भारतीय सीमा पर तैनात सैन्य कमान के रैंक में चीन ने किया सुधार

Published by Published: May 14, 2016 | 12:07 pm

बीजिंग: चीन ने भारतीय सीमा की सुरक्षा करने वाली तिब्बत सैन्य कमान को पीएलए के जमीनी बलों में शामिल किया और उसका स्तर ऊंचा कर दिया है। चीन ने कहा है कि यह कमान भविष्य में किसी भी सैन्य युद्ध अभियान को हाथ में ले सकती है।

सैन्य कमान का स्तर किया जाएगा ऊंचा
-एक रिपोर्ट में कहा गया कि चीन ने तिब्बत सैन्य कमान (टीएमसी) का स्तर ऊंचा कर दिया है।
-टीएमसी का राजनीतिक ओहदा उसके समकक्ष राज्यों के सैन्य कमानों से एक स्तर ऊंचा किया जाएगा।

ये भी पढ़ें… चीन में हो रही लगातार बारिश से 66 लोगों की हुई मौत, 11 लापता

-यह पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के नेतृत्व में आ जाएगी।
-यह पदोन्नति टीएमसी कमान के गठन के एक नए सफर को रेखांकित करती है।

पर्यवेक्षक हैं हैरान
-अचानक की गई इस पदोन्नति को कई पर्यवेक्षक हैरानी की नजर से देख रहे हैं।
-पीएलए राज्यों के सैन्य कमानों को केंद्रीय सैन्य आयोग (सीएमसी) के नए नेशनल डिफेंस मोबिलाइजेशन डिपार्टमेंट के नियंत्रण में लेकर आई है।
-सीएमसी दरअसल पीएलए की सबमें ऊंची कमान है।

-इसकी अध्यक्षता सीधे राष्ट्रपति शी चिनफिंग द्वारा की जाती है।
-वह सत्ताधारी कम्यूनिस्ट पार्टी के प्रमुख भी हैं।

ये भी पढ़ें…चीन ने किया मसूद अजहर पर प्रतिबंध का विरोध, भारत ने जताई नाराजगी

वरिष्ठ सैन्य पर्यवेक्षकों ने रिपोर्ट को बताया उलझा
-वहीं, दूसरी ओर टीएमसी चीनी जमीनी बलों के अंतर्गत है।
-वह भविष्य में किसी सैन्य युद्धक अभियान को अपने हाथ में ले सकती है।

-इसकी विस्तृत जानकारी नहीं दी गई कि सैन्य युद्धक अभियान क्या होगा?
-वरिष्ठ सैन्य पर्यवेक्षकों ने इस रिपोर्ट को उलझा हुआ बताया है।