Top

'गलवान में 4 सैनिक ही मारे गए थे', इस सवाल पर चीन ने 3 पत्रकारों को जेल में ठूंसा

चीन की ओर से सैनिकों के मारे जाने के आंकड़े रिलीज किए जाने के बाद शनिवार को तीनों पत्रकारों को अरेस्ट किया गया था। जिसके बाद से दुनिया भर में चीन की खूब फजीहत हो रही है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 22 Feb 2021 1:05 PM GMT

गलवान में 4 सैनिक ही मारे गए थे, इस सवाल पर चीन ने 3 पत्रकारों को जेल में ठूंसा
X
गिरफ्तार किए गए इन तीनों पत्रकारों पर आरोप है कि उन्होंने आंकड़ों पर सवाल उठाकर सेना की शहादत का अपमान किया है। इसलिए उन्हें जेल भेज दिया गया है।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

बीजिंग: चीन के अंदर अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर सरकार के खिलाफ आवाज उठाने या फिर नीतियों की आलोचना करने की आजादी किसी को भी नहीं है।

इस बात से पूरी दुनिया वाकिफ है। इस बार भी एक ऐसा वाकया सामने आया है। जिसने चीन में लोगों पर बढ़ते अत्याचार के मामले को उजागर किया है।

जिसके बाद से दुनिया भर में चीन की खूब फजीहत हो रही है। उसे मुंह छिपाने की भी जगह नहीं मिल रही है। तो आइए जानते हैं आखिर ये पूरा मामला है क्या :-

दरअसल चीन ने बीते साल गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों से हुई झड़प में अपने सिर्फ 4 सैनिकों के ही मरने की बात पिछले दिनों कही थी।

मरे 800 श्रद्धालू: सड़कों पर पड़ी लोगों की लाशें, धर्म की रक्षा के लिए गंवाई अपनी जान

Galvan 'गलवान में 4 सैनिक ही मारे गए थे', इस सवाल पर चीन ने 3 पत्रकारों को जेल में ठूंसा(फोटो:सोशल मीडिया)

पत्रकारों की गिरफ्तारी पर चीन ने कही ये बात

चीन ने इस बात का खुलासा गलवान में हुई झड़प के करीब 8 महीने बाद किया था, लेकिन तमाम अन्य मीडिया रिपोर्ट्स से उलट उसने अपने सैनिकों की मौत के आंकड़ा को छिपाते हुए काफी कम करके बताया था।

जिसके बाद से उसी के देश में कुछ पत्रकारों ने चीनी सैनिकों की मौत के आंकड़े पर सवाल उठाए थे। इससे नाराज होकर सैनिकों की मौत के आंकड़े पर सवाल उठाने वाले अपने ही देश के तीन पत्रकारों को चीन ने अरेस्ट कर लिया।

चीनी अथॉरिटीज ने इस मामले में बयान जारी करते हुए कहा कि पूछताछ के लिए इन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार किए गए लोगों में 38 वर्षीय किउ जिमिंग भी हैं।

भयानक विमान हादसे के बाद बोइंग कंपनी का ऐलान, अब हटेगा 777 विमान

Arrest 'गलवान में 4 सैनिक ही मारे गए थे', इस सवाल पर चीन ने 3 पत्रकारों को जेल में ठूंसा(फोटो:सोशल मीडिया)

सेना की शहादत का अपमान करने का लगा आरोप

वह इकनॉमिक ऑब्जर्वर के साथ काम कर चुके हैं। चीन की ओर से सैनिकों के मारे जाने के आंकड़े रिलीज किए जाने के बाद शनिवार को उन्हें अरेस्ट किया गया। किउ पर आरोप है कि उन्होंने आंकड़ों पर सवाल उठाकर सेना की शहादत का अपमान किया है।

10 फिट ऊंचाई से कचरे के ढेर में गिरी अंगूठी, मात्र 20 मिनट वापस मिली

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story