Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

हंगामेदार होगा यूपी का बजट सत्र, सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ने की तैयारी

इसके लिए विपक्षी दलों ने अपनी रणनीति बनाना शुरू कर दिया है। 18 फरवरी सरकार के खिलाफ माहौल बनाने के लिए सपा के विधायक साइकिल से विधानभवन पहुँचेंगे।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 16 Feb 2021 6:36 AM GMT

हंगामेदार होगा यूपी का बजट सत्र, सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ने की तैयारी
X
हंगामेदार होगा यूपी का बजट सत्र, सत्ता पक्ष और विपक्ष दोनों ने की तैयारी (PC: social media)
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: यूपी विधानसभा का बजट सत्र दो दिन बाद शुरू होने जा रहा है जिसके लिए विपक्ष के साथ ही सत्ता पक्ष भी तैयार है। यह पूरा सत्र हंगामेदार होने के आसार है। जहां विपक्षी दल सपा बसपा कांग्रेस सत्ताधारी भाजपा को कानून व्यवस्था, महंगाई, कोरोना संकट में बढ़ा भ्रष्टाचार, गन्ना मूल्य का भुगतान न होने व किसानों के मुद्दे पर घेरेने का काम करेंगे। जबकि भाजपा सरकार अपनी उपलब्धियां गिनाकर विपक्ष को कटघरे में खड़ा करने का काम करेगा।

ये भी पढ़ें:आज से राजभर वोटों के लिए जंग शुरू, इस वोट बैंक पर BJP की तिरछी निगाह

विपक्षी दलों ने अपनी रणनीति बनाना शुरू कर दिया है

इसके लिए विपक्षी दलों ने अपनी रणनीति बनाना शुरू कर दिया है। 18 फरवरी सरकार के खिलाफ माहौल बनाने के लिए सपा के विधायक साइकिल से विधानभवन पहुँचेंगे। जहां पर वह बैठक कर रणनीति बनाने का काम करेगे। जबकि कांग्रेस विधानमंडल दल की बैठक 18 फरवरी को सुबह 10 बजे होगी। इसके अलावा बसपा ने भी सरकार को घेरने के लिए रणनीति बना रही है।

योगी सरकार ने सभी विधायकों से अपना कोरोना टेस्ट कराने को कहा हैं

विधानमंडल का बजट सत्र शुरू होने के पहले योगी सरकार ने सभी विधायकों से अपना कोरोना टेस्ट कराने को कहा हैं। विधायक और विधान परिषद सदस्यों को कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट दिखाने के बाद ही विधान भवन में प्रवेश मिलेगा।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण के साथ यह बजट सत्र शुरू होगा

बता दें कि प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अभिभाषण के साथ यह बजट सत्र शुरू होगा। योगी सरकार 22 फरवरी को वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए अपना बजट पेश करेगी। यह योगी सरकार का पांचवां और इस कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट होगा। जो कि अगले विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर होगा। इसी बजट के सहारे भाजपा सरकार अपने चुनावी समीकरण साधने की कोशिश करेगी।

ये भी पढ़ें:ग्राहकों को जबरदस्त फायदा: हर महीने होगा 10,000 का मुनाफा, SBI की बचत योजना

चालू वित्तीय वर्ष के लिए योगी सरकार ने 5.12 लाख करोड़ रुपये का बजट पारित कराया था। अगले वित्तीय वर्ष के बजट का आकार 5.5 से 5.6 लाख करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया जा रहा है। हालांकि चुनावी वर्ष में योगी सरकार इससे बड़े आकार का बजट भी प्रस्तुत कर सकती है। गौरतलब है कि यह योगी सरकार का पांचवां और इस कार्यकाल का आखिरी पूर्ण बजट होगा।

रिपोर्ट- श्रीधर अग्निहोत्री

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story