इमरान की कुर्सी पर खेल जारी, सरकार गिराने की तैयारी में सेना और विपक्षी पार्टी

जमीयत उलेमा ए इस्लाम-फजल के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने एक प्रेस कांफ्रेंस में इमरान को निशाने पर लेते हुए कहा कि यह सरकार फर्जी चुनावों का परिणाम है। हम डी-चौक पर इकट्ठा होंगे, हम वे लोग नहीं हैं जो जिन्हें आसानी से तितर-बितर किया जा सकता है।

Published by Harsh Pandey Published: October 4, 2019 | 10:02 am
Modified: October 4, 2019 | 10:29 am

नई दिल्ली: पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार का तख्तापलट होने की आशंका है। पाकिस्तान में इमरान सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि यहां की मुख्य दक्षिणपंथी पार्टी ‘अक्षम’ सरकार गिराने की तैयारी में है और विपक्ष भी साथ देने को तैयार है। बताते चलें कि Newstrack.com ने पहले ही यह दावा किया था। भूकंप ने हिलाई इमरान की कुर्सी, कभी भी गिर सकती है सरकार

आर्थिक संकट, अक्षम पार्टी का आरोप…

अक्षम पार्टी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि देश में उपजे आर्थिक संकट के लिए सरकार जिम्मेदार है, और इमरान खान को प्रधानमंत्री पद से हटाने के लिए आजादी मार्च निकालने की घोषणा की है।

इसका साथ ही अक्षम पार्टी ने आरोप लगाया है कि खान आर्थिक संकट से गुजर रहे देश को समस्याओं से बाहर निकाल पाने में असफल हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, जमियत अलेमा-ए-इस्लाम-फज्ल (जेयूआई-एफ) के प्रमुख मौलाना फज्लुर रहमान का यह फैसला मुख्य विपक्षी पार्टियों पीएमएल-एन और पीपीपी के फैसले के बाद आया है।

ये दोनों पार्टियां प्रधानमंत्री खान को सत्ता से बाहर करने के लिए किसी ‘एकल संघर्ष’ के खिलाफ हैं और उन्होंने सभी पार्टियों का एक सम्मेलन बुलाकर सहमत होने का निर्णय लिया है। जेयूआईएफ के प्रमुख ने कहा कि सभी विपक्षी पार्टियों ने 25 जुलाई का चुनाव खारिज कर दिया था और ताजा चुनावों की मांग की थी।

फर्जी चुनावों का रिजल्ट है इमरान सरकार….

जमीयत उलेमा ए इस्लाम-फजल के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान ने एक प्रेस कांफ्रेंस में इमरान को निशाने पर लेते हुए कहा कि यह सरकार फर्जी चुनावों का परिणाम है। हम डी-चौक पर इकट्ठा होंगे, हम वे लोग नहीं हैं जो जिन्हें आसानी से तितर-बितर किया जा सकता है।

इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि सभी विपक्षी पार्टियां इस बात पर सहमत हैं कि नए सिरे से चुनाव कराए जाएं ताकि पता चल सके कि किसे वास्तविक जनादेश हासिल है। उन्होंने इस धारणा को खारिज कर दिया कि वह अकेले आगे बढ़ रहे हैं।

इसके साथ ही फजलुर ने कहा कि उनकी पार्टी अन्य सभी पार्टियों के साथ संपर्क में है और उनके साथ सलाह मशविरा करके ही फैसले ले रही है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान में इमरान खान की सरकार का तख्तापलट होने की आशंका है। पाकिस्तान में इमरान सरकार पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं।