पाकिस्तान से विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी साझेदारी को और मजबूत करेगा चीन

इस्लामाबाद : चीन द्वारा शुरू किए गए बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव के तहत चीन और पाकिस्तान ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत करने पर सहमत हुए हैं। शनिवार को यह समझौता पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन और यहां यात्रा पर आए चीन के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री वान गैंग के बीच हुआ। मंत्री वान यहां विज्ञान एवं तकनीकी सहयोग पर 18 वें पाकिस्तान-चीन संयुक्त समिति के सत्र में हिस्सा लेने आए थे।

वान ने कहा कि चीन और पाकिस्तान सभी सामरिक सहयोग में भागीदार हैं और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंध चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे के तेज निर्माण के साथ सुचारू विकास में लाभ उठा रहे हैं। उन्होंने कहा कि द्विपक्षीय संबंधों में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी में सहयोग एक महत्वपूर्ण विषय है।

चीन की पीपुल्स पार्टी के राजनीतिक सलाहकार सम्मेलन राष्ट्रीय समिति के उपाध्यक्ष वान ने कहा कि दोनों देशों ने संयुक्त रूप से प्रयोगशाला निर्माण और युवा वैज्ञानिकों के आदान प्रदान जैसे कई व्यवहारिक सहयोगों को सफलता पूर्वक किया गया है।

उन्होंने कहा कि चीन पाकिस्तान के साथ बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव और एक नवाचार समुदाय को खड़ा करने में सहायता देने के अंतर्गत पाकिस्तान के साथ वैज्ञानिक एवं प्रौद्योगिकी नवाचार में सहयोग को मजबूत करना का इच्छुक है।

2013 में चीन द्वारा प्रस्तावित बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव जिसे सिल्क रोड इकॉनोमिक बेल्ट और 21 वीं शताब्दी का मैरीटाइम सिल्क रोड कहा जा रहा है। इसका उद्देश्य एशिया के व्यापार और आधारिक संरचना संपर्क को यूरोप और एशिया के अलावा प्राचीन समय के व्यापार मार्ग सिल्क रोड के साथ जोड़ना है।