Twitter पर फेल है यूपी पुलिस, नहीं सुनी महिला पत्रकार की शिकायत

यूपी पुलिस का सिस्टम पूरी तरह से फेल है जनता को सुरक्षित महसूस कराने में। घटना 12 जुलाई की है जब एक मनचला एक महिला पत्रकार को फ़ोन करके उसका नाम पूछता है। जब पत्रकार उससे कहती है कि आप अपना परिचय दे तब वह गालियां देने लगता है।

Published by SK Gautam Published: July 13, 2020 | 4:18 pm
Modified: July 13, 2020 | 4:19 pm

लखनऊ: आज के सोशल मीडिया के दौर में किसी का भी मोबाइल नंबर पा लेना एक आसान बात है। कोई भी आपका पर्सनल नंबर ख़ोज कर आपको परेशान कर सकता है। इन सब के बीच आप कहाँ जाएंगे? पुलिस के पास?

यूपी पुलिस का सिस्टम पूरी तरह से फेल

यूपी पुलिस का सिस्टम पूरी तरह से फेल है जनता को सुरक्षित महसूस कराने में। घटना 12 जुलाई की है जब एक मनचला एक महिला पत्रकार को फ़ोन करके उसका नाम पूछता है। जब पत्रकार उससे कहती है कि आप अपना परिचय दे तब वह गालियां देने लगता है। वह बदतमीज़ व्यक्ति यहीं नहीं रुकता, इसके बाद बार बार कॉल करके उसे परेशान करता है और अभद्रभाषा का प्रयोग करता है।

बड़ी आयी मीडिया वाली देखता हूं तू क्या कर लेगी

जब महिला उससे कहती है कि वो मीडिया में है और कृपया अपनी जुबान को संभाल के बात करें तब वह किसी गुंडे की तरह उसे धमकाने लगता है। वह कहता है ‘मैं तेरा बाप बोल रहा हूँ, तू बता तू है कौन, मेरा जो उखाड़ना है उखाड़ ले, मैं किसी से नहीं डरता, बड़ी आयी मीडिया वाली देखता हूं तू क्या कर लेगी’।

महिला पत्रकार का मानसिक उत्पीड़न कर रहा ‘आदित्य’नाम का शख्स

कोई भी व्यक्ति हो वो किसी से इस लहज़े में बात नहीं कर सकता और जब बात किसी लड़की के सम्मान की आती है तब ऐसे मनचलें अपनी सीमा भूल जाते है। इस पूरी घटना के बाद अप उस महिला पत्रकार की मानसिक स्थिति का अंदाजा लगा ही सकते हैं। जहाँ कोई अंजान व्यक्ति जो खुद को ‘आदित्य’ बता रहा है जिसकी आइडेंटिटी का अता पता भी उसे नहीं है, यह डर हर दिन हमारे देश कि बेटियाँ देख रही हैं।

इस व्यक्ति का नंबर ब्लाक करने के बाद, महिला पत्रकार सीधा वीमेन हेल्पलाइन 1090 पर कॉल करके पूरा प्रक्रम बताती है। यूपी हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज कर ली जाती है।

ये भी देखें: शोक में हॉलीवुड: मशहूर एक्ट्रेस का निधन, हर किसी की आंखें हुईं नम

महिला पत्रकार ने ट्विटर पर भी बद्तमीजी का किया जिक्र

मीडिया में होने के नाते महिला पत्रकार ने ट्विटर पर भी अपने साथ हुई इस बद्तमीजी का जिक्र किया और उत्तर प्रदेश को पुलिस को सूचना दी। रात होते होते अचानक उस लड़की के ट्वीट पर एक अमर्यादित भाषा में रिप्लाई आता है और एक अश्लील फोटो भी साथ में टैग कि होती है। उस मनचले ने ऐसी भाषा का प्रयोग किया है जिसे मुझे लिखने और पढने में भी शर्म आ रही है।

महिला पत्रकार का मनोबल तोड़ने कोशिश

ये घटना किसी बुरे सपने से कम नहीं है, किस प्रकार से महिला पत्रकार और सबसे पहले इस देश कि एक लड़की का मनोबल तोड़ने कोशिश की जाती है। उसे सोशल मीडिया पर आकर भी एक मनचले द्वारा परेशान किया जाता है लेकिन इन सबके बीच गायब है यूपी पुलिस। अब पूरा एक दिन हो चुका है न ही यूपी पुलिस कि तरफ से एक भी अपडेट आया है न ही उस बद्तमीज़ मनचले की पहचान की गई है।

ये भी देखें:विस्फोटक सचिन पायलट: इनकी लव स्टोरी किसी फिल्म से कम नहीं, ऐसी है लाइफ 

बस… प्लीज लुक इनटू इट

सवाल पूछे जाने पर यूपी पुलिस द्वारा कोई जवाब नहीं दिया जा रहा है। ऐसे माहौल में कोई खुद को सुरक्षित समझे भी तो कैसे? न ही कोई समस्या सुन रहा और न ही कोई एक्शन लिया जा रहा है। इस पूरे घटना में यूपी पुलिस पूरी तरह से फेल है और उनके सोशल मीडिया हैंडल्स को बस… प्लीज लुक इनटू इट लिखना आता है।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App