UP शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा: ये BJP नेता घोटाले में शामिल, STF की कड़ी कार्रवाई

यूपी शिक्षक भर्ती में अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद से लगातार हर रोज नए खुलासे और घोटाले सामने आ रहें हैं। जिसकी जांच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पेशल टास्क फोर्स को सौंपी है। जांच में लगी एसटीएफ ने शिक्षक भर्ती घोटाले में एक रसूखदार भाजपा नेता को भी वांछित घोषित किया है।

प्रयागराज : उत्तर प्रदेश सहायक सगिक्षक भर्ती के 69 हजार पदों पर फर्जीवाड़े के मामले में फिर नया मोड़ आया है। अब इस घोटाले में बीजेपी नेता का भी नाम सामने आया है। मामले की जांच में लगी एसटीएफ ने आरोपी बीजेपी नेता को वांटेड घोषित कर दिया है।

शिक्षक भर्ती घोटाले में भाजपा नेता शामिल

दरअसल,यूपी शिक्षक भर्ती में अनामिका शुक्ला प्रकरण के बाद से लगातार हर रोज नए खुलासे और घोटाले सामने आ रहें हैं। जिसकी जांच मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्पेशल टास्क फोर्स को सौंपी है। जांच में लगी एसटीएफ ने शिक्षक भर्ती घोटाले में एक रसूखदार भाजपा नेता को भी वांछित घोषित किया है।

एसटीएफ ने घोषित किया वांटेड

बताया जा रहा है कि प्रयागराज के काफी नामी भाजपा नेता चंद्रमा सिंह धूमनगंज इलाके के पंचम लाल उच्चतर माध्यमिक विद्यलाय के संचालक हैं। सूत्रों के मुताबिक़, भाजपा नेता चंद्रमा यादव के कॉलेज से ही शिक्षक भर्ती का पेपर लीक हुआ था। मामले में एसटीएफ ने गिरोह के सरगना डा. के एल पटेल हिरासत में लेकर पूछताछ की, जिसके बयानों के आधार पर एसटीएफ का रुख भाजपा नेता की ओर गया। जो फिलहाल अंडरग्राउंड हैं और एसटीएफ ने उसे वांटेड घोषित कर दिया है।

ये भी पढ़ेंः आनंद विहार टर्मिनल से चलने वाली ये 10 ट्रेनें चलेंगी पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से

कौन है भाजपा नेता चंद्रमा सिंह

दरअसल, भाजपा नेता चंद्रमा सिंह यूपी के मौजूदा एक कैबिनेट मंत्री के कई सालों तक प्रतिनिधि भी रह चुके हैं। वह मंत्री के प्रतिनिधि के तौर पर कई सरकारी बैठकों व आयोजनों में शामिल होते रहते हैं। इसके अलावा चंद्रमा सिंह पार्टी के किसान मोर्चे में प्रदेश की कार्यसमिति के सदस्य भी है। प्रयागराज बीजेपी की महानगर इकाई में उपाध्यक्ष पद पर भी रखे।

टीईटी का पेपर लीक मामले में गया था जेल

गौरतलब है कि इसी साल 8 जनवरी को टीईटी का पेपर लीक होने के बाद मामले में भाजपा नेता चंद्रमा समेत गिरोह को गिरफ्तार किया गया था। उनके पास से 180 मोबाइल फोन और 220 प्री एक्टिवेटेड सिम बरामद हुए। हाल ही में चंद्रमा जमानत पर जेल से रिहा हुआ है। वहीं शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा फिर सुर्खियों में आने के बाद से वह फरार है।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।