×

गेंहू-लहसुन से खरीदें प्रापर्टी: ये देश आसानी से कर रहा है डील, जानें क्या है नया ऑफर

China: गेहूं और लहसुन के बदले प्रापर्टी इन्वेस्ट करने का ये बहुत ही अनोखा तरीका चीन की एक रियल स्टेट कंपनी ने निकाला है।

Vidushi Mishra
Updated on: 22 Jun 2022 1:47 PM GMT
Property
X

प्रॉपर्टी

  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

China: चीन में महामारी कोरोनावायरस की वजह से आर्थिक स्थिति बहुत ज्यादा खराब हो गई थी। चाहे कोई भी बिजनेस सब में थोड़ा बहुत नुकसान लोग झेल ले रहे थे, लेकिन रियल स्टेट के बिजनेस इस कदर ठप पड़ा, कि दूसरे उठने की सारी उम्मीदें ही खत्म हो गई थी। इस हालातों से उभरने के लिए चीन में एक रियल स्टेट कंपनी ने खरीदारों को लुभाने के लिए बेहद अनोका तरीका निकाला। जिसमें लोगों को गेंहू और लहसुन के बदले में प्रॉपर्टी की डील कर रहे हैं।

गेहूं और लहसुन के बदले प्रापर्टी इन्वेस्ट करने का ये बहुत ही अनोखा तरीका चीन की एक रियल स्टेट कंपनी ने निकाला है। इस कंपनी ने घर खरीदने के इच्छुक लोगों से डाउन पेमेंट के तौर पर गेहूं और लहसुन को स्वीकार करना शुरू किया है।

इसके लिए रियल एस्टेट कंपनी ने हेनान स्थित सेंट्रल चाइना रियल एस्टेट है। इस कंपनी ने बाकायदा एक विज्ञापन छपवाया है। जिसमें कहा गया है कि घर खरीदने के लिए गेहूं दीजिए। साथ ही विज्ञापन में ये भी कहा गया है कि खरीदार घर खरीदने के लिए डाउन पेमेंट के तौर पर दो युआन प्रति कैटी की दर से गेहूं का उपयोग कर सकते हैं। आपको बता दें, उपरोक्त पंक्ति में आया कैटी शब्द चीन की एक यूनिट है, जो लगभग 500 ग्राम के बराबर होती है।

इस बारे में सेंट्रल चाइना रियल एस्टेट के एक सेल्समैन ने बताया कि क्षेत्र के किसानों को आकर्षित करने के लिए इस तरह का विज्ञापन कंपनी द्वारा शुरू किया गया है। कंपनी का यह प्रमोशन सोमवार को शुरू हुआ और 10 जुलाई तक रहेगा। कंपनी 600,000 से 900,000 युआन तक के घर बेच रही है।

यही कारण है कि डूबे हुए बिजनेस को उठाने के लिए फ्री पार्किंग लॉट और घर खरीद के बाद रेनोवेशन जैसे लुभाने ऑफर देकर निवेशकों का ध्यान खींचा गया है। जिसके चलते इस साल चीन के कई शहरों में भी प्रॉपर्टी खरीद को लेकर तमाम नियमों में छूट दी गई है। जिसका एकमात्र उद्देश्य बेजान पड़ चुके बिजनेस में जान डालना और आर्थिक स्थिति को सुधारना।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story