×

योगी सरकार ने की पांच लाख से अधिक गोवंश को रहने-खाने की व्यवस्था

गायों के संरक्षण और उनके खाने पीने की पूरी व्यवस्था की जा रही है। प्रदेश में इस समय 5098 गौ-संरक्षण केन्द्रों एवं गौ स्थलों में 5.14 लाख निराश्रित गौवंश संरक्षित किये गये हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 12 Sep 2020 1:53 PM GMT

योगी सरकार ने की पांच लाख से अधिक गोवंश को रहने-खाने की व्यवस्था
X
योगी सरकार ने की पांच लाख से अधिक गोवंश को रहने-खाने की व्यवस्था
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

श्रीधर अग्निहोत्री

लखनऊ: अपनी सरकार के गठन के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बात के संकेत दे दिए थे कि प्रदेश में गायों के संरक्षण में किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उसी के तहत प्रदेश में गायों के संरक्षण और उनके खाने पीने की पूरी व्यवस्था की जा रही है। प्रदेश में इस समय 5098 गौ-संरक्षण केन्द्रों एवं गौ स्थलों में 5.14 लाख निराश्रित गौवंश संरक्षित किये गये हैं।

ये भी पढ़ें: बॉस की करतूत: कर्मचारी के साथ की ऐसी हरकत, जानकर दबा देंगे दांतों तले उंगली

अलग-अलग जिलों में धन की व्यवस्था

इसके लिए योगी सरकार ने गौआश्रय स्थलों पर भरण-पोषण के लिए अलग अलग जिलों में धन की व्यवस्था की है। गायों के संरक्षण के लिए ऐसे जिलों में 3444 भूसा बैंक की स्थापना सुनिश्चित कर कुल 9.12 लाख कुन्तल भूसा की अतिरिक्त व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गयी है।

इस बात की जानकारी देते हुए अपर मुख्य सचिव अवनीष कुमार अवस्थी ने बताया कि हर में पुलिस एवं प्रशासन व अन्य विभागों की 12,019 वाहनों में पब्लिक एड्रेस सिस्टम लगाया गया है।

लाउडस्पीकर की व्यवस्था

इसके अलावा 2471 स्थानों पर भी स्थायी लाउडस्पीकर की व्यवस्था की गयी है। उन्होंने बताया कि कल 7222 बसों के माध्यम से 10,11,000 लोगों ने यात्रा की। मनरेगा के तहत प्रदेष की 53,592 ग्राम पंचायतों में 18.22 लाख मनरेगा श्रमिकों को रोजगार दिया गया। मनरेगा श्रमिकों के लिए 22.72 करोड़ मानव दिवस का सृजन किया गया। उन्होने बताया कि 4681.97 करोड़ रूपए मानदेय का भुगतान किया गया, जो देश के अन्य राज्यों में कार्यरत मनरेगा श्रमिकों की संख्या एवं किये गये भुगतान की तुलना उत्तर प्रदेश पहले नम्बर पर है।

ये भी पढ़ें: बॉलीवुड खुलासा: शर्लिन चोपड़ा ने खोला पोल, पार्टियों में ऐसे ऑफर होते हैं ड्रग्स

अवस्थी ने बताया कि गरीब कल्याण रोजगार अभियान के तहत 11 सितम्बर 2020 तक 5.90 करोड़ मानव दिवस सृजित कर लिये गये हैं, 1785.08 करोड़ रूपए की धनराशि व्यय एवं कार्यपूर्णता के लक्ष्य 1,93,420 कार्यों के सापेक्ष 1,78,873 कार्य पूरे हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि विशेष स्वच्छता अभियान चलाकर ग्रामीण क्षेत्रों के 1,00,020 राजस्व ग्रामों के सापेक्ष 82,212 राजस्व ग्रामों में 1,11,987 कर्मियों के सहयोग से साफ-सफाई करायी गयी तथा नगरीय क्षेत्रों के 11,110 वार्डों में 88,022 कर्मियों के सहयोग से साफ-सफाई, कूड़ों का उठान, फाॅगिंग, एण्टी लार्वा का छिड़काव कराया गया, इससे वैक्टर जनित रोगों में कमी आई है।

एक दिन में 1,40,562 सैम्पल की जांच की गयी

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 टेस्टिंग का कार्य तेजी से किया जा रहा है। प्रदेश में कल एक दिन में 1,40,562 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 73,58,471 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल संक्रमित में से 0-20 वर्ष तक 13.98 प्रतिशत, 21-40 वर्ष तक 48.58 प्रतिशत, 41-60 वर्ष तक 28.69 प्रतिशत तथा 60 वर्ष से अधिक 8.75 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि कुल संक्रमित लोगों में से 69 प्रतिशत पुरूष तथा 31 प्रतिशत महिलाएं संक्रमित हैं।

ये भी पढ़ें: कमलनाथ और दिग्विजय को शिवराज और सिंधिया ने जमकर कोसा, जानें पूरा मामला

Newstrack

Newstrack

Next Story