जिस्मानी रोबोट का बाजार 30 बिलियन डॉलर पहुंचा, जल्द सामने आएंगी हारमोनी डॉल

सेक्स इंसान को आनंद की एक अलग ही दुनिया में ले जाता है तो रोबोट इंसान की जिंदगी को आरामदायक बनाता है। लेकिन जरा सोचिए अगर ये दोनों चीजें इंसान

Published by sujeetkumar Published: May 6, 2017 | 3:16 pm
Modified: May 6, 2017 | 3:37 pm

 

कैलिफोर्निया: सेक्स इंसान को आनंद की एक अलग ही दुनिया में ले जाता है तो रोबोट इंसान की जिंदगी को आरामदायक बनाता है। लेकिन जरा सोचिए अगर ये दोनों चीजें इंसान को एक साथ मिलने लगे तो क्या होगा? विज्ञान आज इतनी तरक्की कर चुका है, कि इंसान ने हर काम के लिए मशीनी विकल्प बना लिए है।

हर काम के लिए वैज्ञानिकों ने रोबोट बना लिए हैं जो मुश्किल से मुश्किल काम भी चुटकियों में कर डालता है। हॉलीवुड फिल्मों में तो ये मशीनी मानव और भी बड़े-बड़े काम करते दिखाई देते हैं। दुनिया में जिस्मानी ताल्लुक बनाने में सक्षम रोबोट का चलन लगातार बढ़ता जा रहा है और यही कारण है कि आज इसका बाजार 30.6 बिलियन डॉलर तक पहुंच गया है। विभिन्न कंपनियां इस बाजार में कूद पड़ी हैं और उनमें सेक्स रोबोट को लेकर जबर्दस्त प्रतिस्पर्धा चल रही है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें पूरी खबर…

रियल डॉल का उन्नत संस्करण
कैलिफोर्निया के सैन मार्कोस में एबिस क्रिएशंस की फैक्ट्री में रियल डॉल का एक उन्नत संस्करण बनाया गया है जिसे हारमोनी नाम दिया गया है। उसे ऐसा रूप दिया गया है कि वह खूबसूरत महिलाओं की तरह ही आकर्षक दिखे। उसके दांत, जबड़े, होंठ, जांघ और वक्ष को ऐसा बनाया गया है कि वह पुरुषों का ध्यान आकर्षित करने में कामयाब हो सके। सेक्स रोबोट बनाने के क्षेत्र में उतरी कंपनियों को उम्मीद है कि इच्छुक लोग ऐसी सेक्स डॉल के लिए 15000 डॉलर तक देने के लिए तैयार हो जाएंगे जो कभी ना नहीं कहती। हारमोनी को ऐसा रूप दिया गया है कि वह बाल से लेकर नीचे तक ज्यादा स्वाभाविक होने का एहसास देगी। उसके फिगर का भी ध्यान रखने की कोशिश की गयी है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें ग्राहकों को लुभाने आने वाली है हारमोनी…

ग्राहकों को लुभाने आने वाली है हारमोनी
वैसे सेक्स डॉल बनाने की यह कोशिश कोई नई नहीं है। सबसे पहले जापान में 1980 के दशक में इसे बनाया गया था मगर उस समय इसे प्लास्टिक से बनाया गया था। बाद में एबिस क्रिएशंस के सीईओ मैट मककुलैन ने ऐसी सेक्स डॉल बनाई जो उच्च स्तर के सिलिकॉन से बनी थी। इसमें गर्मी व लचीलापन ज्यादा था और यह वास्तविक होने का ज्यादा एहसान देती थी। सिलिकॉन डॉल को लचीले कंकाल से बनाया गया और इसे बनाने में 80 घंटे का समय लगा।

कैलिफोर्निया के सैन मार्कोस की यह कंपनी 1996 से ही सेक्स डॉल बना रही है और वह इसकी आपूर्ति दुनिया के लगभग सभी देशों में करती है। इनकी कीमत की शुरुआत 6500 डॉलर से होती है। वैसे अन्यविशेषताओं से युक्त डॉल्स की कीमत की शुरुआत 12000 डॉलर से होती है।

लेकिन ढेरों खूबियों वाली हारमोनी की बिक्री की शुरुआत इस साल के अंत में होगी और इसकी कीमत 15000 डॉलर होगी। इसकी खरीदारी करने वाले ग्राहक के लिए कई तरह की वेरायटी उपलब्ध होगी और उसके सामने सेक्सी, शर्मीली, दिमागी जैसे कई विकल्प होंगे।

मैकमुलैन का कहना है कि उनका मकसद लोगों को खुशी प्रदान करना है। वे कहते हैं कि आज समाज में बहुत से ऐसे लोग हैं जो दूसरों के साथ पारंपरिक संबंध बनाने में कठिनाई का अनुभव करते हैं। हमारा प्रयास है कि हम ऐसे लोगों को कुछ स्तर तक उनका साथी दे सकें, भले ही वह किसी भ्रम के रूप में ही क्यों न हो।

आगे की स्लाइड में पढ़ें रॉक्सी में भी थीं कई खूबियां…

रॉक्सी में भी थीं कई खूबियां
वैसे मैकमुलेन अकेले ऐसे शख्स नहीं हैं जिन्होंने इस दिशा में काम किया है। कई अन्य लोग भी हैं जिन्होंने लोगों के आनंद के लिए सेक्स डॉल्स बनाई है। ट्रू कंपैनियन के संस्थापक डगलस हाइन्स ने सेक्स डॉल रॉक्सी बनाई थी। हाइन्स ने 9/11 के हमले में अपने एक नजदीकी साथी को खोने के बाद यह डॉल बनाई थी।

उन्हें इस सच्चाई का सामना करने में काफी कठिनाई हो रही थी। वे यह सोचकर काफी परेशान थे कि उनके दोस्त के बच्चे अपने पिता को जानने में नाकाम रहेंगे।

हांइस का कहना है कि सेक्स रोबोट के पीछे उनका मकसद इस समय उपलब्ध साधनों से आगे जाकर एक साथी का एहसास देना है। हाइन्स का कहना है कि वे रॉक्सी के 16वें संस्करण पर काम कर रहे हैं लेकिन 2010 से ही उनके इस नए संस्करण की कोई फोटो नहीं जारी की गयी है।

आगे की स्लाइड में पढ़ें यथार्थ के और करीब ले जा रहे राबर्टो…

यथार्थ के और करीब ले जा रहे राबर्टो
लास वेगास में 31 साल के एक और सेक्स डॉल बनाने वाले राबर्टो कार्डेनास सक्रिय हैं। इडेन रोबोटिक्स के मालिक राबर्टो ऐसे रोबोट बना रहे हैं जो वास्तविक महिलाओं जैसे शरीर वाली हैं। वे लोगों को यथार्थ के और करीब ले जा रहे हैं। उनका कहना है कि उन्हें उम्मीद है कि आदमियों की तरह पूरी तरह सक्रिय रोबोट्स बनाने में कामयाब होंगे जो दुकान के सहयोगी, होटल की रिसेप्शनिस्ट और बीमार की देखभाल जैसे काम कर सकेंगे। वैसे अभी तक वे सेक्स रोबोट्स पर ही ज्यादा ध्यान दे रहे हैं क्योंकि उनका मानना है कि इन्हें बनाने में चुनौतियां कम हैं। उनके रोबोट्स की कीमत 8000 से 10000 डॉलर के बीच है और उन्हें उम्मीद है कि ये अगले पांच महीनों में बिक्री के लिए उपलब्ध होंगे।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App