BJP ने की चार प्रत्याशियों के नामों की घोषणा, बाकी के लिए माथापच्ची

यूपी में विधानपरिषद की रिक्त हुई 12 सीटों के लिए होने वाले चुनाव के लिए भाजपा ने आज अपने चार प्रत्याशियों के नामों का एलान तो कर दिया पर बाकी प्रत्याशियों को लेकर पार्टी अभी सांसत में है। भाजपा चुनाव में जातीय समीकरण के आधार पर ही चुनाव में उतरना चाहती है।

Published by Ashiki Patel Published: January 15, 2021 | 10:23 pm
bjp

सोशल मीडिया से फोटो

लखनऊ: यूपी में विधानपरिषद की रिक्त हुई 12 सीटों के लिए होने वाले चुनाव के लिए भाजपा ने आज अपने चार प्रत्याशियों के नामों का एलान तो कर दिया पर बाकी प्रत्याशियों को लेकर पार्टी अभी सांसत में है। भाजपा चुनाव में जातीय समीकरण के आधार पर ही चुनाव में उतरना चाहती है।

अंमित निर्णय नहीं ले पा रहा हाईकमान

वह ब्राम्हण बनिया क्षत्रिय दलित और महिला वर्ग को प्रतिनिधि देना चाहती है पर संगठन में इतने दावेदार हैं कि हाईकमान अब तक अंमित निर्णय नहीं ले पा रहा है। विधानपरिषद चुनाव के लिए भाजपा ने 14 जनवरी को ही पार्टी की सदस्यता लेने वाले पीएम मोदी के करीबी पूर्व नौकरशाह अरविंद कुमार शर्मा के साथ तीन और नामों की घोषणा की है।

ये भी पढ़ें: गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्य की समीक्षा, अवनीश अवस्थी ने दिए ये निर्देश

बाकी नामों को तय करने की बड़ी चुनौती

अब भाजपा हाईकमान के लिए बाकी नामों को तय करने की बड़ी चुनौती है। चुनाव समिति ने इस बार संगठन से भी नेताओं को विधान परिषद भेजने का फैसला किया है। समिति के सामने जिन नामों पर चर्चा हुई, उनमें भाजपा के महामंत्रियों जेपीएस राठौर, गोविंद नारायण शुक्ला, अमरपाल मौर्य के नामों के साथ दलित और महिला वर्ग का प्रतिनिधित्व करने वाली प्रियंका रावत के नाम पर भी पर भी मंथन चल रहा है। इनमें जेपीएस राठौर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अध्यक्ष भी हैं।

इन नामों पर चर्चा

प्रदेश महामंत्री गोविंद नारायण शुक्ला, प्रियंका रावत, अनूप गुप्ता और अश्विनी त्यागी, ब्रज के क्षेत्रीय अध्यक्ष रजनीकांत माहेश्वरी, कानपुर-बुंदेलखंड के क्षेत्रीय अध्यक्ष मानवेंद्र सिंह कानपुर-बुंदेलखंड, काशी क्षेत्र के अध्यक्ष महेश श्रीवास्तव और अंजना माहौर के नामों पर भी पार्टी प्रत्याशी बनाए जाने को लेकर चर्चा है।

ये भी पढ़ें: किसानों से बातचीत की नाकामी पर अखिलेश का व्यंग्य, बताया बीजेपी का नया जुमला

पार्टी संगठन के पदाधिकारियों को विधानपरिषद भेजना चाहती है जबकि सरकार मेंषामिल कुछ लोगों को संगठन में लाने की योजना पर विचार कर रही है। इसके अलावा संगठन में काम करने वाले कुछ पदाधिकारियों को एमएलसी बनाकर सरकार में शामिल करने की भी रणनीति बना रही है।

भाजपा ने आज जिन नामों की घोषणा की उनमें डिप्टी सीएम डा दिनेषषर्मा प्रदेष अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह विधान परिषद के लिए भाजपा ने उप मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, पूर्व आईएएस अरविंद शर्मा और काशी क्षेत्र के क्षेत्रीय अध्यक्ष रहे लक्ष्मण आचार्य को अपना प्रत्याशी बनाया है। लक्ष्मण आचार्य प्रधानमंत्री मोदी के काफी नजदीक माने जाते हैं। ये सभी नाम पहले से ही तय माने जा रहे थें।

श्रीधर अग्निहोत्री 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App