Top

अमेरिका का ये लड़ाकू विमानः भारत लाने की तैयारी, वायुसेना की बढ़ेगी ताकत

Ashiki Patel

Ashiki PatelBy Ashiki Patel

Published on 2 Feb 2021 5:15 AM GMT

अमेरिका का ये लड़ाकू विमानः भारत लाने की तैयारी, वायुसेना की बढ़ेगी ताकत
X
अमेरिका का ये लड़ाकू विमानः भारत लाने की तैयारी, वायुसेना की बढ़ेगी ताकत
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: फ्रांस से राफेल और स्‍वदेशी तेजस की खरीद के बाद भारत की नजर नई पीढ़ी के दूसरे अत्‍याधुनिक विमानों की खरीद पर है। इसी सिलसिले में भारत और अमेरिका की सरकारों के बीच जंगी विमान एफ-15ईएक्स (F-15EX) को लेकर चर्चा हुई है। साथ ही इस संबंध में दोनों देशों की वायुसेना के बीच सूचनाओं का आदान-प्रदान किया गया है। अब जानकारी के मुताबिक भारतीय वायुसेना को जल्द अमेरिका का सबसे अत्याधुनिक युद्धक विमान एफ-16ईएक्स मिल सकता है।

ये भी पढ़ें: 4 साल की बच्ची का बड़ा कारनामा, डायनासोर का पदचिह्न ढूंढा, वैज्ञानिक हैरान

एफ-15 विमानों की श्रृंखला का सबसे नया स्वरूप

भारत के साथ बढ़ती दोस्ती का संकेत देते हुए अमेरिकी सरकार ने एफ-15 शृंखला के सबसे नए स्वरूप के विमान भारत को देने की मंजूरी दे दी है। यह एफ-15ईएक्स विमान एफ-15 विमानों की श्रृंखला का ही सबसे नया एवं आधुनिक स्वरूप है जो बहुउद्देश्यीय होने के साथ-साथ हर मौसम और रात तथा दिन में संचालित होने की क्षमता से लैस है।

एयरोस्पेस क्षेत्र की प्रमुख कंपनी बोइंग के एक अधिकारी ने कहा कि भारत को एफ-15ईएक्स विमान देने के हमारे लाइसेंस संबंधी अनुरोध को अमेरिका की सरकार ने स्वीकार कर लिया है। आगे बोइंग ने कहा कि बंगलूरू में अगले हफ्ते से शुरू हो रहे एयरो इंडिया 2021 में एफ-15ईएक्स विमान को प्रदर्शित किया जाएगा।

हाइपरसोनिक मिसाइल से हमले में सक्षम

इसके खासियत की बात करें तो, एफ-15ईएक्स में इसी शृंखला के पुराने विमानों की तुलना में अधिक हथियार ले जाने की क्षमता है। इसके साथ ही यह हाइपरसोनिक मिसाइल यानी ध्वनि से पांच गुना तेज चलने वाली मिसाइल ले जा सकता है।

ये भी पढ़ें: म्यांमार में तख्तापलट, सेना प्रमुख ने कर दिया ये बड़ा ऐलान, दुनिया में मची हलचल

दुश्मन की सीमा में घुसकर निशाना करेगा तबाह

बेहतरीन डिजिटल इंजीनियरिंग और सॉफ्टवेयर से लैस ये विमान दशकों तक आसानी से अपग्रेड किए जा सकेंगे। इतना ही नहीं कांग्रेसनल रिसर्च सर्विस की मानें तो, अपनी शानदार तकनीक की वजह से ये दुश्मन की नजर में आए बिना उसकी सीमा में घुसकर निशाने को तबाह कर सकता है।

Ashiki Patel

Ashiki Patel

Next Story