Top

एक लाख टेस्ट प्रतिदिनः कोरोना को थामने को भागीरथ बने योगी

कोरोना को हराने के लिए आवश्यक है कि कोरोना वायरस से एक कदम आगे का विजन रखा जाए।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 24 July 2020 10:15 AM GMT

एक लाख टेस्ट प्रतिदिनः कोरोना को थामने को भागीरथ बने योगी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ: कोरोना को हराने के लिए आवश्यक है कि कोरोना वायरस से एक कदम आगे का विजन रखा जाए। उन्होंने प्रदेश में 1 लाख टेस्ट प्रतिदिन करने के लिए कार्ययोजना बनाकर उसे पूरा किया जाए। कोरोना के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए ज्यादा से ज्यादा टेस्ट किया जाना जरूरी है।

ये भी पढ़ें:अनुमान बदलाः आधी हो जाएगी इन देशों की आबादी, चीन बनेगा सुपर पावर

आवास पर एक उच्च स्तरीय बैठक की

यह बात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 30 लाख से अधिक की आबादी वाले जनपदों में रैपिड एन्टीजन टेस्ट के द्वारा 2 हजार टेस्ट प्रतिदिन तथा इससे कम जनसंख्या वाले जिलों में कम से कम 1,000 टेस्ट प्रतिदिन रैपिड एन्टीजन टेस्ट विधि के माध्यम से किए जाएं। आर0टी0पी0सी0आर0 के माध्यम से प्रदेश में 35 हजार टेस्ट प्रतिदिन किए जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर नगर, वाराणसी, प्रयागराज, गोरखपुर तथा बलिया में विशेष सतर्कता बरतते हुए डोर-टू-डोर सर्वे के माध्यम से मेडिकल स्क्रीनिंग का कार्य सघन रूप से किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश में टेस्टिंग किट, दवाई, वेंटीलेटर तथा अन्य जरूरी सामग्री की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखने के लिए समय से सभी प्रक्रियाएं पूरी की जाएं।

सर्विलांस टीम द्वारा प्रभावी ढंग से मेडिकल स्क्रीनिंग का कार्य किया जाए

मुख्यमंत्री ने कहा कि सर्विलांस टीम द्वारा प्रभावी ढंग से मेडिकल स्क्रीनिंग का कार्य किया जाए। उन्होंने इन टीमों को पूरी तरह सक्रिय रखते हुए कार्यों की माॅनिटरिंग करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि सर्वे गतिविधियों को मिशन मोड पर संचालित किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की शिथिलता न बरती जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिला प्रशासन आवश्यकतानुसार निजी चिकित्सालयों को कोविड अस्पतालों में परिवर्तित करने के सम्बन्ध में जरूरी कदम उठाए। उन्होंने इस सम्बन्ध में समस्त कार्यवाही को समय से पूरा करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कन्टेनमेंट जोन में व्यवस्थाओं को सुचारु बनाए रखने के लिए एन0सी0सी0 के कैडेटों तथा सिविल डिफेंस के लोगों की सेवाएं भी प्राप्त की जाएं।

प्रदेश में प्रत्येक सप्ताह विशेष स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन अभियान संचालित किया जा रहा

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 तथा संचारी रोगों को नियंत्रित करने के लिए प्रदेश में प्रत्येक सप्ताह विशेष स्वच्छता एवं सेनिटाइजेशन अभियान संचालित किया जा रहा है। आगामी शनिवार तथा रविवार को प्रदेश में संचालित होने वाले विशेष अभियान के तहत सेनिटाइजेशन, फाॅगिंग तथा स्वच्छता सम्बन्धी कार्यों को पूरी तत्परता से किया जाए। सभी नोडल अधिकारी इन कार्यों की प्रभावी माॅनिटरिंग करें। उन्होंने कहा कि शनिवार तथा रविवार को साप्ताहिक बन्दी रहेगी। इसलिए लोग अनावश्यक अपने घरों से बाहर न निकले।

ये भी पढ़ें:गरीबों को बड़ी खुशखबरी: सरकार ने किया ये ऐलान, मिलेंगे ये फायदे

मुख्यमंत्री ने बारिश के मौसम के दृष्टिगत संचारी रोगों की रोकथाम के लिए सभी प्रबन्ध करने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में यह सुनिश्चित किया जाए कि प्रभावित जनता के लिए राहत सामग्री, चिकित्सा सुविधा के साथ-साथ पशुओं के लिए चारे आदि की व्यवस्था रहे।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story