लाॅ एंड ऑर्डर पर CM योगी सख्त, इन IAS-IPS की लिस्ट तैयार, लेंगे ये बड़ा फैसला

सूबे की योगी सरकार ताबड़तोड़ अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है, लेकिन इसके बावजूद प्रदेश में अपराध कम नहीं हो रहा है।

CM Yogi Adityanath

UP में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल की तैयारी में योगी सरकार (फोटो: ट्विटर)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सख्ती के बावजूद कानून व्यवस्था की हालत बिगड़ती जा रही है। सीएम योगी ने कहा था कि अपराधी जेल जाएंगे या समर्पण कर देंगे। सूबे में अपराधी सीएम योगी के इस बयान का माखौल उड़ा रहे हैं। इसका सबसे ताजा उदाहरण है कानपुर का बिकरू कांड। विकास दुबे का भले ही यूपी पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया हो, लेकिन उसने पुलिस वालों की हत्या कर प्रदेश सरकार को खुली चुनौती दी थी।

सूबे की योगी सरकार ताबड़तोड़ अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रही है, लेकिन इसके बावजूद प्रदेश में अपराध कम नहीं हो रहा है। अब अपराधियों से निपटने के लिए योगी सरकार सख्त फैसला लेने की तैयारी कर रही है।

तो वहीं कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार के खिलाफ विपक्ष ने मोर्चा खोल दिया है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी, बसपा मुखिया मायावती और आम आदमी पार्टी प्रदेश की काननू व्यवस्था को लेकर योगी सरकार पर हमलावार है।

प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल करने की तैयारी में योगी सरकार

इस बीच अब कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार प्रदेश में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल करने की तैयारी में है। शुक्रवार देर रात कानून व्यवस्था को लेकर योगी सरकार की बड़ी बैठक हुई है। इस बैठक में प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी समेत कई बड़े अधिकारी मौजूद रहे। सूबे के कई जिलों में हाल के दिनों में हुई आपराधित घटनाओं के बाद सरकार में उच्च स्तर पर नाराजगी है। सूत्रों के मुताबिक, कई ज़िलों के पुलिस कप्तान समेत, रेंज आईजी/डीआईजी और एडीजी ज़ोन बदले जाने की सुगबुगाहट तेज हो गई है। इनमें वो अधिकारी हैं जो अपराधियों पर लगाम लगाने में नाकाम है।

यह भी पढ़ें…यूपी में लोक गीतों की होगी वापसी, योगी सरकार करने जा रही ये काम

इसके पीछे की वजह यह है कि प्रदेश में बड़े बड़े अपराधियों के एकनकाउंटर, कड़ी कार्रवाई और संपत्तियों को जब्त करने के बावजूद प्रदेश में अपरहरण, हत्या और दुष्कर्म की घटनाओं में कोई कमी नहीं आई है। इन घटनाओं से प्रदेश की योगी सरकार की किरकिरी हो रही है।

Akhilesh Yadav

अपराध को लेकर हमलावार हैं अखिलेश

प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर सपा अध्यक्ष अखिलेश ने हाल ही में योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि इधर रोजाना अपराध का ग्राफ बढ़ता ही दिखाई देता है। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था का हाल यह है कि मानवता को शर्मसार करने वाली घटनाएं जंगलराज की दहशत पैदा कर रही हैं। बीजेपी इस सबसे मुंह छुपाने के लिए झूठ के सहारे अफवाह फैलाने में लग गई है।

यह भी पढ़ें…अयोध्या में 25 राज्यों का दिखेगा संगम, हो गयी तैयारी, ये है सरकार का रोडमैप

Priyanka Gandhi

प्रियंका ने सीएम को लिखी चिट्ठी

तो वहीं उत्तर प्रदेश में बीते दिनों अपहरण और हत्या की हुई घटनाओं पर कांग्रेस महासचिव प्रिंयका गांधी ने सीएम योगी आदित्यनाथ को एक चिट्ठी लिखी थी। इस पत्र में उन्होंने प्रदेश में बिगड़ती हुई कानून व्यवस्था की ओर उनका ध्यान दिलाया था। प्रियंका गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखे गए पत्र में कानपुर, गोंडा और गाजियाबाद में हुई अपरहण की घटनाओं का जिक्र किया था। उन्होंने लिखा था कि प्रदेश की जनता इस वक्त अपराध की घटनाओं से परेशान है। उन्होंने कहा था कि कि मुख्यमंत्री को कानून व्यवस्था ठीक करनी चाहिए।

Mayawati

यह भी पढ़ें…शौचालय निर्माण में धांधली: ग्रामीणों ने दिया धरना, DM को सौंपा ज्ञापन

मायावती ने हाल ही में कहा था कि सूबे में कानून व्यवस्था बदतर हो गयी है और दलितों के खिलाफ लगातार हो रहा अत्याचार और अन्याय चिंता की बात है। मायावती ने कहा कि उप्र की भाजपा सरकार में वैसे तो सर्वसमाज के लोग हर प्रकार की जुल्म-ज्यादती से पीड़ति हैं किन्तु दलितों के उपर अन्याय-अत्याचार की लगातार हो रही घटनायें अति-चिन्ता की बात है। तो वहीं आप नेता संजय सिंह कानून व्यवस्था को लेकर लगातार योगी सरकार हमला बोल रहे हैं।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App