वाराणसी में प्रदूषण का कहर, लोगों ने भगवान को बचाने के लिए उठाया ये कदम

पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी प्रदूषण का कहर दिखने लगा है। वाराणसी में हवा का स्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है।

Published by Shreya Published: November 5, 2019 | 12:37 pm
वाराणसी में प्रदूषण का कहर, लोगों ने भगवान को बचाने के लिए उठाया ये कदम

वाराणसी में प्रदूषण का कहर, लोगों ने भगवान को बचाने के लिए उठाया ये कदम

वाराणसी: पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी प्रदूषण का कहर दिखने लगा है। वाराणसी में हवा का स्तर खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। हालत इतनी बिगड़ चुकी है कि अब लोगों ने भगवान को भी मास्क पहनाना शुरु कर दिया है। जी हां, ये सुनने में भले थोड़ा अटपटा लगे, लेकिन ये हकीकत है। वाराणसी में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए लोगों ने भगवान को भी मास्क लगाया है। दरअसल, दिवाली के बाद से ही दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई राज्य प्रदूषण की चपेट में हैं।

प्रदूषण का असर अब धर्म नगरी वाराणसी में भी होने लगा है। यहां पर पीएम 2.5 का इंडेक्स 500 के करीब पहुंच गया है। काशी नगरी के निवासी प्रदूषित हवा से बचने के लिए मास्क का सहारा ले रहे हैं। लोग खुद तो मास्क लगा ही रहे हैं, साथ ही साथ अब मंदिरों में स्थापित देवी-देवताओं को भी मास्क जरुर पहना रहे हैं।

यह भी पढ़ें: अब 15 दिन पहले ही पता चल जाएगा प्रदूषण का हाल, जानिए कैसे

कुछ ऐसी है मान्यता

दरअसल, वहां पर ये मान्यता है कि भगवान को गर्मी में चंदन का लेप लगाया जाता है तो वहीं ठंड में साल अर्पित की जाती है, ताकि भगवान गर्मी और ठंड से बचे रहें। तो अब जब वाराणसी में प्रदूषण इतने खतरनाक स्थिति पर पहुंच चुका है तो भगवान को प्रदूषण से बचाने के लिए सिगरा स्थित मंदिर में पुजारी हरीश मिश्रा और भक्तों ने बाबा भोलेनाथ, देवी दुर्गा और काली माता समेत साईं बाबा का पूजन कर उन्हें मास्क पहनाया है। लोगों के इस उपाय को देख लोग सकते में हैं।

वाराणसी में स्मॉग की चादर बिछी हुई है और यहां पर प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। जिसके चलते लोगों ने ये अनोखी पहल की है।

बिहार में बैन हुए 15 से अधिक पुराने वाहन

बता दें कि दिल्ली के समेत उत्तर भारत के कई राज्य प्रदूषण की चपेट में हैं। बिहार में भी प्रदूषण का कहर बढ़ने लगा है। जिसको देखते हुए नीतीश सरकार ने कुछ अहम फैसले लिए हैं। जिसके तहत 15 साल से अधिक पुराने सरकारी और कमर्शियल वाहनों पर बैन लगा दिया गया है।

यह भी पढ़ें: प्रदूषण: नीतीश सरकार का बड़ा फैसला, 15 साल से अधिक पुराने वाहन होंगे बैन