×

यूपी : सरकारी आवास में गोलियों से भून कर अधिवक्ता की हत्या

6 जुलाई जिला मुख्यालय थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के पुलिस की सरकारी आवासीय कॉलोनी में सोमवार की रात अज्ञात लोगों ने 35 वर्षीय सरकारी अधिवक्ता नूतन यादव की गोलियों से भून कर उसके ही सरकारी आवास में हत्या कर दी।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 6 Aug 2019 10:29 AM GMT

यूपी : सरकारी आवास में गोलियों से भून कर अधिवक्ता की हत्या
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

एटा: 6 जुलाई जिला मुख्यालय थाना कोतवाली नगर क्षेत्र के पुलिस की सरकारी आवासीय कॉलोनी में सोमवार की रात अज्ञात लोगों ने 35 वर्षीय सरकारी अधिवक्ता नूतन यादव की गोलियों से भून कर उसके ही सरकारी आवास में हत्या कर दी।

हत्यारे इस कॉलोनी में जहां ऊपर बरावर सभी स्थानों पर पुलिसकर्मी ही निवास करते हैं वही घटना को अंजाम देने के बाद जनपद की कानून एवं चाक-चौबंद व्यवस्था को चैलेंज देते हुए फरार हो गए।

ये भी पढ़ें:370 पर अधीर रंजन के इस बयान से कांग्रेस की हुई किरकरी, सोनिया गांधी भी नाराज

आपको बताते चलें कि बीती शाम से ही कश्मीर मुद्दे के चलते पूरे जनपद में अलर्ट जारी है चारों ओर पुलिस गश्त करती नजर आ रही है।

घटना को अंजाम देकर हत्यारे ने पुलिस की इस व्यवस्था को चुनौती दे डाली।

प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर ने बताया कि हत्या की सूचना उसके घर काम करने वाली महिला ने उस समय दी जव वह नूतन के घर खाना बनाने के लिए आयी थी उसने बताया कि घर में नूतन मरी पड़ी थी। जिसकी सूचना पर पुलिस पहुंची थी।

नूतन यादव पुत्री जगदीश यादव निवासी खुशहालपुर थाना बरहन जनपद आगरा की मूल रूप से निवासी थी तथा एक वर्ष से एटा के जनपद न्यायालय में ए.पी.ओ. के पद पर तैनाती तथा वर्तमान में जलेसर मुंसिफ सीनियर डिवीजन के यहां सरकारी अधिवक्ता के रूप में तैनात थी।

ये भी पढ़ें:लखनऊ : J&K से आर्टिकल 370 के हटाए जाने पर खुशियां मनाता किन्नर समुदाय

मृतिका सरकारी अधिवक्ता नूतन यादव के पिता जगदीश यादव ने बताया की मेरे 2 पुत्र तथा तीन पुत्रियां हैं जिनमें से दो पुत्रियों की मैं शादी कर चुका हूं नूतन की अभी 1 वर्ष पूर्व सरकारी अधिवक्ता के पद पर एटा में नौकरी लगी थी।

और उसने अभी शादी नहीं की थी मेरे दोनों पुत्र छोटे हैं जो अभी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।एक पुत्र मानवेंद्र नूतन के साथ एटा में रहकर पढ़ रहा था जो एक दिन पूर्व घर चला गया था।

जगदीश स्वयं पेशे से वकील हैं तथा एत्मादपुर में तहसील स्तर पर वकालत करते हैं।

उन्होंने बताया हमारी किसी से ऐसी कोई दुश्मनी नहीं थी जो कोई उसकी हत्या करता।

ये भी पढ़ें:शिव व पार्वती का प्रतीक है शिवलिंग, तो भी कुवांरी कन्या का इनके पूजन पर है रोक,जानिए रहस्य

मृतिका की मां शकुंतला देवी ने बताया कि, मेरे परिवार का देवर को नूतन की नौकरी लगने से बहुत जलन थी और वह नौकरी लगने से काफी परेशान था। लगता है मेरी पुत्री की हत्या मेरे देवर के पुत्र धनपाल ने की होगी। उनकी शंका ने घटना में एक और नया मोड़ ला दिया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वप्निल मंगाई ने घटनास्थल के निरीक्षण के बाद कहा घटना को किसी नजदीकी व्यक्ति ने अंजाम दिया है। घटना का कारण एवं हत्यारे का शीघ्र ही पता लगा कर कार्यवाही की जाएगी।

समाचार लिखे जाने तक घटना की रिपोर्ट दर्ज नहीं हो सकी थी शव का पंचनामा भाग पोस्टमार्टम हेतु भेजा है।

ये भी पढ़ें:उन्नाव की बेटी को न्याय दिलाने के लिए कांग्रेस पार्टी ने चलाया ‘हस्ताक्षर अभियान’

सरकारी अधिवक्ता नूतन की हत्या की जानकारी पाकर वहां सैकड़ों की संख्या में अधिवक्ता पहुंच गए और उन्होंने हत्या पर आक्रोश व्यक्त किया और शीघ्र ही वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हत्यारे की गिरफ्तारी की मांग की एसोसिएशन के अध्यक्ष, वीरेंद्र पाल एवं सचिव संजय उपाध्याय ने कलक्ट्रेट बार एसोसिएशन के सभाकक्ष में एक शोक सभा संपन्न कर आज कंडोलेंस घोषित की और अधिवक्ताओं ने आज कार्य नहीं किया।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story