×

भूखे का सहारा बन रहे मुट्ठीभर युवा, ऐसे करते हैं पुण्य का काम

संस्थान की टीम कुछ ऐसे परिवारों का सर्वे करके उन परिवारों के बीच भी सूखा भोजन पहुंचाती है ताकि उनके बच्चों को भूखा ना सोना पड़े तथा संस्थान की टीम अब आने वाले दिनों में शहर के आसपास में जो भी विपदाएं आती हैं लोगों को भोजन की कमी महसूस हो जाती है तो उन तक के बीच भी भोजन लेकर पहुंचेगी।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 24 Nov 2019 12:48 PM GMT

भूखे का सहारा बन रहे मुट्ठीभर युवा, ऐसे करते हैं पुण्य का काम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

चित्रकूट: कहते है अगर आप किसी भूखे को खाना खिला देते हैं तो उससे बड़ा जीवंत पुण्य कोई और नही। ऐसी ही उक्ति को लगातार चरितार्थ कर रहे हैं धर्मनगरी चित्रकूट के कुछ मुट्ठीभर युवा। जी हां रुक्मणि सेवा संस्थान के युवा इसी कार्य मे प्रयासरत हैं ।

इसी क्रम में आज रविवार को रुकमणी सेवा संस्थान भूख मुक्त भारत द्वारा जगदीशगंज मोहल्ले में संस्थान की पूरी टीम ने सूखा भोजन मांगा । गौरतलब हो कि भूखे लोगो के लिए संस्थान की टीम हर रविवार को सूखा भोजन मांगते हैं और उसे लेकर संस्थान के ऑफिस पर भोजन तैयार कर जरूरतमंदों को वितरण करती है।

ये भी देखें : महाराष्ट्र: इस नेता को सीएम बनता देखना चाहता था समर्थक, जिद में काट ली नस

संस्थान की टीम कुछ ऐसे परिवारों का सर्वे करके उन परिवारों के बीच भी सूखा भोजन पहुंचाती है ताकि उनके बच्चों को भूखा ना सोना पड़े तथा संस्थान की टीम अब आने वाले दिनों में शहर के आसपास में जो भी विपदाएं आती हैं लोगों को भोजन की कमी महसूस हो जाती है तो उन तक के बीच भी भोजन लेकर पहुंचेगी।

रुकमणी सेवा संस्थान भूख मुक्त भारत के संस्थापक प्रदेश अध्यक्ष अतुल रैकवार ने बताया कि मेरी टीम के सभी सदस्य स्टूडेंट हैं वह सभी अपना बहुमूल्य समय संस्थान में देते हैं। प्रति रविवार को संस्थान में सभी सदस्य अपने शिक्षा के साथ-साथ एक घंटे का समय प्रतिदिन देते हैं और रविवार को सहारा समय संस्थान में ही रहते हैं।

ये भी देखें : कर्तव्यों का बोध कराती मूल्यपरक शिक्षा: HRD मिनिस्टर रमेश पोखरियाल

इस बीच रात में अपनी पढ़ाई कर कर अपना भविष्य साकार कर रहे हैं मैं अतुल रैकवार संस्थापक प्रदेश अध्यक्ष इन बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना करता हू। फिलहाल ऐसे युवाओ से हमे सीखने की जरूरत है जिससे समाज का कोई भी व्यक्ति भूखा न सोये ।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story