×

यूपी के जज ने जारी किया अपना ऑडियो, कहा लॉकडाउन का करें पालन

जिला एवं सत्र न्यायालय के एक जज ने भी ऑडियो जारी कर लोगों से अहितयात बरतने की अपील की है। साथ ही उन्होंने डीएलएसए कन्नौज के नाम से फेसबुक पेज बनाकर लोगों को कई जानकारियां देने जागरूक करने का काम शुरू कर दिया है।

SK Gautam
Updated on: 1 May 2020 1:42 PM GMT
यूपी के जज ने जारी किया अपना ऑडियो, कहा लॉकडाउन का करें पालन
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

कन्नौज: वैश्विक महामारी में लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए जज भी आगे आ गए हैं। सोशल मीडिया के सहयोग से वह जागरुकता भी फैला रहे हैं। लॉकडाउन का पालन करते हुए न्यायिक अधिकारी अपना प्रयास कर रहे हैं, ताकि लोग सुरक्षित रह सकें। जिला एवं सत्र न्यायालय के एक जज ने भी ऑडियो जारी कर लोगों से अहितयात बरतने की अपील की है। साथ ही उन्होंने डीएलएसए कन्नौज के नाम से फेसबुक पेज बनाकर लोगों को कई जानकारियां देने जागरूक करने का काम शुरू कर दिया है।

डीएलएसए कन्नौज के नाम से बनाया फेसबुक पेज, मिलेंगी कई जानकारियां

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव/जज सचिन दीक्षित ने ऑडियो में कहा है कि सारी दुनिया कोरोना महामारी से पीड़ित है। भारत भी इससे अछूता नहीं है। लोग इस सोच को अपने जहन से निकाल दें कि यह हमको न होगा। क्षेत्र में अगर कोई कोरोना संक्रमित है और नियमों का पालन नहीं किया तो वह फैला सकता है। प्राधिकरण सचिव ने कहा है कि इसका इलाज नहीं है, लेकिन एक-दूसरे से दूरी बनाकर रखनी होगी। जो व्यक्ति बाहर से आया है और 14 दिन का क्वारंटीन पूरा नहीं किया तो दूरी बनाकर रखें। अगर खांसी, जुखाम व बुखार हो तो प्रशासन को सूचना देकर जिम्मेदारी निभाएं।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव कर रहे लोगों को जागरूक

सचिव ने कहा है कि जरूरी होने पर ही मास्क या रूमाल या अंगौछा बांधकर बाहर निकलें। उन्होंने कहा कि सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए आरोग्य सेतु एप को अपने मोबाइल में जरूर डाउनलोड करें। अगर कोई संक्रमित है तो एप से अलर्ट मिल जाएगा। कोरोना से डरना नहीं बचना व लड़ना है। सचिव ने अपना सीयूजी नंबर 9453241011 भी जारी किया है।

ये भी देखें: BHU में महिला साइंटिस्ट कोरोना पॉजिटिव, 3 दिन के लिए बंद हुई जांच

सचिव ने न्यूज ट्रैक/अपना भारत के संवाददाता को बताया कि अधिवक्ताओं, टाइपिस्ट, मुंशी आदि की सूची भी बन रही है, जल्द ही उनको भी कई तरह की जानकारी देकर सोशल मीडिया से जोड़ा जा सकेगा, जिससे समाज में पीड़ितों को कानून व योजनाओं की जानकारी मिल सके। लॉकडाउन समाप्त होने के बाद फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कई कार्यक्रम भी होंगे।

इन नंबरों पर करें संपर्क

प्राधिकरण सचिव सचिन दीक्षित ने ऑडियो में इन दिनों महिलाओं का शब्दों से, मानसिक व शारीरिक उत्पीड़न करने के मामले में हेल्पलाइन नंबरों को भी बताया है। कहा है कि निशुल्क कानूनी सहायता मिलेगी और मदद भी। उन्होंने बताया कि महिला हेल्प लाइन नंबर 181 व वन स्टॉप सेंटर के नंबर 7235004554 पर दिक्कत बताई जा सकती है। साथ ही अधिवक्ता प्रतिभा लक्ष्मी के नंबर 9554933259, भूपेंद्र सिंह के नंबर 9793174558 पर जानकारी की जा सकती है।

ये भी देखें: पालघर लिंचिंग मामला: साधुओं की हत्या में शामिल 5 लोग हुए गिरफ्तार

यहां 24 घंटे मिलेगी सुविधा

लीगल टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 18004190234, शशिकला पांडेय के 9450019664, दीपांशु दास के 9451321172 और दुष्यंत मिश्र के 9415424592 पर 24 घंटे सुविधा मिलेगी।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story