मफलर ही नही! और भी बहुत कुछ है केजरीवाल के पास

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पास 3.4 करोड़ रुपए की संपत्ति है और वर्ष 2015 से इसमें 1.3 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। केजरीवाल ने मंगलवार को….

Published by Deepak Raj Published: January 22, 2020 | 5:07 pm

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के पास 3.4 करोड़ रुपए की संपत्ति है और वर्ष 2015 से इसमें 1.3 करोड़ रुपए का इजाफा हुआ है। केजरीवाल ने मंगलवार को विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन में जो हलफनामा जमा किया उसके मुताबिक 2015 में उनकी कुल संपत्ति 2.1 करोड़ रुपए की थी।

केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल के पास 2015 में नकदी और सावधि जमा (एफडी) 15 लाख रुपए की थी जो 2020 में बढ़कर 57 लाख रुपये हो गया।

ये भी पढ़ें-मोदी कैबिनेट का बड़ा फैसला, ये सरकारी कंपनी होगी बंद, यहां भी लागू होगा GST

पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा कि स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लाभ (वीआरएस) के तौर पर सुनीता केजरीवाल को 32 लाख रुपए और एफडी मिले बाकि उनका बचत धन है। मुख्यमंत्री के पास नकदी और एफडी 2015 में 2.26 लाख रुपए की थी जो 2020 में बढ़कर 9.65 लाख हो गई है।

केजरीवाल की संपत्ति 92 लाख रुपये से बढ़कर 177 लाख रुपये हुई

केजरीवाल का ऐलान: इस विधानसभा क्षेत्र से लड़ेंगे चुनाव

उनकी पत्नी की अचल संपत्ति के मूल्यांकन में कोई बदलाव नहीं हुआ है जबकि केजरीवाल की अचल संपत्ति 92 लाख रुपये से बढ़कर 177 लाख रुपये हो गई। पार्टी के पदाधिकारियों ने बताया कि 2015 में केजरीवाल की जितनी अचल संपत्ति थी, उसके भाव में बढोतरी के कारण यह यह वृद्धि हुई है।

परसो जाम में फंसे, कल छह घंटे इंतजार के बाद भरा पर्चा

आप को बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल कर दिया। इसके लिए उन्हें तकरीबन छह घंटे तक इंतजार करना पड़ा।

ये भी पढ़ें-पनडुब्बी निर्माण: सरकार ने अडानी ग्रुप से जोड़ लिया हाथ, विपक्ष को भी दे दिया जवाब

आम आदमी पार्टी के नेता और विधायक सौरभ भारद्वाज ने ट्वीट कर लिखा कि अरविंद केजरीवाल नामांकन के लिए छह घंटे से इंतजार कर रहे हैं। क्या आपने ऐसा किसी अन्य मुख्यमंत्री के साथ देखा है। रोड शो में देरी की वजह से अरविंद केजरीवाल सोमवार को नामांकन नहीं कर पाए थे।

आप नेताओं ने साधा निशाना

पर्चा भरने के लिए केजरीवाल के इंतजार के बीच सौरभ भारद्वाज ने कहा कि निर्वाचन कार्यालय में 35 उम्मीदवार नामांकन के अधूरे दस्तावेज लिए बैठे हैं। यहां तक कि कई के पास तो 10 प्रस्तावकों के नाम तक नहीं हैं। भारद्वाज के इस ट्वीट के जवाब में केजरीवाल ने कहा- कोई बात नहीं कई लोग पहली बार नामांकन भर रहे हैं तो गलतियां होंगी ही, हमने भी पहली बार गलती की थी।

हमें उन्हें सिखाना चाहिए। मैं इनके साथ इंतजार कर मजा ले रहा हूं, ये लोग मेरे परिवार का हिस्सा हैं। केजरीवाल रिटर्निंग ऑफिसर (आरओ) चैंबर्स में हैं और अपना नामांकन दाखिल करने की प्रतीक्षा कर रहे थे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App