कालाबाजारी करने वाले हो जाये सावधान, योगी सरकार उठाने जा रही है ये कड़ा कदम

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज एक बार प्रदेश के आलाधिकारियों के साथ बैठक कर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को रोकने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

लखनऊ: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज एक बार प्रदेश के आलाधिकारियों के साथ बैठक कर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को रोकने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

इस आशय की जानकारी देते हुए मुख्य सचिव राजेन्द्र कुमार तिवारी ने कहा कि लाॅकडाउन के दौरान किसी भी स्थान पर भीड़ एकत्रित न होने पाये तथा जन सामान्य को आवश्यक वस्तुयें उपलब्ध कराना जिला प्रशासन की प्रमुख जिम्मेदारी होगी।

जिलाधिकारी, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक एवं अन्य मजिस्ट्रेट/काउण्टर-पार्ट पुलिस अधिकारी प्रतिदिन संयुक्त पेट्रोलिंग कर आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित करायें।

ये भी पढ़ें…अब यूपी की बारी, योगी आदित्यनाथ सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला

पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से लोगों को घरों में रहने का अनुरोध करें। होम डिलीवरी के लिए बड़ी से बड़ी संख्या में मोबाइल वैन की व्यवस्था की जाये। शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में दवा की दुकान, किराना स्टोर में सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखने के लिए दुकान के सामने 4-5 फीट दूरी के गोले बनाकर मार्किंग कर दी जाये।

कोविड-19 के प्रसार को रोकने हेतु देशव्यापी लाॅकडाउन का अनुपालन किया जाना बेहद आवश्यकहै। जमाखोरी एवं कालाबाजारी करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध विभिन्न नियमों के अन्तर्गत कड़ी कार्रवाई की जाये।

कांग्रेस ने सीएम योगी आदित्यनाथ पर बोला बड़ा हमला, कही ऐसी बात

सड़कों पर विचरण करने वाले जानवरों को भोजन आपूर्ति हेतु निजी संस्थाओं के सहयोग से व्यवस्था की जाये। कोविड-19 महामारी के परिप्रेक्ष्य में उत्तर प्रदेश के लोगों को सहायताउपलब्ध कराने तथा उन्हें आवश्यक सूचनायें देने के लिये स्थानिक आयुक्त कार्यालय, नई दिल्ली को खुला रखा जाए। मुम्बई में उत्तर प्रदेश के लोगों की सहायता तथा स्थानिक आयुक्त के कार्य हेतु एक अधिकारी की तैनाती की जाये।