×

यूपी: पीएसी के 482 जवानों को बटालियन से बाहर जाने पर लगी रोक, जानें क्यों

उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में स्वाइन फ्लू की आशंका के चलते एहतियातन छठी वाहिनी पीएसी के 482 जवानों के कैंपस से बाहर निकलने पर 14 दिन के लिए रोक लगा दी गई है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 1 March 2020 9:22 AM GMT

यूपी: पीएसी के 482 जवानों को बटालियन से बाहर जाने पर लगी रोक, जानें क्यों
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में स्वाइन फ्लू की आशंका के चलते एहतियातन छठी वाहिनी पीएसी के 482 जवानों के कैंपस से बाहर निकलने पर 14 दिन के लिए रोक लगा दी गई है।

सीएमओ डॉ. राजकुमार ने बताया कि मेरठ में इस साल 78 लोगों को स्वाइन फ्लू हो चुका है। 12 लोगों की मौत हुई, जिनमें नौ स्थानीय और तीन दूसरे जिलों के हैं।

सीएमओ डॉ. राजकुमार ने बताया कि छठी वाहिनी पीएसी के 482 जवानों को टेमी फ्लू दवा दी गई है। सीएमओ के अनुसार स्वास्थ्य विभाग की सलाह पर 6 वीं वाहिनी के कमाडेंट ने एहतियातन उनके 14 दिन तक कैंपस से बाहर निकलने पर रोक लगा दी है, ताकि स्वाइन फ्लू वायरस और न फैले।

इन्हें पांच दिन तक टेमी फ्लू दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेज में भर्ती स्वाइन फ्लू से पीड़ित पीएसी के 17 जवानों की तबीयत में सुधार है।

स्वाइन फ्लू : सर्तकता ही बचाव, ऐसे रखें अपना और अपनों का ख्याल

स्वाइन फ्लू के छह और मरीज मिले: सीएमओ

सीएमओ के अनुसार जवान एक-एक रूम में 20-20 की संख्या में रहते हैं, ऐसे में एक जवान को स्वाइन फ्लू होने पर बाकी को भी होने की आशंका बनी रहती है।

उन्होंने बताया कि कल मेडिकल के चिकित्सक और छह माह के बच्चे समेत स्वाइन फ्लू के छह और मरीज मिले हैं। स्वाइन फ्लू की गिरफ्त में चिकित्सक और खरखौदा निवासी मासूम के अलावा सिविल लाइन निवासी बुजुर्ग, मवाना निवासी महिला और दो लोग सिखेड़ा और अहमदनगर के आए हैं।

इनका निजी और सरकारी अस्पतालों में इलाज चल रहा है। सीएमओ डॉ. राजकुमार ने बताया कि इस साल जिले में 78 लोगों को स्वाइन फ्लू हो चुका है। 12 लोगों की मौत हुई, जिनमें नौ स्थानीय और तीन दूसरे जिलों के हैं।

शाहजहांपुर में भी स्वाइन फ्लू ने दी दस्तक, स्वास्थ्य विभाग में मचा हड़कंप

स्वाइन फ्लू को लेकर शासन बेहद गंभीर: सीएमओ

सीएमओ के अनुसार स्वाइन फ्लू को लेकर शासन बेहद गंभीर है। शासन के निर्देश पर कल शाम लखनऊ से तीन सदस्यीय टीम मेरठ पहुंची। ज्वाइंट डायरेक्टर स्वास्थ्य डॉ. एचके अग्रवाल, ज्वाइंट डायरेक्टर स्वास्थ्य डॉ. पंकज सक्सेना और स्टेट एपिडेमियोलॉजिस्ट राजेश सिंह ने मेडिकल में भर्ती पीएसी जवानों और दूसरे अस्पतालों में भर्ती 24 मरीजों का हाल जाना। टीम ने देर रात शासन को रिपोर्ट भेज दी।

सीएमओ का कहना है चीन के शंघाई और इटली से शनिवार को आए दो और युवकों की निगरानी स्वास्थ्य विभाग ने 14 दिनों के लिए शुरू कर दी है। अगर इन्हें खांसी-जुकाम और बुखार बना रहता है तो इनका सैंपल लखनऊ या दिल्ली प्रयोगशाला भेजा जाएगा। अभी तक चीन से 16 लोग मेरठ आ चुके हैं। इनमें से इन दो युवकों समेत 10 युवकों की निगरानी चल रही है।

मेरठ: स्वाइन फ्लू की दहशत के चलते स्कूलों में सामूहिक प्रार्थना पर लगी रोक

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story