×

रीयल हीरो सोनू सूदः इस बार छात्रों की वतन वापसी के लिए भेज दिया स्पेशल प्लेन

दरअसल उत्तर, बिहार और झारखंड समेत भारत के कई राज्यों के छात्र मेडिकल की पढ़ाई के लिए किर्गिस्तिन में स्थित एशियन मेडिकल इंस्टीट्यूट में जाते हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 24 July 2020 9:11 AM GMT

रीयल हीरो सोनू सूदः इस बार छात्रों की वतन वापसी के लिए भेज दिया स्पेशल प्लेन
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

वाराणसी: रील लाइफ के विलेन सोनू सूद लॉकडाउन में रीयल लाइफ के हीरो बनकर उभरे हैं। प्रवासी मजदूरों के लिए मसीहा बने सोनू सूद सात समंदर पार फंसे भारतीय छात्रों की मदद कर छा गए हैं। सोनू सूद की मदद से किर्गिस्तान में फंसे 135 छात्रों की वतन वापसी हुई। सोनू सूद ने इन छात्रों के लिए विशेष विमान का इंतजाम किया था। वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट पहुंचे छात्रों ने सोनू सूद का शुक्रिया अदा किया।

सोशल मीडिया के जरिए छात्रों ने सोनू सूद से लगाई थी गुहार

दरअसल उत्तर, बिहार और झारखंड समेत भारत के कई राज्यों के छात्र मेडिकल की पढ़ाई के लिए किर्गिस्तिन में स्थित एशियन मेडिकल इंस्टीट्यूट में जाते हैं। कोरोना संक्रमण में लॉकडाउन के चलते अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाएं बंद होने से मेडिकल के छात्र किर्गिस्तान में फंसे हुए थे। लॉकडाउन के चलते छात्रों को तमाम परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था।

ये भी पढ़ें- मनचलों से कांपे दरोगा: सरेआम छीन लिया रिवाल्बर, अब हुआ ये हाल

इसको लेकर छात्रों ने ट्वीट करने के साथ वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर कर मदद मांगी थी। लॉकडाउन में हजारों प्रवासियों के लिए भगवान बन चुके सोनू सूद इन लोगों की मदद के लिए भी आगे आए। सोनू ने छात्रों को अपने वतन वापस बुलाने के लिए स्पाइसजेट एयरलाइंस का विमान बुक कराया।

छात्रों ने विमान के अंदर लहराई सोनू सूद की तस्वीर

तय शेड्यूल के अनुसार विशेष विमान किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक स्थित मानस इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचा। 135 छात्रों को लेकर गुरुवार की शाम 3.50 पर विमान ने उड़ान भरी और रात 9.40 पर वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचा। एयरपोर्ट पर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन कराते हुए विमान से 10-10 की संख्या में छात्रों को उतारा गया।

ये भी पढ़ें- कोरोना का बदलता रूप: हर पल बढ़ा लेता है अपनी क्षमता, खोज में आई बात सामने

विशेष मेडिकल टीम ने सभी की जांच की और उसके बाद बाहर आने की इजाजत मिली।सरकार की गाइडलाइन के अनुसार सभी छात्रों से फार्म भी भरवाया गया और होम क्वारंटीन का निर्देश दिया गया। अपने वतन पहुंचे हर छात्र की जबां पर केवल सोनू सूद का नाम था। हर छात्र की जुबान पर सोनू सूद का नाम था। विमान के अंदर छात्रों के हाथों में सोनू सूद की तस्वीरें भी थीं।

रिपोर्ट- आशुतोष सिंह

Newstrack

Newstrack

Next Story