यूपी का ये जिला जल्द बनेगा पर्यटन का मुख्य केंद्र, जानें इसके बारे में

धर्मनगरी चित्रकूट के समुचित विकास हेतु मोदी सरकार से लेकर सूबे की योगी सरकार लगातार प्रयास कर रही है । इसे पर्यटन की मुख्य धारा से जोड़ने हेतु हर क्षेत्र में प्रयास किये जा रहे हैं।

चित्रकूट: धर्मनगरी चित्रकूट के समुचित विकास हेतु मोदी सरकार से लेकर सूबे की योगी सरकार लगातार प्रयास कर रही है । इसे पर्यटन की मुख्य धारा से जोड़ने हेतु हर क्षेत्र में प्रयास किये जा रहे हैं।

इसी दिशा में रानीपुर वन्य जीव बिहार को कैसे और विकसित किया जाए इसको लेकर  मोदी सरकार द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे हैं । इसी क्रम में दिल्ली से आई दो सदस्यीय टीम ने शुक्रवार को मारकुंडी रेंज के कुसमी बीट और रानीपुर बीट स्थित जंगल का निरीक्षण कर कई संभावनाओं की तलाश की।

ये भी पढ़ें…उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों से की ये अपील

देहरादून के वैज्ञानिकों ने किया निरीक्षण

डब्लूआईआई देहरादून के वैज्ञानिक डॉ एसके गुप्ता एवं फारेस्ट सर्वे ऑफ इंडिया के पूर्व निदेशक डॉ अनमोल कुमार की संयुक्त टीम द्वारा वन्य जीवों के अधिक से अधिक सरंक्षण की नई तकनीकी से लेकर पर्यटन की सम्भवनाओ को तलाशा।

रानीपुर वन्य जीव बिहार के वाइल्ड लाइफ वार्डेन जीडी मिश्र के नेतृत्व में टीम ने जंगल मे कई स्थानों का भ्रमण किया। इस मौके पर टीम के साथ विशेष रूप से आमंत्रित किये सदस्य के रूप में प्रकृति प्रेमी पुरातत्वविद एवं पत्रकार अनुज हनुमत की भी उपस्थित रहे।

उन्होंने टीम के सदस्यों को क्षेत्र की परिस्थितियों से रूबरू कराया और उन ऐतिहासिक और पुरातत्विक स्थानों के बारे में बताया जो जंगलों के अंदर मौजूद हैं।

पत्रकार अनुज हनुमत ने कही ये बात

पत्रकार अनुज हनुमत ने टीम के सदस्यों को बताया कि इन स्थानों पर पर्यटन की काफी संभावनाएं हैं। टीम के दोनो सदस्यों ने माना कि इन स्थानों के माध्यम से निकट भविष्य में रानीपुर वन्य जीव बिहार पर्यटन का बड़ा हब बनेगा।

उन्होंने जंगलों के अंदर मौजूद कई अलग तरह की वनस्पतियों और जानवरों की विभिन्न प्रकार की प्रजातियों के विषय मे अध्ययन किया। वाइल्ड लाइफ वार्डेन जीडी मिश्रा ने बताया कि टीम ने कई स्थानों का निरीक्षण किया है और अपनी रिपोर्ट बनाकर शासन को प्रेषित करेंगे। उन्होंने बताया कि जल्द ही रानीपुर वन्य जीव बिहार में बदलाव देखने को मिलेंगे। इस मौके पर मानिकपुर और मारकुंडी रेंज के रेंजर त्रिवेणी प्रसाद सहित वन्य जीव रेंज के सभी अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें…चित्रकूट: तेज रफ्तार डंपर और टेम्पो में टक्कर, टेम्पो चालक की मौत, कई घायल