दुष्कर्म कांड की पीड़ित युवती की कार दुर्घटना की जांच कर रही सीबीआई की टीम शनिवार को आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से मिलने के लिए सीतापुर जेल पहुंची।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 3 Aug 2019 3:37 PM GMT

उन्नाव कांड : सीतापुर जेल पहुंचकर CBI ने आरोपित कुलदीप सेंगर से की पूछताछ
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

लखनऊ: उन्नाव दुष्कर्म कांड की पीड़ित युवती की कार दुर्घटना की जांच कर रही सीबीआई की टीम शनिवार को आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर से मिलने के लिए सीतापुर जेल पहुंची।

ट्रामा सेंटर में जिंदगी और मौत की जंग लड़ रही दुष्कर्म पीड़ित युवती की हालत में सुधार अभी तक नहीं है।

जबकि डॉक्टरों ने अधिवक्ता को वेंटिलेटर से हटाकर दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया है।

ये भी पढ़ें...अयोध्या विवाद पर सीएम योगी: मुझें पता था मध्यस्थता से कोई हल नहीं निकलने वाला

सीबीआई को 15 दिन के भीतर सौंपनी हैं रिपोर्ट

उन्नाव में दुष्कर्म का शिकार बनी नाबालिग की कार की रायबरेली दुर्घटना के मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने जांच कर

रही सीबीआई टीम को 15 दिन के भीतर रिपोर्ट देने को कहा।

सीबीआई टीम ने मामले की जांच तेज कर दी है। शनिवार को सीबीआई की टीम सीतापुर जेल पहुंची।

यहां जेल में बंद कुलदीप सिंह सेंगर उसके भाई अतुल सेंगर पूछताछ की है। यहां से कुछ साक्ष्यों को भी जुटाया है।

केजीएमयू के सीएमएस डॉ. एसएन शंखवार ने बताया कि कि उन्नाव पीड़ित युवती की हालत स्थिर बनी हुई है। उसे वेंटिलेटर पर ही रखा गया है।

ये भी पढ़ें...बूढ़ों को खुश करने के लिए कर रही खास काम, डॉक्टर से बन गई हॉट मॉडल

वकील की हालात में सुधार

वहीं पीड़ित युवती के वकील की हालत में थोड़ा सुधार हुआ है। उनको वेंटिलेटर से हटा लिया गया है।

सीएमएस ने बताया कि सरकार के निर्देश के बाद इन दोनों का नि:शुल्क इलाज किया जा रहा है।

पीड़िता की मां का कहना है कि आठ दिन बाद उसने अपनी बेटी को देखा है। मां ने अस्पताल के खाने को लेकर भी शिकायत की है।

उसे उबला खाना मिलता है। बाहर से लाने के लिए पहले पुलिस से अनुमति लेना पड़ता है। कहीं भी जाओ तो पहले पुलिस से पूछना पड़ता है। हर चीज की पुलिस से अनुमति लेनी पड़ती है।

सीबीआई ने माखी थाने से लिए अहम दस्तावेज

सीबीआई ने उन्नाव दुष्कर्म मामले से जुड़े अहम दस्तावेज उन्नाव के माखी थाने से अपने कब्जे में ले लिया है।

पीड़ित युवती के घायल वकील के परिजनों और ग्रामीणों से भी इस मामले को लेकर पूछताछ की है।

सीबीआई की टीम इस मामले में अन्य लोगों से पूछताछ करने के लिए चार घण्टे तक गांव और थाने में घूमती रही।

सीबीआई की टीम सामूहिक दुष्कर्म और हत्या से जुड़े अहम दस्तावेज लेने के बाद माखी गांव से रवाना हो गई।

ये भी पढ़ें...पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भाजपा सदस्य बने नाविक

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story